Memory Alexa Hindi

कालसर्प दोष के उपाय (Kaal Sarp Dosh ke upay )


कालसर्प योग ( Kaal Sarp Yog) जन्म कुण्डली में राहु और केतु की विशेष स्थिति से बनने वाले एक ऐसा योग है जो जातक के पूर्व जन्म के किसी अपराध के दंड या शाप के फलस्वरूप उसकी कुंडली में परिलक्षित होता है। कालसर्प दोष (kaal sarp dosh ) से पीड़ित व्यक्ति आर्थिक व शारीरिक रूप से परेशान होने के साथ साथ संतान संबंधी कष्ट भी होते है उसके जीवन में भी बहुत उतार-चढ़ाव देखे जाते है। लेकिन कालसर्प योग ( kaal sarp yog ) हमेशा पीड़ा देने वाला नहीं होता है। वास्तव में कालसर्प योग के असर से कभी व्यक्ति को जीवन में अनेक कष्टों से दो-चार होना पड़ सकता है तो कभी यही योग ऊंचें पद, सम्मान और सफलता का कारण भी बन जाता है। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार कालसर्प योग का शुभ-अशुभ फल राशियों के स्वभाव और तत्व पर पर निर्भर करता है।

आजकल 40-50 प्रतिशत लोगों की कुंडली में यह दोष होता है। देश के प्रथम प्रधानमंत्री जी की कुंडली में भी यह दोष था, चंद्रशेखर जी और सचिन तेंदुलकर की कुंडली भी कालसर्प दोष (Kaal Sarp Dosh) से प्रभावित थी लेकिन फिर भी ये लोग अपने-अपने क्षेत्रों में बहुत सफल रहे।

कालसर्प दोष कुंडली में खराब जरूर माना जाता है किन्तु सही तरह से इसका उपाय करने पर यही कालसर्प दोष सिद्ध योग भी बन सकता है। जानिए काल सर्प दोष (kaal sarp dosh ) के अचूक उपाय

om-logo 40 दिन जौ के दाने पक्षियों को खिलाएं।

om-logo घर की रसोई घर में बैठकर भोजन करें और बुधवार के दिन ताजी मूली का दान करें। इसे काल सर्प दोष ( kaal sarp dosh )दूर होता है |

om-logo अमावस्या के दिन पितरों को शान्त कराने हेतु दान आदि करें तथा कालसर्प योग शान्ति पाठ कराये।

om-logo शयन कक्ष में बेडशीट व पर्दे लाल रंग के प्रयोग में लायें।

om-logo हनुमान चालीसा का 108 बार पाठ करें और मंगलवार के दिन हनुमान पर सिंदूर, चमेली का तेल व बताशा चढ़ाएं।

om-logo शनिवार को पीपल पर शिवलिंग चढ़ाये व शिव मन्त्र का जाप करें । यह काल सर्प दोष का अचूक उपाय है( kaal sarp dosh ka achuk upay ) |

om-logo सवा महीने देवदारु, सरसों तथा लोहवान - इन तीनों को जल में उबालकर उस जल से स्नान करें।

om-logo काल सर्प दोष निवारण यंत्रा घर में स्थापित करके उसकी नित्य प्रति पूजा करें ।

om-logo सोमवार को शिव मंदिर में चांदी के नाग की पूजा करें, पितरों का स्मरण करें तथा श्रध्दापूर्वक बहते पानी में नागदेवता का विसर्जन करें।

om-logo लोहे का नाग नागिन का जोड़ा बनवाकर बहते पानी में बहायें।

om-logo कालसर्प योग में गायत्री मंत्र का जप करना चाहिए|

om-logo अगर शत्रु से भय लगता हो तो चाँदी अथवा ताँबे के सर्प बनाकर उनकी आँखों में सुरमा लगाकर उसे शिवलिंग पर चढ़ा दें, इससे भय दूर होगा व शत्रु भी शांत हो जायेंगे ।

om-logo यदि परिवार में क्लेश होता हो, आपसी प्रेम की कमी हो रही हो तो भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति जिसके सिर पर मोरपंखी मुकुट धारण हो घर में स्थापित करें एवं प्रतिदिन उनका पूजन करते हुए ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय का यथाशक्ति जाप करे।

om-logo किसी शुभ मुहूर्त में मसूर की दाल तीन बार गरीबों को दान करें।

किसी शुभ मुहूर्त में सूखे नारियल को बहते जल में तीन बार प्रवाहित करें तथा किसी शुभ मुहूर्त में शनिवार के दिन बहते पानी में तीन बार कोयला भी प्रवाहित करें

om-logo मंगलवार एवं शनिवार को रामचरितमानस के सुंदरकाण्ड का पाठ श्रध्दापूर्वक करें।

om-logo शनिवार का व्रत करें और राहु,केतु व शनि के साथ हनुमान की आराधना करें। शनिवार को श्री शनिदेव का तैलाभिषेक करें

om-logo प्रथम पूज्य शिव पुत्र श्री गणेश को विघ्रहर्ता कहा जाता है। इसलिए कालसर्प दोष से मुक्ति के लिए गणेश पूजा भी करनी चाहिए।

om-logo एक वर्ष तक गणपति अथर्वशीर्ष का नित्य पाठ करें।


bipin-panday-ji

पं मुक्ति नारायण पाण्डेय
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

Loading...



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।