Sunday, December 6, 2020
Home Hindi पर्व त्योहार पूर्वजो को श्रद्धांजलि अर्पित करें

पूर्वजो को श्रद्धांजलि अर्पित करें


पूर्वजों को श्रद्धांजलि अर्पित करें
purvajon ko sradhanjali arpita karen

पितृपक्ष में खास अहमियत रखती है यह साईट
इस साईट पर बना सकते है आप अपने पूर्वजों का स्मारक
मेमोरी क्लॉक स्वयं दिलाएगी अपनों की यादें ———–

विश्व में पहली बार एक ऐसी वेबसाइट बनायी गयी है जहाँ पर आप अपने श्रद्वेय जो काल की नियति के कारण हमसे समय/असमय बिछड़ गये है उन पूर्वजों, purvajon, दिवंगत रिश्तेदारों, मित्रों एवं अपने आदर्श पुरुषों का नाम सदा के लिये संजोकर उसे अमिट रख सकते है। वह भी बिलकुल निशुल्क|

यह साईट आप को अवश्य ही दिव्य आध्यात्मिक उर्जा का अहसास कराएगी। इस साईट पर सभी धर्मों से सम्बंधित अपनों को श्रदांजलि sraddhanjali दी जा सकती है।

“इस साइट के जरिये आप अपने उन अभिन्न लोगो की प्रोफाइल बनाकर उनकी मधुर यादों को फोटोग्राफ वीडियों एवं अन्य संकलनों के जरिये दुनिया को दिखा सकते है जो अब आप से दूर होकर आसमानी सितारों का हिस्सा बन चुके है। निश्चित रूप से इस साईट को लागिन करने के बाद यह अपनों को दूसरी दुनिया में होने का अहसास दिलाता है जो अब हमारे बीच में नहीं है और उन्हें एक बार अपने कम्प्यूटर स्क्रीन पर देखने के बाद आपकी आँखों का नम होना स्वाभाविक है ।आप का मन अचानक बेचैनी से भर जायेगा,एक अजीब सी छटपटाहट भी होगी,आप शीघ्र ही उन्हें भी इस साईट का हिस्सा बनाना चाहेंगे जिनका वे बहुत दूर होने के बावजूद हक भी रखते है। क्योंकि आपकी बेपनाह मोहब्बत अपने से उनकी यादों को जुदा होने नहीं देना चाहती इसलिए उनकी यादों को जिन्दा रखने एवं सच्ची श्रदांजलि sraddhanjali देने के लिए भौतिक शांति के अतिरिक्त “www.memorymuseum.net” से बेहतर विकल्प कोई और नहीं हो सकता है।

आप के द्वारा सहेजे गए दिवंगत व्यक्ति की प्रोफाइल पर उसके धर्म के अनुसार साज-सज्जा तथा संगीत भी होगा। आपको अपनी पसंद का बैकग्राउन्ड धार्मिक संगीत तथा बैनर लगाने का अधिकार है। आप अपने पूर्वज का स्मारक बना सकते है । आप दिवंगत की फोटों पर अपनी मर्जी का अलग-अलग कलर, रंग एवं डिजाइन का फोटों फ्रेम व माला भी लगा सकते हैं।” आप और विजिटर दोनों ही स्मारक पर माला, फूल, बुके, आदि चढ़ा सकते हैं। इस सभी चीजों के अनेकों विकल्प हैं।

Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-09-15 17:10:00 PM

आप अपने दिवंगत पूर्वजों को याद करते हैं और उनके प्रति अपनी कृतज्ञता दिखाना चाहते हैं? अब, अपने दिवंगत पूर्वजों की प्रोफाइल बनाकर उनके नाम और यादों को हमेशा के लिये अमर बनाइये।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

याद करने का तरीका || Yaad karne ka tarika

कई बार बच्चे पढ़ाई में  बहुत मेहनत करते है समय भी देते है लेकिन पढ़ा हुआ उन्हें सही समझ नहीं आता है...

मोटापा घटाने के उपाय, motapa ghatane ke upay,

मोटापा घटाने के उपाय, motapa ghatane ke upay,मोटापा बहुत सी बिमारियों की जड़ है। इस संसार में हर...

नाग पंचमी का महत्व, Nag Panchmi Ka Mahtva,

Nag Panchmi Ka Mahtva, नाग पंचमी का महत्व, इस वर्ष 2020 में 25 जुलाई दिन शनिवार को नागपंचमी (Nag...

स्वाइन फ्लू के उपचार | स्वाइन फ्लू में सावधनियाँ

स्वाइन फ्लू के उपचारSwine Flu Ke Upcharस्वाइन फ्लू ( Swine Flue ) से बचने के लिए...
Translate »