Monday, October 18, 2021
Home Hindi घरेलु उपचार उच्च रक्तचाप के उपचार, Uchch raktchap ke upachaar,

उच्च रक्तचाप के उपचार, Uchch raktchap ke upachaar,

उच्च रक्तचाप के उपचार, Uchch raktchap ke upachaar,

उच्च रक्तचाप जिसे हाईपरटेंशन भी कहते हैं एक बहुत ही गंभीर और भयंकर रोग है क्योंकि अगर रोगी को सही समय पर सही चिकित्सीय मदद नहीं मिलती तो इससे हार्ट अटैक, ब्रेन हैंमरेज, वगैरह भी होने की संभावना रहती है।
उच्च-रक्तचाप वह रोग है जिसमें हृदय के संकुचन की अवस्था में रक्त वाहिकाओं में रक्त का दबाव पारे के 140 mm से ज्यादा या हृदय के विस्तारण की अवस्था में 90 mm से ज्यादा रहता है या दोनों अवस्थाओं में ज्यादा रहता है।

इसकी वजह है शारीरिक गतिविधियों की कमी, मोटापा, तनाव, खाने पीने में लापरवाही, गंभीर बीमारियाँ, अनुवांशिक बीमारियाँ, धूम्रपान, नशा वगैरह वगैरह।
जानिए उच्च रक्तचाप के उपचार, Uchch raktchap ke upachaar, उच्च रक्तचाप से कैसे पाएं निजात, Uchch Raktchap Se kaise Nishad Payen ।

उच्च रक्तचाप का इलाज, Uchch Raktchap Ka Ilaz,

* उच्च रक्तचाप ( uchch raktchap ) के मुख्य कारणों में से एक है आपके रक्त का गाढ़ा होना। रक्त गाढ़ा होने से उसका प्रवाह धीमा हो जाता है। जिससे नसों और धमनियों पर दबाव पड़ता है।
लहसुन में बहुत हीं ताकतवर एंटीओक्सीडेनट्स , जैसे कि सेलेनियम, विटामिन सी और एलीसीन होते है, जो कि रक्त को पतला करने में काफी प्रभावशाली होते हैं।
इसीलिए सुबह सुबह कच्चे लहसुन के दो तीन कली के टुकड़े चबाने से या उसके महीन टुकड़े करके निगलने से काफी फायदा पहुँचता है।

* नमक ब्लड प्रेशर ( blood pressure ) बढाने वाला प्रमुख कारक है, इसलिए हाई ब्लड प्रेशर वालों को नमक का प्रयोग कम करना चाहिए।

* एक चम्मच आंवले का रस और एक ही चम्मच शहद मिलाकर सुबह-शाम लेने से हाई ब्लड प्रेशर ( High blood pressure ) में बहुत लाभ होता है।

* हाई ब्लडप्रेशर ( High Blood Pressure ) के मरीजों के लिए पपीता भी बहुत लाभकारी है, इसे खाली पेट चबा-चबाकर खाना चाहिए ।

* तरबूज के बीज तथा खसखस को अलग-अलग पीसकर बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें। प्रतिदिन खाली पेट एक चम्मच पानी के साथ लें।

* गाजर और पालक का रस मिलाकर एक गिलास सुबह-शाम पीने से लाभ मिलता है।

* हाई ब्लड प्रेशर ( High blood pressure ) को जल्दी कंट्रोल करने के लिये आधा गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़कर 2-2 घंटे के अंतर से पीना चाहिए।

* जब ब्लड प्रेशर ( Blood pressure ) बढा हुआ हो तो आधा गिलास हल्के गर्म पानी में एक चम्मच काली मिर्च पाउडर घोलकर 2-2 घंटे में पीते रहें।

* करेला और सहजन की फ़ली का नित्य सेवन उच्च रक्त चाप में परम हितकारी हैं।

* सौंफ़, जीरा, शक्‍कर तीनों को बराबर लेकर पाउडर बना लें। इसे एक चम्मच एक गिलास पानी में घोलकर सुबह-शाम पीने से लाभ होता है।

* हाई ब्लड प्रैशर ( High blood pressure ) में पांच तुलसी के पत्ते तथा दो नीम की पत्तियों को पीसकर 20 ग्राम पानी में घोलकर खाली पेट सुबह पिएं।

* उच्च रक्त चाप ( uchch raktchap ) में मरीजों को सुबह शाम एक टुकड़ा अदरक का काली मिर्च के साथ चूसना चाहिए ।

* लाल मिर्च के सेवन से नसें और रक्त वाहिकाएं चौड़ी हो जाती हैं,जिससे रक्त प्रवाह सहज हो जाता है और रक्तचाप नीचे आ जाता है।

* बिना आते से चोकर निकाले गेहूं व चने के आटे को बराबर मात्रा में लेकर बनाई गई रोटी खूब चबा-चबाकर खानी चाहिए ।

* पाँच ग्राम मेथीदाना पावडर पंद्रह दिनों तक सुबह-शाम पानी के साथ लें। इससे भी बहुत लाभ मिलता है।

* प्रतिदिन नंगे पैर हरी घास पर 10-15 मिनट जरूर चलें, इससे ब्लड प्रेशर ( Blood pressure ) सामान्य रहता है।

उच्च रक्तचाप, Uchch Raktchap, उच्च रक्तचाप के उपचार, Uchch raktchap ke upachaar, उच्च रक्तचाप का इलाज, Uchch Raktchap Ka Ilaz, उच्च रक्तचाप के उपाय, Uchch Raktchap ke upay, उच्च रक्तचाप क्या है, uchch raktchap kya hai,

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

शनि की साढ़े साती

शनि की साढ़े साती के उपायShani Ki Sade Sati Ke Upay हम सभी के...

Tips/Remedies For Success in Bussiness

Vyapar Vridhi YantraFor attaining Desired Success in BusinessSome sure...

छोटी दिवाली 2021, choti diwali,

छोटी दिवाली, choti diwali, हनुमान जयंती,दीपावली deepavali पर्व से एक दिन पहले...

Tribute to our Ancestors and Forefather

Tribute to our Ancestors and Forefather"There are many people who establish Trusts, Innards (Dhramshalas), Orphanages, Hospitals, Parks, Statues...
Translate »