Tuesday, January 31, 2023
Home Hindi तिल विचार पहले अक्षर से जाने खास बातें, pahle akshar se jane khash baaten,

पहले अक्षर से जाने खास बातें, pahle akshar se jane khash baaten,

pahle akshar se jane khash baaten, पहले अक्षर से जाने खास बातें,

नाम के पहले अक्षर से जानिए स्त्री या पुरुष की राशि और खास बातें

प्रत्येक व्यक्ति के नाम के पहले अक्षर से उसकी राशि का पता चलता है | वैसे जातक के जन्म के समय पर ग्रहो के हिसाब से उसकी राशि का निर्धारण होता है और उस राशि के अनुसार ही नाम रखना शुभ माना जाता है लेकिन आजकल लोग पहले से ही अपने बच्चो के नाम सोच लेते है |
बरहाल जिस नाम से किसी को बुलाया जाता है, जो नाम किसी के स्कूल आदि में होता है, जिस नाम से जातक सोते में पुकारे जाने पर उठ जाता है , जिस नाम से समाज में उसकी पहचान होती है उसी नाम के पहले अक्षर से उसकी राशि होती है |
हर राशि की खास विशेषताएं होती है और हर व्यक्ति पर उसकी राशि का बहुत अधिक प्रभाव होता है अत: किसी के बारे में जानना है तो उसके नाम के पहले अक्षर से, नाम के अनुसार खास बातें जाना जा सकता है |
नाम के पहले अक्षर के अनुसार किसी स्त्री – पुरुष के स्वभाव , उसकी मित्र-शत्रु राशियाँ, उसके अनुकूल ग्रह, देवता, शुभ दिन शुभ रंग अर्थात नाम के अनुसार पुरुषों/ स्त्रियों की खास बातो को जान सकते है |
जानिए नाम के अनुसार , राशिनुसार पुरुषों /स्त्रियों की खास बातें,

मेष राशि……

मेष राशि – चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ ।
राशि स्वरूप – मेंढा जैसा, राशि स्वामी मंगल, अग्नि तत्व: उग्र स्वभाव, अल्प संतति वाला।
मित्र-राशियाँ – सिंह, तुला और धनु राशियाँ इनकी मित्र होती है ।
शत्रु-राशियाँ – मिथुन, कन्या राशि ।
राशि-रत्न – मूंगा रत्न ।
अनुकूल-रंग – लाल, पीला, गेरुआ ।
शुभ-दिन – मंगलवार, रविवार, वृहस्पतिवार ।
अनुकूल-देवता:- शिवजी, भैरव जी, श्री हनुमान जी,
अनुकूल-ग्रह:- सूर्य, वृहस्पति, चन्द्र,
व्रत उपवास:- मंगलवार
अनुकूल अंक :- 9,
अनुकूल तारीखें:- 9, 18, 27,
सकारात्मक तथ्य:- कुटुम्ब को पालने वाले, चुनौती को स्वीकार करने वाले, सदैव क्रियाशील,
नकारात्मक तथ्य:- दम्भी,
दिशा:- पूर्व,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – मेष राशि के लोग नेतृत्व के स्वभाव से भरे होते है , इनमेँ कोई भी निर्णय शीघ्रता से लेने की क्षमता होती है । मेष राशि के लोगो को दक्षिण-पूर्व दिशा से लाभ प्राप्त होता है , यह प्रेम में विश्वास रखते है । यह किसी राजनेता के साथी/ मित्र हो सकते है । यह अग्नि तत्व तथा रक्त वर्ण वाले होते है।

वृष राशि….

वृष राशि – ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो ।
राशि स्वरूप – बैल जैसा, राशि स्वामी- शुक्र, भूमि तत्व, रजो गुणी, दृढ़ शरीर ।
मित्र राशियां:- कुम्भ तथा मकर,
शत्रु राशियां:- सिंह, धनु और मीन,
राशि प्रकृति व स्वभाव:- ज्यादातर सौम्य स्वभाव वाले होते है.
राशि रत्न:- हीरा,
अनुकूल रंग:- श्वेत और नीला,
शुभ दिवस:- शुक्रवार, शनिवार तथा बुधवार,
अनुकूल देवता:- श्री लक्ष्मी जी और श्री सरस्वती देवी जी,
व्रत उपवास:- शुक्रवार,
अनुकूल अंक:- 6,
अनुकूल तारीखें:- 6, 15, 24,
सकारात्मक तथ्य:- गुरु-भक्त, कृतग्य, दयालु,
नकारात्मक तथ्य:- दुराग्रही, कानो का कच्चा, आलसी,
दिशा:- दक्षिण,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – इस राशि के लोग उपभोगवादी होते है । इनकी जिंदगी विलासिता से परिपूर्ण होती है। यह बहुत ही मेहनती होते है तथा अपनी कार्यक्षमता के दम पर सदैव आगे बढ़ने वाले होते है ।
इन्हे उत्तर दिशा से विशेष लाभ होता है अर्थात उत्तर दिशा इंनके लिये भाग्यशाली होतीं है। यह कामेच्छा रखने वाले होते है। यह अपने संबंधियों में प्रिय होते है। यह बुद्धिमान और दूरदर्शी होते है।

मिथुन राशि….

मिथुन राशि – का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह ।
राशि स्वरूप – स्त्री-पुरुष आलिंगनबद्ध, राशि स्वामी- बुध, वायु तत्व: तमो गुणी, मध्यम कामी ।
मित्र राशियां:- तुला, सिंह, कन्या, कुम्भ,
शत्रु राशियां:- कर्क, वृष, मेष,
प्रकृति:- क्रूर स्वभाव, धातु प्रकृति,
राशि रत्न:- पन्ना,
अनुकूल रंग:- हरा,
शुभ दिन:- बुधवार,
अनुकूल देवता:- गणपति, मां सरस्वती, मां दुर्गा जी,
व्रत-उपवास:- बुधवार,
अनुकूल अंक:- 5,
अनुकूल तारीखें:- 5, 14, 23,
अनुकूल वर्ष:- 21, 30, 39, 48, 57, 66, व 75वां वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण,
व्यक्तित्व:- चतुर, निडर, बुद्धिमान,
सकारात्मक तथ्य:- कुशल व्यापारी, वाक् पटु,
नकारात्मक तथ्य:- निर्मोही, आत्मकेंद्रित, निष्ठुर,
दिशा:- पश्चिम,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – इस राशि के लोग ललित कलाओं जैसे संगीत, गायन और चित्रकला में रुचि रखने वाले होते हैं। ये बाते बहुत बढ़िया बना लेते है, वाद विवाद / तर्क में ये प्रवीण होते है । ये किसी से भी अपनी बात मनवा ही लेते है।
वैसे तो ये मिलनसार होते है लेकिन कभी-कभी असहज भी महसूस करते है । इन्हे घूमना फिरना, पार्टियाँ देना बहुत पसन्द होता है।

कर्क राशि……

कर्क राशि – ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो ।
राशि स्वरूप – केकड़ा, राशि स्वामी- चंद्रमा, जल तत्व- उग्र स्वभाव, अल्प संतति वाला, शीघ्र कामी ।
मित्र राशियां:- वृश्चिक, मीन, तुला,
शत्रु राशियां:- मेष, सिंह, धनु, मिथुन, मकर, व कुम्भ,
अनुकूल रत्न:- मोती, मूंगा,
अनुकूल रंग:- सफेद, क्रीम,
शुभ दिन:- सोमवार, मंगलवार, वृहस्पतिवार,
अनुकूल देवता:- शिवजी, गौरी,
व्रत-उपवास:- सोमवार, वृहस्पतिवार,
अनुकूल अंक:- 2,
अनुकूल तारीखें:- 2, 11, 20, 29,
व्यक्तित्व:- अध्ययनप्रिय, जलप्रिय, भावुक, कुशल प्रबंधक,
सकारात्मक तथ्य:- कल्पनाशील, योजनाएं बनाने वाला, वफादार,
नकारात्मक तथ्य:- सदा कोई न कोई रोग, आलस्य, अक्षमशील द्वेषी,
दिशा:- उत्तर,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – इस राशि के लोग बहुत जल्दी क्रोध मे आ जाते है इनकी बुद्धि अस्थिर होती है। सामान्यता ये निर्णय लेने में जल्दबाजी कर जाते है लेकिन अन्त मे विजय इन्ही की होती है। ये बदला लेने के लिए किसी भी सीमा तक जा सकते है, जिससे इन्हे परेशानीयों का सामना करना पड़ता है। ये अपने फन में माहिर होते है और अपने कार्य को हर हाल मे अंजाम तक पहुँचाते है।परिश्रम और दृढ़ संकल्प इनके दो बहुत ही ख़ास गुण होते है । इनमें तर्क करने की क्षमता अदभुत होती है। ये किसी भी कार्य में संदेह देखते है।

सिंह राशि……

सिंह राशि – मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे ।
राशि स्वरूप :- शेर जैसा, स्वामी – शेर जैसा, स्वामी- सूर्य, प्अग्नि तत्व: रजो गुणी, दृढ़ शरीर, उष्ण प्रकृति, अल्प संतति वाला ।
मित्र राशियां:- मिथुन, कन्या, मेष व धनु,
शत्रु राशियां:- बृषभ, तुला, मकर, कुम्भ,
अनुकूल रत्न:- माणिक्य, मूंगा,
अनुकूल रंग:- चमकीला, श्वेत, पीला, भगवा,
शुभ दिन:- रविवार, बुधवार,
अनुकूल देवता:- भगवान सूर्य,
व्रत उपवास:- रविवार,
अनुकूल अंक:- 1,
अनुकूल तारीखें:- 1, 10, 19, 28,
व्यक्तित्व:- प्रबल पराक्रमी, महत्वाकांक्षी, अधिकारप्रियता,
सकारात्मक तथ्य:- खुले दिलो दिमाग वाला, उदार मन, गर्मजोशी,
नकारात्मक तथ्य:- घमण्डी, अति आत्मविश्वासी, अति महत्व का प्रदर्शन,
दिशा:- पूर्व,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – इस राशि के जातक पराक्रमी और तेज से परिपूर्ण होते है।ये बहुत ही बहादुर होते है और हर चुनौती का डटकर सामना करते है । ये किसी भी तरह के निर्णय लेने मे देरी नहीं लगाते है और अपनी नैसर्गिक क्षमता के कारण ये हर जगह अपनी बात मनवा लेते है। ये शीघ्र क्रोध में आ जाते है किंतु उसी तरह शांत भी हो जाते हैं।
इनमें जन्मजात नेतृत्व क्षमता होती है। ये अच्छे लीडर साबित होते है, ये अपनी जबान के बहुत ही पक्के होते है। सिंह राशि के जातक घूमने-फिरने के बहुत शौकीन होते है ।

कन्या राशि……

कन्या राशि – ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो ।
राशि स्वरूप – कन्या, स्वामी- बुध, भूमि तत्व, तमो गुणी, मध्यम कामी, शीत प्रकृति ।
मित्र राशियां:- मेष, मिथुन, सिंह, तुला,
शत्रु राशि:- कर्क,
अनुकूल रत्न:- पन्ना,
अनुकूल रंग:- हरा,
शुभ दिन:- बुधवार, रविवार, शुक्रवार,
अनुकूल देवता:- गणपति जी, सरस्वती देवी, मां दुर्गा देवी,
व्रत उपवास:- बुधवार,
अनुकूल अंक:- 5,
अनुकूल तारीखें:- 5, 14, 23,
व्यक्तित्व:- दोहरा व्यक्तित्व, विद्वान, आलोचक लेख,
सकारात्मक तथ्य:- निरन्तर क्रियाशीलता, व्यावहारिक ज्ञान,
नकारात्मक तथ्य:- बुराई ढूंढना, कलह प्रियता, अशुभ चिंतन,
इस राशि के लोगों की प्रकृति – इस राशि के जातक शान्त किन्तु चंचल स्वभाव के होते है। ये प्रेम से किसी के भी वश में आ जाते है।सामान्यता ये किसी का भी दिल नहीं दुखाते है।
ये स्वयं के परिश्रम से जीवन मे पर्याप्त सफलता प्राप्त कर लेते है । ये दूरगामी सोच और व्यवस्था परिवर्तन मे विश्वास रखते है। ये अच्छे मित्र,अच्छे सहयोगी और व्यापार मे अच्छे भागीदार साबित होते है ।

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सोमवती अमावस्या के उपाय, somvati amavasya ke upay,

सोमवती अमावस्या के उपाय, Somvati Amavasya Ke upay,सोमवती अमावस्या Somvati Amavasya को अत्यंत पुण्य तिथि माना जाता...

प्रेम का दिवस बसंत पंचमी, prem ka divas basant pachmi, वसंत पंचमी 2023,

प्रेम का दिवस बसंत पंचमी, prem ka divas basant pachmi,बसंत ऋतु, बसंत पंचमी basant panchmi का पर्व हर्ष...

शिवजी पर क्या ना चढ़ाएं, shivji par kya na chadaye, शिवरात्रि 2022 ,

शिव जी पर क्या ना चढ़ाएं, shivji par kya na chadaye,भगवान शिवजी Shivji अर्थात शंकर जी देवों...

जगन्नाथपुरी | जगन्नाथपुरी धाम

जगन्नाथपुरीJagannathजगन्नाथपुरी धामJagannath Puri DhamShares Share Share...
Translate »