Tuesday, October 19, 2021
Home Hindi गंभीर रोग मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan,

मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan,

मधुमेह, मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan,

आज भारत की बहुत बड़ी आबादी मधुमेह, madhumeh, या शुगर, sugar, डायबिटीज, diabetes, के चंगुल में फंसती जा रही है । 40 -45 के उम्र के बाद तो 20 प्रतिशत से ज्यादा लोग इसकी गिरफ्त में है अब तो नौजवान और बच्चे भी शुगर की बीमारी sugar ki bimari का शिकार हो रहे है।

मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan, शरीर में इन्सुलिन की कमी हो जाती है या शरीर में इन्सुलिन तो होता है मगर वो सही तरीके से शुगर नहीं बना पाता। इससे रक्त में इन्सुलिन की कमी के कारण ग्लूकोज़ की मात्रा बढ़ जाती है। मधुमेह Madhumeh निम्नलिखित कारणों से ज्यादा होता है। 

* Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के कारण, Madhumeh ke karan, ( diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

* Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के प्रकार, Madhumeh ke karan ( diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

* Madhumeh,मधुमेह, मधुमेह के लक्षण, Madhumeh ke lakshan (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

यह भी देखें :- प्रत्येक दिन में शुभ और अशुभ दोनों ही चौघड़ियाँ होती है, जिससे हम अपने कार्यो में श्रेष्ठ सफलता प्राप्त कर सकते है जानिए अपने लिए प्रतिदिन के अनुकूल समय

* Madhumeh, मधुमेह, मधुमेह के उपाय, मधुमेह के घरेलू उपचार | Madhumeh ke gharelu Upchaar, (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )

* Madhumeh, मधुमेह, Sugar, शुगर, शुगर का उपचार, Sugar ka upchar, (diabetes, diabetes problem, diabetes treatment, how to control diabetes, )


डायबिटीज के कारण, diabetes ke karan,

* अगर आपके परिवार में किसी को पूर्व में मधुमेह, madhumeh, शुगर, Diabetes, डायबिटीज, है तो आपको या बीमारी होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

  * मोटापा मधुमेह, madhumeh, शुगर, Diabetes, डायबिटीज, का बहुत बड़ा कारण है, मोटे लोग मधुमेह के जल्दी शिकार हो जाते है ।

* शरीर में कैलोस्ट्राल की अधिक मात्रा होना या रक्त चाप के असामान्य होने से भी मधुमेह, madhumeh, शुगर, Diabetes, डायबिटीज, का खतरा अधिक बढ़ जाता है ।

  * अधिक शरीरिक श्रम, थकान, मानसिक थकान, तनाव, आदि के कारण भी लोग मधुमेह, madhumeh, शुगर, Diabetes, डायबिटीज, के शिकार हो जाते है । 

जरुर पढ़ें :- पेट साफ ना होना अर्थात कब्ज होना यह बहुत सी बिमारियों की जड़ है। इस उपाय से कब्ज से हमेशा के लिए मिलेगा छुटकारा

* अधिक मीठा खाने से भी मधुमेह, madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) हो सकती है।  

* जो लोग नियमित रूप से बाहर का खाना खाते है उन्हें मधुमेह, madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) होने की आशंका तीन गुना ज्यादा तक होती है । 

* स्वस्थ शरीर के लिए कम से कम 4 लीटर पानी अवश्य ही पीना चाहिए । कम पानी पीने से भी मधुमेह, madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) होने की अधिक सम्भावना होती है ।

  * असमय खाने से , जंक फ़ूड खाने , बासी खाने या फ्रिज में ज्यादा दिन तक रखे खाने से भी लोग मधुमेह, madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) के जल्दी शिकार हो जाते है । 

* अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से सैर करना या व्यायाम करना आवश्यक है । एक्सरसाइज ना करने से भी मधुमेह, madhumeh, शुगर ( Diabetes, डायबिटीज ) होने का खतरा बढ़ जाता है ।  

* रात में देर से खाना खाने और खाने के बाद तुरंत सो जाने से भी शुगर / डायबटीज़ हो सकती है। 

* ज्यादा समय तक लगातार बैठा रहना , लगातार देर तक टीवी देखना इत्यादि कारण भी लोग मधुमेह, madhumeh, शुगर, Diabetes, डायबिटीज, का शिकार हो जाते हैं।

मधुमेह के प्रकार ( madhumeh ke prakar )

हम जो भी खाते है उसे हमारा पाचन तंत्र ग्लूकोज बना कर रक्त में भेज देता है । इसे हमारे शरीर की कोशिकाओं में पहुँचाने के लिए इंन्सुलीन नामक हारमोन की जरुरत होती है।
जब हमारा शरीर इंसुलिन का उत्पादन करने में सक्षम नहीं होता है , तब ग्लुकोज रक्त में बढता जाता है मगर कोशिकाओं के अन्दर नहीं घुस पाताहै । यही मधुमेह,madhumeh, Diabetes, डायबिटीज, कहलाता है।

यह भी देखें :- प्रत्येक दिन में शुभ और अशुभ दोनों ही चौघड़ियाँ होती है, जिससे हम अपने कार्यो में श्रेष्ठ सफलता प्राप्त कर सकते है जानिए अपने लिए प्रतिदिन के अनुकूल समय

मधुमेह के प्रकार, Madhumeh Ke Prakar

टाइप – 1 डायबिटीज :— इसमें पैन्क्रियाज की बीटा कोशिकाएँ पूर्णतः नष्ट हो जाती हैं और इस तरह शरीर में इंन्सुलीन का बनना सम्भव नहीं होता है। अनुवांशिक कारणों , आँटो इम्युनिटी एवं किसी प्रकार के वाइरल संक्रमण के कारण बचपन में ही बीटा कोशिकाएँ पूर्णतः नष्ट हो जाती हैं।

यह बीमारी मुख्यतः 12 से 25 साल से कम अवस्था में मिलती है। भारत में यह बहुत ही कम मात्र 1% से 2% केसों में ही टाइप-1 के मरीज़ पाये जाते है। यूरोप विशेषकर स्वीडेन एवं फिनलैण्ड आदि में लोगो में टाइप-1 मधुमेह, टाइप – 1 डायबिटीज काफी पाया जाता है। ऐसे मरीजों इंसुलीन की सूई अनिवार्य रूप से दी जाती है।

टाइप – 2 डायबिटीज :— भारत में ज्यादातर 98% तक मधुमेह के रोगीयों में टाइप-2 मधुमेह, टाइप – 1 डायबिटीज पाया जाता हैं। ऐसे मरीजों में बीटा कोशिकाएँ कुछ-कुछ इन्सुलीन बनाती है। लेकिन यह थोड़ा बहुत बना हुआ इंसुलीन मोटापे, गलत / अनियमित खान पान एवं शारीरिक श्रम की कमी के कारण व्यर्थ हो जाता है।

ऐसे मरीजों के ईलाज के लिए कई तरह की दवाईयाँ उपलब्ध है लेकिन कोई भी विशेष कारगर नहीं है इसलिए उन्हें जीवन भर दवाएँ खानी पड़ती है और कई बार इंसुलीन भी देना पड़ता है।

Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-12-17 00:50:00 PM

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Karz mukti ke upay, कर्ज मुक्ति के उपाय,

कर्ज मुक्ति के उपाय, Karz mukti ke upay,मित्रों हमारे शास्त्रों में कहा गया है की व्यक्ति को...

Mukadma Vijay Yantra

Mukadma Vijay Yantra1. ाणे जित्वा वैत्यायपहत शिरस्त्रेः कवधिभि,विर्वन्तेश्चंदाश त्रिपुरहर निर्मल्य विभुरेवैः,विशाखो न्द्रोयेन्द्रैः शशि विशद कपूर शकलाविलीयन्ते भवास्त्व वदन...

उत्तर दिशा के घर का वास्तु, uttar disha ke ghar ka vastu,

उत्तर दिशा के घर का वास्तु, uttar disha ke ghar ka vastu,वास्तु शास्त्र में उत्तर दिशा के...

होली के अचूक उपाय, holi ke achuk upay,

होली के अचूक उपाय, holi ke achuk upay,ज्योतिष शास्त्र में शिवरात्रि, होली, दीपावली, जन्माष्टमी आदि का बहुत महत्व...
Translate »