Memory Alexa Hindi

मधुमेह के घरेलू उपचार
( Madhumeh Ke Gharelu Upchar )





Diabetes Image
बदलता परिवेश और रहन-सहन शहर में मधुमेह ( madhumeh ) के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा कर रहा है। खान-पान पर नियंत्रण न होना भी इसके लिए जिम्मेदार है। डायबिटीज ( diabetes ) के मरीज को सिरदर्द, थकान जैसी समस्याएं हमेशा बनी रहती हैं। मधुमेह में खून में शुगर ( sugar ) की मात्रा बढ जाती है। ऐलोपैथिक में इसका कोई स्थायी इलाज नहीं मिल पाया है परन्तु आयुर्वेद के उपायों, जीवनशैली में बदलाव, शिक्षा तथा खान-पान की आदतों में सुधार द्वारा रोग को पूरी तरह नियंत्रित किया जा सकता है।

यहाँ मधुमेह ( madhumeh ) को नियंत्रण करने के हम कुछ आसन से घरेलू उपाय बता रहे है जानिए मधुमेह से कैसे निजात पाएं, madhumeh se kaise nijat payen, मधुमेह का घरेलू इलाज, madhumeh ka gharelu ilaj, मधुमेह कैसे दूर करें, madhumeh kaise dur kare,

मधुमेह के उपाय
( Madhumeh Ke Upay )


Kalash One Image मधुमेह और दिल के मरीजो के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी प्रयोग :-
अच्छी क्वालिटी के दो मुट्ठी साफ गेंहू को 10 मिनट तक पानी में उबालने के बाद उन्हें ठंडा होने पर किसी कपडे में रख कर उसको लगातार पानी में भिगो कर रखे ताकि वो अंकुरित हो सके। उबालने के बाद 10-15 प्रतिशत गेंहू में ही अंकुरित होने का सामर्थ्य बचा होगा ।
जब 4-5 दिन के बाद गेंहू में लगभग एक इंच तक लंबे अंकुर निकल आये तो उन्हें सिर्फ दो से तीन तक खाली पेट खाएं इससे मधुमेह से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा । इस प्रयोग को ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने बहुत से लोगो पर जांचा और ये अद्भुत उपाय जांच में बिलकुल सही साबित हुआ।

यदि इसे दो और दिन तक अर्थात लगातार 5 दिन तक खाया जाय तो हार्ट अटैक की सम्भावना भी बिलकुल नगण्य हो जाती है ।
इसे खाने के बाद एक घंटे तक कुछ भी ना खाएं ।

Kalash One Image मधुमेह पर नियंत्रण रखने के लिए नित्य प्रात: बिना कुछ भी खाए गिलोय अथवा नीम की दातुन से अपने दाँत साफ करने चाहिए । दातुन करने की प्रकिया में जो भी रस निकले उसे थूकें नहीं वरन नगलते जाएँ । गिलोय एवं नीम का रस मधुमेह में चमत्कार का काम करता है ।
इस छोटे से उपाय को अपनी दिनचर्या बनाने से जीवन में कभी भी मधुमेह पास भी नहीं आएगी और जिन्हे है उनकी पूरी तरह से नियन्त्रण में रहेगी ।

Kalash One Image तुलसी के पत्तों में ऐन्टीआक्सिडन्ट और ज़रूरी तेल होते हैं जो इनसुलिन के लिये सहायक होते है । इसलिए शुगर लेवल को कम करने के लिए दो से तीन तुलसी के पत्ते को प्रतिदिन खाली पेट लें, या एक टेबलस्पून तुलसी के पत्ते का जूस लें। इससे मधुमेह में लाभ ( madhumeh me labh ) मिलता है

Kalash One Image 10 मिग्रा आंवले के जूस को 2 ग्राम हल्दी के पावडर में मिला लीजिए। इस घोल को दिन में दो बार लीजिए। इससे खून में शुगर नियंत्रण ( Sugar Niyantran ) में रहती है।

Kalash One Image काले जामुन डायबिटीज की अचूक औषधि ( Diabetes Ki Achuk Aushadhi ) मानी जाती है। मधुमेह के रोगी ( Madhumeh ki rogi ) को काले नमक के साथ जामुन खाना चाहिए। इससे खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है ।

Kalash One Image लगभग एक महीने के लिए अपने रोज़ के आहार में एक ग्राम दालचीनी का इस्तेमाल करें, इससे ब्लड शुगर लेवल को कम करने के साथ वजन को भी नियंत्रण करने में मदद मिलेगी। यह मधुमेह का अचूक उपचार है । ( madhumeh ka achuk upchar )

Kalash One Image करेले को मधुमेह की औषधि ( madhumeh ki aushadhi ) के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका कड़वा रस शुगर की मात्रा कम करता है।अत: इसका रस रोज पीना चाहिए। उबले करेले के पानी से मधुमेह को शीघ्र स्थाई रूप से समाप्त किया जा सकता है।

Kalash One Image मधुमेह के उपचार के लिए मैथीदाने का बहुत महत्व है, इससे पुराना मधुमेह भी ठीक हो जाता है। मैथीदानों का चूर्ण नित्य प्रातः खाली पेट दो टी-स्पून पानी के साथ लेना चाहिए ।

Kalash One Image काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में 5-6 भिंडियाँ काटकर रात को गला दीजिए, सुबह इस पानी को छानकर पी लीजिए। इससे मधुमेह दूर होती है

Kalash One Image मधुमेह मरीजो को नियमित रूप से दो चम्मच नीम और चार चम्मच केले के पत्ते के रस को मिलाकर पीना चाहिए।

Kalash One Image ग्रीन टी भी मधुमेह मे बहुत फायदेमंद मानी । जाती है ग्रीन टी में पॉलीफिनोल्स होते हैं जो एक मज़बूत एंटी-ऑक्सीडेंट और हाइपो-ग्लाइसेमिक तत्व हैं, शरीर इन्सुलिन का सही तरह से इस्तेमाल कर पाता है।

Kalash One Image सहजन के पत्तों में दूध की तुलना में चार गुना कैलशियम और दुगना प्रोटीन पाया जाता है। मधुमेह में इन पत्तों के सेवन से भोजन के पाचन और रक्तचाप को कम करने में मदद मिलती है। इसके नियमित सेवन से भी लाभ प्राप्त होता है ।

                                         

Loading...


इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।
यहाँ पर आप अपनी समस्याऐं, अपने सुझाव , उपाय भी अवश्य लिखें |
नाम:     

ई-मेल:   

उपाय:    


  • All Post
  •  
  • Admin Reply
1.
Diabitige9
umakantlalandas  

2.
मधुमेह में एक आसान सी घरेलु औषधि बना कर उसका उपयोग करे
इस औषधि के निर्माण के लिए आवश्यक है -

1 – गेंहू का आटा 100 ग्राम
2 – वृक्ष से निकली गोंद 100 ग्राम
3 – जौ 100 ग्राम
4 – कलुन्जी 100 ग्राम

उपरोक्त सभी सामग्रियों को लगभग 1.25 लीटर पानी में 10 मिनिट तक उबालें ।
फिर इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर इस मिश्रिण को छानकर इस पानी को किसी काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में सुरक्षित रख दें ।
अब सात दिन प्रतिदिन सुबह खाली पेट तक एक छोटा कप पानी पियें। फिर इसका सात सात दिन तक लगातार सेवन करते रहे । मात्र एक माह में ही आश्चर्यजनक रूप से मधुमेह नियंत्रित हो जाता है। इसके बाद अगले माह इसका एक दिन छोड़कर सेवन करें।
admin memorymuseum.net  

3.
Gehu gram par ankur nhi nekal rha ha
ramesh   

4.
मधुमेह के रोगियों को नित्य लहसुन, अदरक हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । लहसुन और हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है। इस चटनी के नित्य सेवन से मधुमेह में बहुत आराम मिलता है।
admin memorymuseum.net  

5.
मधुमेह के करणा खाना नहीं खा पाता हूँ बहुत दिन से परेशान हूँ
Subhash yadav  

6.
मधुमेह के करणा खाना नहीं खा पाता हूँ बहुत दिन से परेशान हूँ
Subhash yadav  

7.
Pl.advice me exaima treatment
praja pati pandey  

8.
कैसी भी पुरानी शुगर हो, इन्सुलिन लग रही हो तब भी यह उपाय करे , इससे शीघ्र ही शुगर नियंत्रित होने लगती है।
आम की ताजी पत्तियों को तोड़ कर उसे धुप में अच्छी तरह से सूखा कर इनको पीसकर इसका पाउडर बना लें। फिर रोज़ सुबह खाली पेट एक चम्मच इस पाउडर का गुनगुने सेवन पानी के साथ करें। इस उपाय से मधुमेह बहुत ही जल्दी कंट्रोल में आ जाता है।
अथवा
यदि किसी कारण पाउडर का सेवन नहीं कर पाएं तो आम की ताजा पत्तियों को रात में एक गिलास पानी में भिगोकर रख दे। फिर सुबह उठकर इसको उबाल कर इसको छानकर खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से भी अति शीघ्र शुगर नियंत्रण में हो जाता है।
इन दोनों उपाय में से किसी भी एक उपाय को करने से बहुत ही जल्द शुगर से छुटकारा मिल सकता है।
नोट :- इस उपाय को करते समय दवा बंद ना करे, दवा भी अवश्य ही लेते रहे। एक माह बाद अपने मधुमेह की जाँच करवा कर खुद ही परिणाम देखें ।
admin memorymuseum.net  

9.
4 time insulin ke bad bhi sugar 250. 300 he
sanjay kumar  

10.
Samasya sugar lable high rahta hai
sunil tanwar  

11.
Upay bataye
Manoj Kumar Patel   

12.
नित्य प्रात: दो चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से मधुमेह में आशातीत लाभ मिलता है,
शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है|
admin memorymuseum.net  

13.
mere dost ko sugar hai bahut dino se kam nahi ho rahi hai 250 ke pass hi hai koi upay batao
dhanywad aap ka
MAHESH VARATHE   

14.
Bar bar peshab ana
dileep Kumar  

15.
Lagbhag ek saal se sugar his krapya upchar batayen
Keshav mohan  

16.
krele ka ras
Anamika  

17.
mujhy sugar hai iska ilag batai
vijay kumar   

18.
धन सबकी किस्मत में है। सबके लिये विष्णु-लक्ष्मी जी, संपत्ति से भरी तिजोरी भेजते हैं। बस उस तिजोरी की चाबी उनके पास होती है। धनी बनने के लिए इसी तिजोरी की चाबी को खोजना है। चाबी कैसे मिलेगी यह बड़ा सवाल है। तो इसके लिए करने होंगे लक्ष्मी जी के उपाय। वैसे भी महालक्ष्मी व्रत 29 August से शुरू होंगे। लक्ष्मी जी आपके घर में, उत्तर दिशा से आयेंगी। तो धन संपत्ति पाने के लिये, लक्ष्मी जी को उत्तर दिशा से पुकारें। 15 दिन लक्ष्मी की आराधना से जन्म-जन्म की कंगाली दूर होगी।

If you want to do MAHALAXMI VRAT then email me. Mahalaxmi vrat 16 days every year fast for 16 years fast will be observed and you will get everything which you really deserved then no need to depend on any other Vrat or Upvas, just contact me for full Mahalaxmi Vrat details in brief. Mahalaxmi Vrat will start from August 29, 2017 Tuesday to September 12, 2017 Tuesday till midnight (total 15 days). my email is [email protected]
Amit Shah  

19.
If you want to do MAHALAXMI VRAT then email me. Mahalaxmi vrat 16 days every year fast for 16 years fast will be observed and you will get everything which you really deserved then no need to depend on any other Vrat or Upvas, just contact me for full Mahalaxmi Vrat details in brief. my email is [email protected]
Amit Shah  

20.
sugar
fast. 204
p p 412
Hariom varshney  

21.
सब कुछ प्रयास करने पर सूगर कम नहीं होती है
Sharwanpaswan   

22.
Sugar ka upay
Ramgopal  

23.
sugar ke upai plz batao
deepak  

24.
giloy ke niymit seven se madhumeh niyantrit rahta hai!
nanu ram damor   

25.
SUGAR KE UPAYE
Mayur  

26.
Sugar
suresh  

27.
SHUGAR NASAK AUR TANDRUSTI.
JADI-BOOTI SE BANA ANUDA SHUGAR NASAK MAHAYOG.
TEJI SE SUGAR NIYANTRIT KARTA HE.ISE APNAYE AUR PARHEJ BHUL JAYE.
NIRAS JINDAGI KO KHUS HAAL BANAYE.
PLS CALL 9522221222
YUNUS FAZLANI   

28.
diebetes
ravi  

29.
Sugur ka gharelu upay bataye
Rohit   

30.
Ji hamari mom ko sugar hai jo kam nahi hoti hai sugar 300 se 550 tak ho jati hai
Mamta  





1.
मधुमेह में नित्य सुबह शाम 4-5 लहसुन की कली , 1/2 चम्मच हल्दी और थोड़ी सौंठ डाल कर पाव भर दूध को अच्छी तरह से गर्म करें फिर इसमें 2 बूँद शिलाजीत की डाल दे । यह दूध मधुमेह में रामबाण है । इस दूध का गर्मा गर्म सेवन करने से मधुमेह नियंत्रित रहती है शरीर में किसी भी तरह की थकावट कमजोरी भी नहीं आती है और ह्रदय एवं रक्तचाप भी सामान्य रहता है ।
admin memorymuseum.net  

2.
मधुमेह में फ्रिज का पानी बिलकुल भी नहीं पिए ।
मधुमेह के शिकार होने पर रात में एक छोटे मिटटी के घड़े में 10 -12 गिलास पानी भरकर उसमें एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल दें ,
रात में जब भी नीद खुले और पानी पीना हो तो उसी पानी को मिटटी के गिलास में पियें। फिर सुबह उठकर उस पानी के तीन चार गिलास आराम से पालथी मार कर पियें। बचा हुआ पानी दूसरे दिन भी रात में और अगले दिन सुबह के समय पियें ।
तीसरे दिन घड़े का पानी बदल कर उसमें फिर से एक चम्मच मेथी और एक चम्मच अजवाइन डाल कर उस जल का सेवन करें। ऐसा नियमित रूप से करने पर शीघ्र ही महुमेह नियंत्रित हो जाता है और लगातार नियंत्रित रहता है ।
यह बहुत ही आसान और अचूक उपाय है, अगर आप महुमेह को परास्त करना चाहते है तो इसे अवश्य ही करें ।
admin memorymuseum.net  

3.
एक अमरीकी शोध के अनुसार मधुमेह के रोगी के आहार में ‘फाइबर ’( मोटे रेशेदार पदार्थ ) की मात्रा अधिक होनी चाहिए ।
हर व्यक्ति को कम से कम रोजाना 40 ग्राम फाइबर जरूर अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। समान्यता भोजन में 15 से 20 ग्राम फाइबर शामिल रहता है। इसे यदि 20 ग्राम और बढ़ा दें तो मधुमेह और दिल की बीमारी से बचा जा सकता है । फाइवर भोजन के बाद रक्त में शर्करा के स्तर को बढ़ने नहीं देते । ये कब्ज को दूर करते हैं, रक्त में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करते हैं और इसके सेवन से वजन भी नियंत्रित रहता है ।
चोकर , हरी पत्तो वाली सब्जियाँ और मेथी से फाइबर की पूर्ति की जा सकती है ।
admin memorymuseum.net  

4.
मधुमेह पर नियंत्रण रखने के लिए नित्य प्रात: बिना कुछ भी खाए गिलोय अथवा नीम की दातुन से अपने दाँत साफ करने चाहिए । दातुन करने की प्रकिया में जो भी रस निकले उसे थूकें नहीं वरन नगलते जाएँ । गिलोय एवं नीम का रस मधुमेह में चमत्कार का काम करता है ।
इस छोटे से उपाय को अपनी दिनचर्या बनाने से जीवन में कभी भी मधुमेह पास भी नहीं आएगी और जिन्हे है उनकी पूरी तरह से नियन्त्रण में रहेगी ।
admin memorymuseum.net  

5.
नित्य दोपहर और रात के खाने से 15-20 मिनट पहले एक चौथाई चम्मच दालचीनी के चूर्ण को गुनगुने पानी में मिलाकर उसका सेवन करें । इससे शीघ्र ही मधुमेह नियंत्रित हो जाता है , शरीर को ताकत मिलती है । इसके नियमित रूप से सेवन करने से इन्सुलिन भी बंद हो जाती है ।
admin memorymuseum.net  

6.
एक अध्ययन के अनुसार 9 करोड़ डायबिटीज अर्थात मधुमेह के मरीजों की आबादी के साथ भारत विश्व के तीन सबसे ज्यादा मधुमेह पीड़ित देशों में से है । मधुमेह में तिल का तेल बहुत ही लाभदायक साबित होता है। तिल के तेल में विटामिन ई और अन्य एंटीऑक्सिडेंट्स , जैसे कि लिगनैंस, प्रचुर मात्रा में होते हैं. जो टाइप 2 डायबिटीज में फायदा करते हैं।
तिल का तेल डायबिटीज की रोकथाम करने में भी मदद करता है इसके नियमित रूप से सेवन करने से रक्त में ग्लूकोज का स्तर, और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है। तिल के तेल के सेवन से मधुमेह के कारण होने वाली अन्य बीमारियाँ भी दूर रहती है ।
admin memorymuseum.net  

7.
मधुमेह में 100 ग्राम मेथीदाना, 100 ग्राम तेजपत्ता, 150 ग्राम जामुन के बीज और 250 ग्राम बेल के पत्तो को धूप में सुखाकर सिलबट्टे पर पीस लें ।
फिर नित्य सुबह नाश्ते से एक घंटे पहले एक चम्मच चूर्ण को गरम पानी के साथ लें और रात को भी खाने से एक घंटे से पहले एक चम्मच चूर्ण को गरम पानी के साथ लें ।
इसका लगातार 2 माह तक सेवन करने से मधुमेह समाप्त हो जाती है ।
admin memorymuseum.net  

8.
मधुमेह के रोगियों को नित्य हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है।
admin memorymuseum.net  

9.
मधुमेह के रोगियों को नित्य हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है।
admin memorymuseum.net  

10.
मधुमेह और दिल के मरीजो के रोगियों के लिए बहुत लाभकारी प्रयोग :-
अच्छी क्वालिटी के दो मुट्ठी साफ गेंहू को 10 मिनट तक पानी में उबालने के बाद उन्हें ठंडा होने पर किसी कपडे में रख कर उसको लगातार पानी में भिगो कर रखे ताकि वो अंकुरित हो सके। उबालने के बाद 10-15 प्रतिशत गेंहू में ही अंकुरित होने का सामर्थ्य बचा होगा ।
जब 4-5 दिन के बाद गेंहू में लगभग एक इंच तक लंबे अंकुर निकल आये तो उन्हें सिर्फ दो से तीन तक खाली पेट खाएं इससे मधुमेह से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जायेगा । इस प्रयोग को ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने बहुत से लोगो पर जांचा और ये अद्भुत उपाय जांच में बिलकुल सही साबित हुआ।
यदि इसे दो और दिन तक अर्थात लगातार 5 दिन तक खाया जाय तो हार्ट अटैक की सम्भावना भी बिलकुल नगण्य हो जाती है ।
इसे खाने के बाद एक घंटे तक कुछ भी ना खाएं ।
admin memorymuseum.net  

11.
नित्य प्रात: दो चम्मच अदरक के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से मधुमेह में आशातीत लाभ मिलता है,
शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है|
admin memorymuseum.net  

12.
कैसी भी पुरानी शुगर हो, इन्सुलिन लग रही हो तब भी यह उपाय करे , इससे शीघ्र ही शुगर नियंत्रित होने लगती है।
आम की ताजी पत्तियों को तोड़ कर उसे धुप में अच्छी तरह से सूखा कर इनको पीसकर इसका पाउडर बना लें। फिर रोज़ सुबह खाली पेट एक चम्मच इस पाउडर का गुनगुने सेवन पानी के साथ करें। इस उपाय से मधुमेह बहुत ही जल्दी कंट्रोल में आ जाता है।
अथवा
यदि किसी कारण पाउडर का सेवन नहीं कर पाएं तो आम की ताजा पत्तियों को रात में एक गिलास पानी में भिगोकर रख दे। फिर सुबह उठकर इसको उबाल कर इसको छानकर खाली पेट इसका सेवन करें। ऐसा करने से भी अति शीघ्र शुगर नियंत्रण में हो जाता है।
इन दोनों उपाय में से किसी भी एक उपाय को करने से बहुत ही जल्द शुगर से छुटकारा मिल सकता है।
नोट :- इस उपाय को करते समय दवा बंद ना करे, दवा भी अवश्य ही लेते रहे। एक माह बाद अपने मधुमेह की जाँच करवा कर खुद ही परिणाम देखें ।
admin memorymuseum.net  

13.
मधुमेह के रोगियों को नित्य लहसुन, अदरक हरे धनिया की चटनी अवश्य ही खानी चाहिए । लहसुन और हरा धनिया मधुमेह में बहुत लाभदायक है ।
यह शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाता है और खून में गुलूकोज़ की मात्रा को भी कम करता है। इस चटनी के नित्य सेवन से मधुमेह में बहुत आराम मिलता है।
admin memorymuseum.net  

14.
मधुमेह में एक आसान सी घरेलु औषधि बना कर उसका उपयोग करे
इस औषधि के निर्माण के लिए आवश्यक है -

1 – गेंहू का आटा 100 ग्राम
2 – वृक्ष से निकली गोंद 100 ग्राम
3 – जौ 100 ग्राम
4 – कलुन्जी 100 ग्राम

उपरोक्त सभी सामग्रियों को लगभग 1.25 लीटर पानी में 10 मिनिट तक उबालें ।
फिर इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने पर इस मिश्रिण को छानकर इस पानी को किसी काँच या चीनी मिट्टी के बर्तन में सुरक्षित रख दें ।
अब सात दिन प्रतिदिन सुबह खाली पेट तक एक छोटा कप पानी पियें। फिर इसका सात सात दिन तक लगातार सेवन करते रहे । मात्र एक माह में ही आश्चर्यजनक रूप से मधुमेह नियंत्रित हो जाता है। इसके बाद अगले माह इसका एक दिन छोड़कर सेवन करें।
admin memorymuseum.net  


दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।