Saturday, April 17, 2021
Home Hindi राम श्लाका माँ सरस्वती के बारह नाम, maa saraswati ke barah naam,

माँ सरस्वती के बारह नाम, maa saraswati ke barah naam,

माँ सरस्वती के बारह नाम, maa saraswati ke barah naam,

माता सरस्वती maa saraswati को साहित्य, संगीत, कला की देवी कहा जाता है। है। सरस्वती माता की आराधना से ही जातक को विद्या एवं ज्ञान के साथ साथ तमाम ललित कलाओं जैसे संगीत, साहित्य, कविता, वाकपटुता आदि में सहर्ष ही निपुणता प्राप्त होती है।

सरस्वती देवी के एक मुख, चार हाथ हैं। इनके दो हाथों में वीणा एवं एक में वेदग्रंथ और एक में स्फटीक की माला है। इनका वाहन राजहंस माना जाता है किसी भी शैक्षणिक कार्य के पहले इनकी पूजा करना बहुत ही शुभ माना जाता हैं।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार अगर किसी के कुंडली में विद्या का योग नहीं है, पढ़ने-लिखने में रुचि कम है तब भी जातक को माँ सरस्वती (Saraswati Maa) की कृपा से ज्ञान प्राप्त हो जाता है ।

मान्यता है कि सरस्वती देवी की महिमा से, इनकी कृपा से मंदबुद्धि को भी ज्ञान प्राप्त होता है वह भी महा विद्धान बन सकता है। 

अवश्य पढ़ें :- घर पर कैसा भी हो वास्तु दोष अवश्य करें ये उपाय, जानिए वास्तु दोष निवारण के अचूक उपाय

माँ सरस्वती (Maa Saraswati)की कृपा प्राप्ति के लिए अति शुभ माँ सरस्वती के बारह नाम, maa saraswati ke barah naam, 12 नामों का नित्य उच्चारण बहुत ही फलदायी साबित होता है।

विशेषकर बसंत पँचमी के दिन तो इनका कम से कम 11 बार अवश्य ही उच्चारण करना चाहिए । 

माँ सरस्वती के बारह नाम, maa saraswati ke barah naam,

1. भारती 

2. सरस्वती 

पूर्व दिशा के घर का वास्तु हो ऐसा तो जीवन में बनाएंगे नित्य नए कीर्तिमान 

3. शारदा 

4. हंसवाहिनी 

5. जगती 

6. वागीश्वरी 

7. कुमुदी 

8. ब्रह्मचारिणी 

9. बुद्धिदात्री 

10. वरदायिनी 

अवश्य पढ़ें :- इन उपायों से पीलिया / जॉन्डिस से होगा बचाव,  जानिए पीलिया के अचूक उपाय

11. चंद्रकाति 

12. भुवनेश्वरी।

इन बारह नामों में माता सरस्वती के गुण प्रकट होते हैं। इन नामों के ध्यान/जप से माता शीघ्र ही प्रसन्न होते हैं।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

नकरात्मक ऊर्जा | नकरात्मक ऊर्जा से बचें

नकारात्मक ऊर्जा से बचेंआज विश्व भर में भारतीय वास्‍तु शास्त्र कि धूम है। वास्तु शास्त्र के माध्यम...

राखी कैसे मनाएं, rakhi kaise manayen,

रक्षाबंधन कैसे मनाएं, Raksha Bandhan kaise manayen,श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन / राखी ( RakshaBandhan...

एकादशी ब्रत कथा, ekadashi vrat katha,

एकादशी ब्रत कथा, ekadashi vrat katha,...

बौद्ध गया | बौद्ध गया मंदिर

बौध गया मंदिरBuddha Gaya Mandirबिहार राज्य में हिन्दुओ के प्रमुख तीर्थ गया से सटा बौध गया एक...
Translate »