Friday, November 27, 2020
Home Hindi घरेलु उपचार दाँत दर्द के उपाय, dant dard ke upay,

दाँत दर्द के उपाय, dant dard ke upay,

दाँत दर्द के उपचार, Dant Dard ke Upchar,

दाँत दर्द Dant Dard में हमें बड़ी कठनाई का सामना करना पड़ता है । कई बार कुछ गलत खाने से तो कई बार दांतों की ठीक से सफाई न करने या कीड़े लगने के कारण दांतों में दर्द होने लगता है. दांतों में दर्द Danto me dard का कारण कोई भी हो, लेकिन इसकी पीड़ा हमारे लिए बेहद कष्टकारी बन जाती है। यहाँ पर हम आपको बहुत ही आसान दाँत दर्द के उपाय, Dant dard ke upay, बता रहे है.

दाँत दर्द के उपाय, dant dard ke upay,

 खूब ठंडे पदार्थों के सेवन के तुरंत बाद गर्म पानी या गर्म पदार्थ का सेवन किया जाय अथवा खूब गर्म पदार्थों के सेवन के तुरंत बाद ठण्डा पानी या ठन्डे पदार्थ का सेवन किया जाय तो दाँत जल्दी गिरते हैं अत: इसका विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए ।

  •  दाँतों पर हलके हलके ब्रश करना चाहिए , ब्रश को कभी भी दाँतो पर कस कर नहीं रगड़ना चाहिए । अगर आप ऊँगली से मन्जन करते हो तो तो कभी भी तर्जनी उँगली (अँगूठे के पास वाली पहली उँगली) से मंजन न करें, वरन् मध्यमा (सबसे बड़ी) उँगली से ही मंजन करें। क्योंकि तर्जनी उँगली में एक प्रकार का विद्युत प्रवाह होता है, जिसके दाँतों में प्रविष्ट होने पर दाँत शीघ्र ही कमजोर हो जाते है ।
  •  पिसी हल्दी, नमक व सरसो का तेल मिलाकर पेस्ट सा बना कर उसे डिब्वे में रख ले सुबह इस पेस्ट को ब्रुश अथवा उगली के द्वारा दाँतों व मसूड़ों पर लगा लें थोड़ी देर लगा कर रखे फिर बाद में कुल्ला कर लें इस प्रयोग से हिलते हुए दाँत जम जाते हैं दाँतो से पीलापन दुर होकर दाँत विल्कुल सफेद हो जाते हैं।इस प्रयोग करते रहने से कभी भी पायरिया नही होगा।
  •  नींबू के छिलकों पर थोड़ा-सा सरसों का तेल डालकर दाँत एवं मसूढ़ों पर लगाने से दाँत सफेद एवं चमकदार होते हैं, मसूढ़े मजबूत होते हैं, हर प्रकार के जीवाणुओं तथा पायरिया आदि रोगों से बचाव होता है।
  •  जामफल के पत्तों को अच्छी तरह चबाकर उसका रस मुँह में फैलाकर, थोड़ी देर तक रखकर थूक देने से अथवा जामफल की छाल को पानी में उबालकर उसके कुल्ले करने से हर तरह के दाँत के दर्द में लाभ होता है।
  •  हींग दांत में दर्द Dant ke dard से तुरंत मुक्ति दिलाता है । हींग को मौसमी के रस में डुबोकर दांतों में दर्द की जगह पर रखें, मौसमी न होने पर हींग में नींबू भी मिलाया जा सकता है। इससे शीघ्र ही आपको दर्द से छुटकारा मिल जायेगा।
  • तिल के तेल में पीसा हुआ नमक मिलाकर उँगली से दाँतों को रोज घिसने से दाँत की पीड़ा दूर होती है ।
  •  दांतों के दर्द Danto ke dard में लौंग दांतों के सभी बैक्टीरिया को नष्ट कर सकता हैं। ऐसे में लौंग को दांतों के दर्द की जगह पर रखना चाहिए, कुछ ही देर में आपका दर्द जाता रहेगा। लेकिन चूँकि इसमें दर्द कम होने की प्रक्रिया थोड़ी धीमी होती है इसलिए इसमें धैर्य रखना चाहिए ।
  •  जामुन के वृक्ष की छाल के काढ़े के कुल्ले करने से दाँतों के मसूढ़ों की सूजन मिटती है व हिलते दाँत भी मजबूत होते हैं।

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

बालों का गिरना कैसे रोके | गिरते बालो की दवा

गिरते बालो की दवाgirte balo ki davaहर व्यक्ति चाहता है कि उसके बाल लंबे और घने हो...

गगुरुद्वारा | गगुरुद्वारा ननकाना साहिब

गगुरुद्वारा ननकाना साहिबGurudwara Nankana Sahibननकाना साहब पाकिस्तान के पंँजाब प्रान्त के शेखपुरा जिले में स्थित है। पहले...

थाइराइड क्या होता है | थाइराइड रोग की पहचान

क्या है थाइराइडKya hai thyroidवर्तमान समय में अति व्यस्त, तनावपूर्ण जीवनशैली और दूषित एवं अनियमित खान पान...

रेस्टोरेंट का वास्तु

जलपान गृह का वास्तुJalpan grah ka vastuवर्तमान समय में घर से बाहर खाने का बहुत चलन हो...
Translate »