Memory Alexa Hindi

सर्दी को दूर करने के उपाय
Sardi ko dur karne ke upay


sardi ko dur karne ke upay

सर्दी को कैसे दूर भगाएं
Sardiyo Ko Kaise dur bhayen



सर्दियों के मौसम Sardiyon ke mausam में शरीर में बच्चे, बूढ़े, जवान सभी में आलस्य छाने लगता है । सर्दियों Sardiyon में ज्यादा ठण्ड में बाहर घूमना खतरनाक हो सकता है,
सर्दियों का मौसम Sardiyo ka mausam अपने साथ बहुत ही बीमारियां लेकर आता है। इस मौसम में खांसी और बुखार की समस्या लेकर तो आता ही है, मधुमेह के मरीजों में इस मौसम में हार्ट अटैक और ब्रेन हैमरेज का खतरा भी बहुत बड़ जाता है। सर्दियों के मौसम में नर्वस सिस्‍टम में भी गड़बड़ी आ जाती है, इससे लकवे का खतरा भी बढ़ जाता है। अधिक ठंड होने पर शरीर की रक्‍त वाहिकायें सिकुड़ जाती हैं जिससे शरीर में रक्‍त का संचार भी ठीक से नहीं हो पाता है, इससे उच्च रक्तचाप भी गड़बड़ होने लगता है, शरीर में मांस पेशियों में जकड़न भी बड़ने लगती है। सर्दियों के मौसम में जोड़ो के दर्द की समस्या भी बढ़ने लगती है।

सर्दियों में सर्दी को दूर करने Sardiyo ko dur karne अपने शरीर को गरम रखने के लिए, सर्दियों Sardiyo में अपने को फिट रखने के लिए, सर्दी को दूर भगाने के लिए करें ये उपाय

जानिए सर्दी को दूर करने के उपाय, Sardi ko dur karne ke upay,सर्दी को कैसे दूर भगाएं, Sardiyo Ko Kaise dur bhayen

hand logo सर्दी से बचने का एक आसान और बहुत सरल उपाय है। अजवाइन की तासीर गर्म मानी जाती है यह पेट के लिए, शरीर के जोड़ो के लिए बहुत रामबाण है। सर्दी में घर से बाहर जाते समय 2 चुटकी अजवायन मुहं में रखकर निकलिए, इससे सर्दी से बचे रहेंगे।

hand logo सप्ताह में एक बार बड़ी इलाइची को तवे में भूनकर पीस कर चबा कर खाने अथवा पानी के साथ फंकी मारने से साँस की बीमारी नहीं होने पाती है। दमा नहीं होता है, फेफड़े स्वस्थ रहते है ,सर्दी नहीं लगती है, सर्दी में भी शरीर सक्रीय रहता है। यह उपाय 40 वर्ष के बाद सर्दियों में नियमित रूप से सप्ताह में एक बार अवश्य ही लेना चाहिए।

hand logo अगर घर में ही है और बहुत सर्दी महसूस हो रही हो तो आधी चम्मच अजवाइन में उसका चौथाई भाग काला नमक या सेंधा नमक मिलाकर उसे लगभग 1 मिनट तक मुहँ में रखे, चबाएं, फिर उसके बाद उसके ऊपर हल्का गर्म पानी पी लें। इससे तुरंत शरीर में गर्मी आती है, ठण्ड दूर होती है।

hand logo सर्दियों Sardiyon से बचने के लिए पूरे जाड़े भर नित्य रात को सोते समय गाय के घी या सरसो के तेल को गुनगुना करके उसकी दो तीन बूंदे नाक में डालें। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, सर्दी जुकाम से बचाव होता है।

hand logo एक चम्मच घी को गरम करके उसमें पिसी काली मिर्च मिला लें। फिर इसे गर्म गर्म ही रोटी के साथ खाएं, इससे सर्दी नहीं लगती है, अगर सर्दी, खाँसी, जुकाम हो गया हो तो उसमें राहत मिलती है, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

hand logo सर्दी के मौसम Sardi ke mausam में नित्य दिन में कम से कम एक बार पानी में गुड़ और काली मिर्च डाल कर उबाल ले फिर उसे गर्म गर्म चाय की तरह पिए । इससे शरीर में गर्मी आती है, और अगर किसी को जुकाम हो भी गया हो, तो इसे दिन में 2-3 बार दो दिनों तक पीने से जुकाम दूर होता है और पलट कर दोबारा भी नहीं आता है।

hand logo सर्दियों में लहसुन का सेवन अवश्य ही करें। लहसुन में एलिसिन नामक एक रसायण होता है जो एंडी बैक्टेरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल होता है यह रसायन शरीर के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। लहसुन किसी भी तरह के संक्रमण को शरीर से बहुत तेजी से दूर करता है।
सर्दियों में नित्य दो तीन लहसुन की कलियों को कच्चा चबा कर खाएं फिर गुनगुना पानी पी लें अथवा सर्दियों में नित्य लहसुन की पांच कलियों को घी में भुनकर खाए। इससे सर्दी जुकाम से बचाव होता है, और अगर जुकाम हो गया हो तो ऐसा एक दो बार करने से ही जुकाम में आराम मिल जाता है।

hand logo सर्दियों में व्यायाम करना अति आवश्यक है लेकिन आलस के कारण लोग इस मौसम में बिलकुल भी व्‍यायाम नहीं करते हैं। सर्दियों के मौसम में हमें गर्म, तला, भुना, और चटपटा खाने की अधिक इच्छा होती है, खुद पर नियंत्रण नहीं रख पाता हैं, जिसके फलस्वरूप सर्दियों में शरीर का वजन तेजी से बढ़ने लगता है। इसलिए सर्दियों में शरीर को फिट रखने, वजन पर भी नियंत्रण के लिए नियमित व्‍यायाम बहुत जरूरी है। सर्दियों में व्यायाम करने से शरीर में गरमी का स्तर भी बढ़ जाता है।

hand logo लेकिन चूँकि इस मौसम में शरीर की रक्‍त वाहिकायें सिकुड़ जाती हैं जिससे शरीर में रक्‍त संचार ठीक से नहीं हो पाता है इसलिए सर्दियों के मौसम में व्यायाम करने से पहले वार्मअप अवश्य ही करें। बिना वार्मअप के व्‍यायाम करने पर शरीर की मांसपेशियों में खिंचाव हो सकता है, इससे शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द भी हो सकता है।
इसलिए सर्दियों के मौसम में व्‍यायाम करने से पहले अच्‍छी तरह से वार्मअप करना बहुत जरूरी है। बड़े बुजुर्गो को दिन के समय धूप में अवश्य ही टहलना चाहिए इससे शरीर फिट रहता है, शरीर प्राकृतिक तरीके से गर्म भी रहता है।


Loading...



दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं .....धन्यवाद ।