Memory Alexa Hindi

एकादशी के अचूक उपाय
Ekadashi ke upay


ekadashi-ke-upay


एकादशी ( Ekadashi ) के ब्रत को सभी ब्रतो में सर्वोत्तम माना जाता है । शास्त्रों के अनुसार जो जातक एकादशी के दिन भगवान विष्णु का ब्रत रखता है उनकी विधि विधानपूर्वक पूजा करता है उसे धन सम्पति की कोई भी कमी नहीं होती है उसे जीवन में सभी सुख और ऐश्वर्य प्राप्त होते है । उसे विष्णु लोक में स्थान मिलता है।

धन के सम्बन्ध में हमारे धर्म शास्त्रों में भी लिखा गया है कि -
"मित्राण्यमित्रतां यान्ति यस्य न स्यु: कपर्दका:"।
अर्थात जिस व्यक्ति के पास धन-संपत्ति न हो उसके मित्र भी अमित्र बन जाते हैं , उससे आँखे फेर लेते है ।


एकादशी के दिन किये गए उपायों का बहुत महत्व है। मान्यता है कि इस दिन किये गए उपायों से सारे कष्ट दूर हो जाते है, जातक को भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी दोनों की असीम कृपा प्राप्त होती है।

Kalash Fourth Image माघ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटशिला एकादशी कहते है। षटशिला एकादशी के दिन छ: प्रकार से तिलों का प्रयोग होता है इसलिए इसे षटतिला एकादशी कहा जाता है।

Kalash Fourth Image षटशिला एकादशी के दिन प्रात: तिल का उबटन, तिल के जल से स्नान, जल में तिल मिलाकर सूर्य भगवान को अर्घ्य देना, तिल से हवन, तिल का ब्राह्मण को दान, तिल को भोजन व पानी में मिलाकर ग्रहण करने से भगवान श्री विष्णु प्रसन्न होते है जातक को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है।


Kalash Fourth Image षटशिला एकादशी के दिन पंचामृत में तिल मिलाकर अथवा जल में तिल मिलाकर भगवान को स्नान कराना चाहिए। इस दिन तिल का दान महा फलदाई माना जाता है, मान्यता है की इस एकादशी के दिन मनुष्य जितने तिलों का दान करता है वह उतने सहस्त्र वर्ष स्वर्ग में वास करता है ।

Kalash Fourth Image एकादशी के दिन जल में आँवले का रस डालकर स्नान करने से बहुत पुण्य प्राप्त होता है शास्त्रों के अनुसार जो भी जातक दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस को जल में डालकर स्नान करते हैं, उनके समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं।

Kalash Fourth Imageएकादशी के दिन भगवान श्रीविष्णु का केसर मिश्रित दूध से अभिषेक करने से भगवान अपने भक्त से शीघ्र प्रसन्न हो जाते है जातक को जीवन में कभी भी आर्थिक संकट का सामना नहीं करना पड़ता है ,उसका घर सदैव धन धान्य से भरा रहता है ।

Kalash Fourth Imageएकादशी के दिन भगवान विष्णु का दक्षिणावर्ती शंख में गंगा जल / जल भरकर उस से भी अभिषेक करें । इस उपाय से माँ लक्ष्मी अत्यंत प्रसन्न होती है और जातक पर भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी दोनों की पूर्ण कृपा होती हैं।

Kalash Fourth Image एकादशी के दिन भगवान श्री विष्णु की पूजा में केसर, पीली मिठाई, नारियल, ईख अर्थात गन्ना, आँवला, सिंघाड़ा, लौंग, इलाइची, तुलसी दल ( तुलसी की पत्ती )और पीले फूल अवश्य ही चढ़ाएं ।

Kalash Fourth Imageएकादशी के दिन स्नान करके मंदिर में जाकर अथवा घर पर ही भगवान विष्णु जी के चित्र के सामने गीता का पाठ अवश्य ही करें, इससे पितृ प्रसन्न होते है, पितरो का आशीर्वाद मिलता है, पुण्य का संचय होता है।

Kalash Fourth Imageभगवान विष्णु जी की पूजा बिना तुलसी के पूरी नहीं होती है अत: इस दिन भगवान को तुलसी अवश्य ही अर्पित करें, लेकिन यह ध्यान रखे कि तुलसी को एक दिन पूर्व ही संध्या से पूर्व तोड़ कर रख लें, क्योंकि एकादशी के दिन तुलसी को नहीं तोड़ना चाहिए।

Kalash Fourth Image एकादशी के दिन दान का बहुत ही महत्व है । प्रत्येक एकादशी के दिन पीले रंग के वस्त्र , पीले फल, पीला अनाज, पीला मिष्ठान भगवान विष्णु को अर्पण करें इसके बाद ये सभी वस्तुएं योग्य ब्राह्मण / गरीबों में दान कर दें। इस उपाय से भगवान विष्णु की कृपा बनती है कार्यों में मनवांच्छित सफलता प्राप्त होती है ।

Kalash Fourth Image एकादशी के दिन सात पीली कौड़ियों और सात हल्दी की गाँठो को पीले कपडे में लपेटकर तिजोरी में रखे, इस उपाय को करने से भगवान श्री विष्णु के साथ साथ माँ लक्ष्मी की भी पूर्ण कृपा मिलती है, धन संपत्ति की कोई भी कमी नहीं रहती है।

Kalash Fourth Image एकादशी के दिन प्रात: भगवान श्री विष्णु जी की पूजा में 11 रुपये रखे और पूजा के बाद वह रुपये अपने धन स्थान में रखे इससे घर में सुख-समृद्धि की कोई भी कमी नहीं होती है।


pandit-ji

आचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय जी
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )




Loading...


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।

एकादशी के उपाय

ekadashi-ke-upay