Memory Alexa Hindi


माह के शुभ अशुभ मुहूर्त


Maah Ke shubh Ashubh Muhurt


दोस्तों ज्योतिष शास्त्र कहता है किसी भी कार्य की आधी सफलता तभी निश्चित हो जाती है जब कोई कार्य शुभ मुहुर्त में किया जाता है। हम सभी यह चाहते है की हम जो भी कोई नया काम शरू करे उसमे हमें पूर्ण सफलता प्राप्त हो। हमें अपने कार्यो में धन,यश और मनवाँछित परिणाम मिले। हम सभी वह उपर्युक्त समय वह उपर्युक्त मुहूर्त जानना चाहते है जिसमें हम जो कोई भी काम करें हमारा धन, मेहनत ओर समय कुछ भी कतई बर्बाद न हों | इसलिए हम में से बहुत से लोग किसी योग्य पंडित, ज्योतिष के पास शुभ मुहूर्त के लिए जाते है तो वो अपना पंचांग देखकर हमें शुभ समय के बारे बता देता है। इस पंचाग में हमारे अति योग्य ऋषि मुनियों, ज्योतिषियों, खगोलशास्त्रियों ने अपने ज्ञान और अनुभव से कुछ खास योग बना रखे है जिससे हमें शुभ-अशुभ मुहूर्तों, समय के बारे में पता चलता है। लेकिन हम हर समय हर कार्य के लिए तो ज्योतिषों के पास जा नहीं सकते है और आज के दौर में हमारा प्रत्येक दिन बहुत महत्वपूर्ण होता जा रहा है अत: हम आपको यहाँ पर पूरे माह, प्रतिदिन के वह शुभ अशुभ समय के बारे में बता रहे है, जिसको जानकर-समझकर, थोड़ी सावधानी बरतकर, आप अपने समस्त कार्यो में बड़ी आसानी से सफलता प्राप्त कर सकते है................

दिसम्बर माह के शुभ कार्य सिद्धि योग


01 दिसम्बर को प्रात: 06/30 से दोपहर 02/28 तक
04 दिसम्बर को प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक
07 दिसम्बर को प्रात: 06/34 से सायं 07/54 तक
10 दिसम्बर को सायं 05/35 से देर रात्रि 06/36 तक
15 दिसम्बर को देर रात्रि 01/30 से देर रात्रि 06/39 तक
22 दिसम्बर को प्रात: 06/43 से सायं 07/11 तक
26 दिसम्बर को प्रात: 06/45 से देर रात्रि 01/47 तक
28 दिसम्बर को प्रात: 06.45 से देर रात्रि 12/38 तक
30 दिसम्बर को रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक


दिसम्बर माह के अमृत सिद्धि योग


04 दिसम्बर को प्रात: 06/32 से देर रात्रि 03/20 तक
07 दिसम्बर को प्रात: 06/34 से रात्रि 07/54 तक
30 दिसम्बर को रात्रि 08/38 से देर रात्रि 06/46 तक


दिसम्बर माह के सर्वदोषनाशक रवि योग


01 दिसम्बर को दोपहर 02.28 से 02 दिसम्बर को दोपहर 10.59 तक।
02 दिसम्बर को दोपहर 12.07 से। 03 दिसम्बर को प्रात: 09.21 तक।
08 दिसम्बर को सायं 06.28 से। 09 दिसम्बर को सायं 05.41 तक।
21 दिसम्बर को सायं 04.18 से। 22 दिसम्बर को सायं 07.11 तक।
23 दिसम्बर को रात्रि 09.43 से। 24 दिसम्बर को रात्रि 11.46 तक।
26 दिसम्बर को देर रात्रि 01.47 से। 27 दिसम्बर को देर रात्रि 01.37 तक।
31 दिसम्बर को सायं 05.54 से।


दिसम्बर माह के त्रिपुष्कर (तीन गुना फल) योग


24 दिसम्बर को देर रात्रि 01/55 से देर रात्रि 06/44 तक
30 दिसम्बर को प्रात: 06/46 से सायं 06/56 तक


दिसम्बर माह के रवि पुष्यामृत योग


07 दिसम्बर को प्रात: 06.34 से रात्रि 07.54 तक


दिसम्बर माह के अशुभ ज्वालामुखी योग


18 दिसम्बर को दिन 12.00 से 19 दिसम्बर को दिन 10.09 तक


दिसम्बर माह के विघ्नकारक भद्रा


02 दिसम्बर को देर रात्रि 12.58 से। 03 दिसम्बर को दोपहर 11.09 तक।
05 दिसम्बर को रात्रि 12.03 से। 06 दिसम्बर को प्रात: 10.19 तक।
08 दिसम्बर को देर रात्रि 02.52 से। 09 दिसम्बर को दोपहर 02.12 तक।
12 दिसम्बर को दोपहर 01.41 से देर रात्रि 02.09 तक।
16 दिसम्बर को प्रात: 07.11 से रात्रि 08.21 तक।
22 दिसम्बर को प्रात: 09.11 से रात्रि 10.23 तक।
25 दिसम्बर को देर रात्रि 02.44 से। 26 दिसम्बर को दोपहर 02.50 तक।
29 दिसम्बर को दोपहर 11.11 से रात्रि 09.55 तक।


दिसम्बर माह के पंचक


23 दिसम्बर को प्रात: 08.30 से। 27 दिसम्बर को देर रात्रि 01.37 तक।


दिसम्बर माह के मूल-संज्ञक नक्षत्र


अश्विनी 01 दिसम्बर को सूर्योदय से दिन 02.28 तक
आश्लेषा मघा 07 दिसम्बर को रात्रि 07.54 से 09 दिसम्बर को सायं 05.41 तक
ज्येष्ठा मूल 16 दिसम्बर को देर रात्रि 04.13 से 19 दिसम्बर को प्रात: 10.09 तक
रेवती अश्विनी 26 दिसम्बर को देर रात्रि 01.47 से 28 दिसम्बर को रात्रि 12.38 तक


Loading...


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।