Tuesday, October 20, 2020
Home Hindi वास्तुशास्त्र ड्राइंग रूम का वास्तु

ड्राइंग रूम का वास्तु

स्वागत कक्ष का वास्तु
Swagat kash Ka vastu

आपके घर का ड्रॉइंग रूम Drawing Room / स्वागत कक्ष Swagat kash आपके घर का बहुत महत्वपूर्ण कमरा होता है। ड्रॉइंग रूम Drawing Room में ना केवल परि‍वार के सदस्‍य सबसे ज्‍यादा वक्त बि‍ताते हैं वरन मेहमान भी घर में सबसे पहले ड्रॉइंग रूम / स्वागत कक्ष के जरिए ही आपसे मुलाकात करते हैं। ड्रॉइंग रूम से आपके व्यक्तित्व की भी झलक मिलती है। माना जाता है कि घर के ड्राइंग रूम को अगर वास्तु के अनुसार रखा जाय तो पूरे परिवार को सकारात्मक ऊर्जा का लाभ मिलता है परिवार में सुख शांति और समृद्धि रहती है और घर के सभी सदस्य भी बेहतर महसूस करते है,
जानिए ड्रॉइंग रूम का वास्तु, Drawing Room ka vastu,स्वागत कक्ष का वास्तु, Swagat kash Ka vastu ।

om ड्राइंग रूम Drawing Room भवन के वायव्य कोण, उत्तर दिशा, पूर्व एवं ईशान कोण के मध्य बनाना चाहिए।

om ड्राइंग रूम Drawing Room में ढलान सदैव उत्तर-पूर्व दिशा की ओर ही रखना चाहिए ।

om ड्राइंग रूम में दक्षिण दिशा की तरफ भारी फर्नीचर रखना चाहिए, उसके बाद पश्चिम दिशा में भी भारी फर्नीचर रखा जा सकता है लेकिन उत्तरी एवं पूर्वी दीवार की ओर भारी फर्नीचर बिलकुल भी नहीं रखना चाहिए।

om ड्राइंग रूम में फर्नीचर रखते समय इस बात का ध्यान जरूर रखे कि घर का मालिक का बैठते समय मुख पूर्व या उत्तर की तरफ ही हो ।

om ड्राइंग रूम में टेलीफोन को दक्षि‍ण पश्चि‍म कोने ( नैत्रत्य कोण ) में रखें और टीवी दक्षिण की दीवार में ठीक रहता है इसके अतिरिकत अन्‍य इलेक्‍ट्रॉनि‍क उपकरण दक्षि‍ण पूर्वी कोने ( आग्नेय कोण ) में रखें।

om ड्राइंग रूम में पानी के फाउंटेन और फिश एक्वेरियम आदि उत्तरी पूर्व कोने में रखने चाहिएं।

om ड्राइंग रूम में यह ध्यान रहे कि प्राकृतिक रौशनी पर्याप्त मात्रा में रहे, इसके लिए ड्राइंग रूम की उत्तरी या पूर्वी दीवार में बड़ी खिड़कियां अवश्य ही बनानी चाहिए।

om ड्राइंग रूम का द्वार उत्तर दिशा में होना अति शुभ रहता है पूर्व दिशा में भी द्वार रखा जा सकता है, परन्तु इसके अतिरिक्त किसी भी अन्य दिशा में बैठक कक्ष का द्वार नहीं रखना चाहिए ।

om ड्राइंग रूम में कूलर / एयर कंडीशन को कक्ष की पश्चिमी, वायव्य दिशा अथवा अग्नेय कोण में लगाना चाहिए।

om ड्राइंग रूम की दीवारों का रंग हल्का नीला, पीला, क्रीम या हलके हरे रंग का होना उत्तम होता है।

om ड्राइंग रूम में अलमारी व शोकेस आदि दक्षिण पश्चि‍मी कोने ( नैत्रत्य कोण ) में हों तो बहुत ही अच्‍छा है। इसके अलावा यह दक्षिण दिशा में भी रखे जा सकते है ।

om ड्राइंग रूम में बिजली के बल्ब, ट्यूब राड आदि पूर्वी अथवा उत्तरी दीवार में लगाने चाहिए ।

om ड्राइंग रूम में कोई अच्छी सी प्राकृतिक दृश्य वाली तस्वीर लगानी चाहिए , यहाँ ऐसी कोई तस्वीरें या शो -पीस नहीं होने चाहिए, जो युद्ध, मौत, गुस्से गरीबी को दर्शाते हों ।
Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-11-24 06:00:55 PM

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Solution of Pitradosh

Solution of PitradoshIn the modern era, many people ignore their Parents, Elders and Forefathers because of their busy life...

Top Ten Tips For Success in Whole Life

Remedies for All-Round SuccessAs a routine while leaving the house for work ,always have a teaspoon of sweet...

पितरों को मुक्ति दिलाने का उपाय, Pitron ko mukti dilane ka upay,

इंदिरा एकादशी का महत्व, Indira ekadashi ka mahtv,हर व्यक्ति पुत्र की कामना करता है,...

अपना और अपने परिवार का फॅमिली ट्री बनाये

फैमिली ट्रीA Family Tree is a chart representing family relationships in a conventional tree like structure with...
Translate »