Wednesday, August 12, 2020
Home रक्षाबंधन Rashi Anusar Raksha Bandhan, राशिनुसार रक्षाबंधन,

Rashi Anusar Raksha Bandhan, राशिनुसार रक्षाबंधन,


राशिनुसार मनाएं रक्षा बंधन, Rashi Anusar Manayen Raksha Bandhan,

राखी भाई बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार है इस दिन बहने शुभ मुहूर्त में अपने भाइयों की दाईं कलाई पर राखी / रक्षा सूत्र बाँधकर अपने भाइयों की लम्बी उम्र और समृद्धि की कामना करती है और भाई अपनी बहन की हर परिस्तिथि में रक्षा करने का वचन देते है। लेकिन यदि राशिनुसार रक्षाबंधन मनाएं, Rashi Anusar Raksha Bandhan, तो यह अति उत्तम होगा ।
जी हाँ वैसे तो भाइयों की कलाई पर बांधी जाने वाली राखी बाजार में अलग अलग रंगो में और एक से बढ़कर एक खूबसूरत मिलती है लेकिन यदि भाइयों को उनकी राशि के अनुसार राखी बांधी जाय तो यह भाइयो के लिए अति श्रेयकर होगा ।
जी हाँ हर राशि का एक स्वामी गृह होता है जिससे वह जातक प्रभावित रहता है और यदि उसके अनुरूप राखी बांधी जा सके तो भाइयों को पूरे वर्ष श्रेष्ठ फल मिलने के योग बढ़ जाते है ।
जानिए बहने रक्षा बंधन के पर्व पर अपने भाइयों को उनकी राशिनुसार कौन सी राखी बांधे ।

Rashi Anusar Raksha Bandhan, राशिनुसार रक्षाबंधन,

1. मेष राशि (Mesh Rashi) : मेष राशि का स्वामी मंगल है और यह अग्नि तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि मेष है, तो उन्हें लाल रंग की राखी बांधें, इससे उन्हें दृढ़ता मिलेगी उनका मनोबल भी बढ़ेगा ।

2. वृष राशि (Vrish Rashi) : वृष राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है और यह पृथ्वी तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि वृषभ है, तो उन्हें सफेद रंग की राखी बांधें, इससे उनके लिए धन लाभ के योग बनेगें ।

3. मिथुन राशि (Mithun Rashi) : मिथुन राशि का स्वामी बुध ग्रह है और यह वायु तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि मिथुन है, तो उन्हें हरे रंग की राखी बांधें। इससे उनकी बुद्धि तेज होगी, लोकप्रियता भी बढ़ेगी ।

4. कर्क राशि (Kark Rashi) : कर्क राशि का स्वामी चन्द्रमा होता है और यह जल तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि कर्क है, तो उन्हें चन्द्रमा के समान ही चमकीली सफेद रंग की राखी बांधें,इससे उनके जीवन से अस्थिरताएँ दूर रहेगी, लोगो से उनके रिश्ते भी मजबूत होंगे ।

5. सिंह राशि (Singh Rashi) : सिंह राशि का स्वामी सूर्य होता है और यह अग्नि तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि सिंह है, तो उन्हें सुनहरे, पीले या गुलाबी रंग की राखी बांधें, यह उनमें स्थिरता और न्यायप्रियता बढ़ाएगी ।

6. कन्या राशी (Kanya Rashi) :कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह होता है और यह पृथ्वी तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि कन्या है, तो उन्हें हरे रंग की राखी बांधें, इससे ना केवल उनमें निर्णय लेने की क्षमता बढ़ेगी वरन उनके लिए धन के नए मार्ग भी प्रशस्त होंगे ।

7. तुला राशि (Tula Rashi) : तुला राशि का स्वामी शुक्र ग्रह होता है और यह वायु तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि तुला है, तो उन्हें सफेद रंग की राखी बांधें, इससे उनका बौद्धिक स्तर ऊँचा होगा उन्हें हर्ष एवं उल्लास की भी प्राप्ति होगी ।

8. वृश्चिक राशि (Vrishchik Rashi) :वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल ग्रह होता है और यह जल तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि वृश्चिक है, तो उन्हें सफ़ेद या चांदी की राखी बांधें, इससे उनके अपने परिजनों, संगी साथियों सम्बन्ध मधुर होंगे उनका यश भी फैलेगा ।

9. धनु राशि (Dhanu Rashi) : धनु राशि का स्वामी वृहस्पतिदेव है और यह अग्नि तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि धनु है, तो उन्हें पीले अथवा नारंगी रंग की राखी बांधें, इससे उनकी सूझ बुझ और आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होगी ।

10. मकर राशि (Makar Rashi) : मकर राशि का स्वामी शनिदेव है और यह पृथ्वी तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि मकर है, तो उन्हें नीले या भूरे रंग की राखी बांधें, इससे उनका मनोबल बढ़ेगा और उन्हें अपने कार्यों में आसानी से सफलता भी प्राप्त होगी ।

11. कुम्भ राशि (Kumbh Rashi) : कुम्भ राशि का स्वामी भगवान शनिदेव है और यह वायु तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि कुंभ है,तो उन्हें नीले रंग की राखी बांधें,इससे उन्हें यश और सम्मान की प्राप्ति होगी धन लाभ के योग भी प्रबल होंगे।

12.मीन राशि (Meen Rashi) :मीन राशि के स्वामी भगवान वृहस्पतिजी है और यह जल तत्व की राशि है इसलिए यदि आपके भाई की राशि मीन है, तो उन्हें चमकदार सुनहरे पीले अथवा गुलाबी रंग की राखी बांधें, इससे उन्हें धन और ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी, उनका उत्साह भी ऊँचा बना रहेगा ।

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Remedies For Success in Exams and Interview

Saraswati Yantra Remedies for Success in Examinations 11. Even at the cost of loosing out some...

अमावस्या पर पाएं पितरों की पूर्ण कृपा

अमावस्या पर पितरों की पूर्ण कृपाAmawasya Par Pitro ki Purn Kripa हिन्दु धर्म शास्त्रो के अनुसार मनुष्य पर मुख्य...

देव दीपावली | देव दीपावली का महत्व

शास्त्रो में देव दीपावली Dev dipavali का अत्यंत महत्व है । मनुष्यो की दीपावली मनाने के एक पक्ष अर्थात 15 दिनों के...

अमावस्या पे प्राप्त करें दैवीय क़ृपा

अमावस्या पर दैवीय कृपा प्राप्त करेंamavasya par devi kripa prapt kare
Translate »