Thursday, September 17, 2020
Home Hindi गंभीर रोग लिवर के घरेलु उपचार

लिवर के घरेलु उपचार

hand-logo लिवर के इलाज ( liver ke elaj ) में हल्दी बहुत ही उपयोगी साबित होती है। हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते है और या एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करती है। प्रात: अथवा रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से लिवर ठीक रहता है ।

hand-logo नित्य सेब के सिरके का सेवन करने से लिवर शीघ्र ठीक हो जाता है । सेब का सिरका, लीवर में मौजूद विषैले पदार्थों को बाहर निकालता है। खाना खाने से पहले सेब के सिरके को पीने से शरीर की चर्बी कम होती है। एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार लें।

hand-logo यकृत / जिगर / लिवर के संकोचन / लिवर सिरोसिस में नित्य दिन में दो बार 100 -100 ग्राम प्याज खाते रहने से लाभ होता है।

hand-logo जिगर के रोगो में छाछ में हींग, जीरा, काली मिर्च और नमक का तड़का देकर दोपहर के भोजन के बाद सेवन करने से अत्यंत लाभ मिलता है।

क्लिक करें:- कैसी भी बवासीर की परेशानी से निजात पाने के लिए इस साइट पर दिए गए उपचारों को अवश्य ही जानिए ।

hand-logo पानी के साथ सूखे आंवलों का चूर्ण अथवा आंवले का रस 25 ग्राम दिन में तीन बार सेवन करने से लगभग बीस दिन में ही जिगर / यकृत के सारे दोष दूर हो जाते है।

hand-logo सौ ग्राम पानी में आधा निम्बू निचोड़कर उसमें सेंधा अथवा काला नमक डालकर इसे दिन में तीन बार पीने से जिगर की सभी खराबी ठीक होती हैं।

hand-logo गर्मियों में 250 ग्राम प्रतिदिन खाली पेट बढ़िया और पके जामुन खाने से जिगर की खराबी दूर हो जाती है।

hand-logo आंवला विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है इसका सेवन लीवर की कार्यशीलता को बनाये रखता है। लीवर को सही रखने के लिए नित्य सुबह शाम आँवले का रस , उसका पाउडर अथवा कच्चे आंवले का सेवन करना चाहिए।

hand-logo पपीता लीवर सिरोसिस में रामबाण का काम करता है । लिवर सिरोसिस में नित्य दो चम्मच पपीता के रस में आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर कम से कम एक माह तक इसका दिन में 3 बार सेवन करें ।

जरूर पढ़े :- व्यापार में सफलता के लिए सही शुरुआत का होना आवश्यक है, अपने व्यापार को शुरू करने के सही समय/मुहूर्त को जानने के लिए क्लिक करें

hand-logo लीवर की बीमारियों में मुलेठी का इस्‍तेमाल बहुत ही लाभप्रद माना जाता है। मुलेठी की जड़ का पाउडर बनाकर इसे उबलते पानी में डालें । फिर ठंड़ा होने पर छान कर इसे दिन में दो बार पिएं, शीघ्र ही आराम मिलेगा ।

hand-logo लिवर की परेशानियों में अलसी के बीज का सेवन करना चाहिए । अलसी के उपयोग से लीवर का संक्रमण उसका तनाव कम होता है। अलसी को दरदरा पीस कर सलाद में या आटे में मिलकर इस्तेमाल करें अथवा उसे ब्रैड पर लगाकर खयेन।अलसी से लिवर के समस्त रोग दूर होते है ।

hand-logo पालक और गाजर के रस को मिलकर प्रतिदिन सुबह शाम उसका सेवन करने से लीवर सिरोसिस में काफी लाभ मिलता है। पालक और गाजर का रस लिवर को प्राकृतिक तरीके से ठीक करता है ।

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

पेट में गैस | पेट में गैस के घरेलु उपचार

पेट में गैस के घरेलु उपचारPait Me Gas ka Gharelu Upcharपेट में गैस ( Pait me gas...

Tips and Home Remedies to leave smoking cigarettes/tobacco

REMEDIES TO GIVE UP SMOKING / TOBACCO CONSUMPTION.Smoking is very harmful and injurious to health. Apart from...

माँ सरस्वती के बारह चमत्कारी नाम

माँ सरस्वती (Maa Saraswati) के बारह चमत्कारी नाममाता सरस्वती को विद्या की देवी कहा जाता है। सरस्वती...

Hindi Newspaper Sites

दैनिक जागरण www.jagran.comअमर उजाला www.amarujala.comहिन्दुस्तान www.livehindustan.comगूगल न्यूज़ News.google.co.in
Translate »