Home Hindi घरेलु उपचार धूम्रपान के नुकसान, Dhumrpan ke nuksan,

धूम्रपान के नुकसान, Dhumrpan ke nuksan,

268
dhumrpan-ke-nuksan

धूम्रपान के नुकसान, Dhumrpan ke nuksan,

सिगरेट पीना / धूम्रपान, Dhumrpan स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक है । धूम्रपान Dhumrpan से घातक कैंसर और अन्य बहुत से रोग होने की सम्भावना बहुत ही ज्यादा होती है।
तंबाकू में चार हजार और सिगरेट में 40 से ज्यादा नुकसानदायक रसायन होते हैं जो कैंसर की वजह बनते हैं। इससे फेफड़ों का, मुँह का कैंसर होता है,
जानिए धूम्रपान, Dhumrpan,धूम्रपान के नुकसान, Dhumrpan ke nuksan ।

धूम्रपान के नुकसान, Dhumrpan ke nuksan,

* धूम्रपान, Dhumrpan से
* हृदय रोग,
* मोतियाबिंद,
* बहरापन,
* पेट वा हड्डियों के रोग,
* चेहरे में असमय झुर्रियां आदि गंभीर समस्याएँ होती है ।

जरूर पढ़े :- सुख-समृद्धि के लिए नित्य ले माँ लक्ष्मी के 18 पुत्रो के नाम, पीढ़ियों तक धन की नहीं होगी कभी कमी

* धूम्रपान Dhumrpan करने से रक्‍त का प्रवाह भी धीमा हो जाता है। जिसके कारण व्यक्ति को शारीरिक संबंध बनाने में समस्या होती है।
अर्थात धूम्रपान के कारण नपुंसकता का भी खतरा बड़ जाता है । 

* एक अनुमान के अनुसार विश्व में हर वर्ष लगभग 60 लाख लोग धूम्रपान,Dhumrpan और तम्बाकू का सेवन करने से मरते हैं।

* रोजाना 20 से अधिक सिगरेट पीने वालों को हार्ट अटैक का खतरा 10 गुना, 10 से 20 सिगरेट पीने को हार्ट अटैक का खतरा 5 गुना और 5 से कम सिगरेट पीने से यह खतरा 3 गुना तक बढ़ जाता है।

* एक अनुमान के अनुसार एक सिगरेट भी हमारी जिंदगी के 11 मिनट कम हो जाते है। इससे ना केवल सेवन करने वाला वरन उसका पूरा परिवार भी इसके दुष्प्रभावो से प्रभावित होता है ।
तमाम खतरों तमाम चेतावनियों के बाद भी लोग इसकी लत नहीं छोड़ पाते है, धूम्रपान करने वाला डिब्‍बी से सिगरेट निकालते वक्‍त जब उस पर बने चेतावनी के चित्र को देखता है तो उसके मन में सिगरेट छोड़ने का जरूर विचार आता होगा लेकिन उसके बाद उसकी लत उसके विचार पर भारी पड़ जाती है।

अवश्य पढ़ें :- गुस्सा बहुत आता है, बिलकुल भी नियंत्रण नहीं रहता है तो गुस्सा दूर करने के लिए अवश्य करें ये उपाय

* जी हाँ धूम्रपान ( Dhumrpan ) की आदत छोड़ना एक बहुत बड़ी चुनौती होती है जिससे निपटने के लिए व्यक्ति में दृढ़ इच्छा शक्ति और मजबूत योजना होनी चाहिए ।
वैसे अनेक तरीके हैं जिनके द्वारा धूम्रपान को छोड़ा जा सकता हैं। यहाँ पर हम ऐसे ही कुछ तरीके बता रहे है जिसको अपनाकर निश्चय ही धूम्रपान को छोड़ा जा सकता है ।

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »