Sunday, October 2, 2022
Home Hindi महत्वपूर्ण उपाय आकर्षित कैसे करें, Akarshit kaise kare,

आकर्षित कैसे करें, Akarshit kaise kare,

आकर्षित कैसे करें, Akarshit kaise kare,

हर व्यक्ति चाहता है कि उसमें चुम्बकीय शक्ति तो लोग उसकी तरफ आकर्षित हों, उसे पसंद करें, उसका मान सम्मान बड़े, उसके कार्यो की हर तरफ सराहना हो ।

बहुत बार ऐसा भी होता है कि किसी मनुष्य में बहुत से गुण होते है फिर भी लोग उसकी तरफ आकर्षित नहीं होते है लाख प्रयास के बाद ही वह लोगो की नज़रो में अपना अपेक्षित स्थान नहीं बना पता है ।

यहाँ पर हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहे है जिनको करने से आपके अंदर आकर्षण शक्ति का विकास होगा लोग आपको नोटिस करने लगेंगे ।
जानिए लोगो को आकर्षित कैसे करें, Akarshit kaise kare, आकर्षण शक्ति कैसे बढ़ाएं, akarshan shakti kaise badayen,

आकर्षित कैसे करें, Akarshit kaise kare,

* सफेद गुंजा की जड़ को घिसकर माथे पर तिलक करने से सब लोग उस व्यक्ति के तेज से प्रभावित होकर उसकी बातों को मानने लगते है ।

* सफेद सरसों को भांग के पत्तों के साथ पीसकर इसका तिलक करके आप जिस किसी के भी पास जायेंगे वह आपके आकर्षण में बंधकर आपकी किसी भी बातों को मना नहीं कर पायेगा ।

* तुलसी के बीजों को सहदेई के के रस में पीसकर उसका तिलक माथे पर लगाने से आप जिसको देखकर जो भी कार्य उससे करवाना चाहेगे उसमें सफलता मिलने की पूरी सम्भावना होगी ।

* कड़वी लौकी के तेल और कपड़े की बत्ती से काजल तैयार करें। इसे आंखों में लगाकर देखने से लोग आकर्षित होते है ।

यह भी जाने:- हनुमान जी की पानी है कृपा तो मंगलवार और शनिवार को ऐसे करें हनुमान जी को प्रसन्न, जानिए हनुमान जो को चोला कैसे चढ़ाये

* जिस भी व्यक्ति को आप अपने प्रभाव में लेना चाहते हैं, उसका एक चित्र जो कि लगभग पुस्तक के आकार का तथा स्पष्ट छवि वाला हो, उपलब्ध करें। उस चित्र को इतनी ऊंचाई पर रखें कि जब आप पद्मासन में बैठे, तो उस चित्र की छवि आपकी आंखों के सामने ही रहे।
5 मिनिट तक प्राणायाम करने के पश्चात उस चित्र पर ध्यान एकाग्र करें। पूर्ण गहरे ध्यान में पंहुचकर उस चित्र वाले व्यक्तित्व से बार-बार अपने मन की बात कहें।

कुछ समय के बाद अपने मन में यह गहरा विश्वास जगाएं कि आपके इस प्रयास का प्रभाव होने लगा है। यह प्रयोग सूर्योदय से पूर्व करना होता है। कुछ ही दिनों में इस प्रयोग के स्पष्ट प्रभाव दिखने लगते हैं।

* गेंदे का फूल, पूजा की थाली में रखकर उसके ऊपर हल्दी के कुछ छींटे मारें फिर इस फूल को गंगा जल के साथ पीसकर माथे पर तिलक लगाने से आकर्षण शक्ति बढ़ती है।

अवश्य ही पढ़ें :-इस उपाय से शरीर रहेगा निरोगी, शक्ति रहेगी भरपूर, बुढ़ापा पास भी नहीं आएगा, जानिए रोगनाशक दिव्य आहार,

* नागकेसर को खरल में कूट छान कर शुद्ध घी में मिलाकर यह लेप माथे पर लगाने से वशीकरण की शक्ति उत्पन्न हो जाती है।

* मोर की कलगी पीले रेशमी वस्त्र में बाँधकर कही भी बाहर जाते समय अपने साथ रख लें। इससे आकर्षण शक्ति बढ़ती है, सामने वाला आपको नोटिस करने लगता है।
लेकिन ध्यान रहे आप बिलकुल स्वच्छ रहे, मोर की कलगी को भी बिलकुल साफ पीले कपड़े में बांधे / लपेटे ।

* अगर किसी विशेष व्यक्ति के ह्रदय में अपना स्थान बनाना हो तो, शनिवार की रात्रि में 7 लौंग लेकर उस पर जिसको वश में करना हो 21 बार उसका नाम लेकर फूंक मारें और अगले दिन रविवार को सुबह इनको आग में जला दें।

यह प्रयोग लगातार 7 बार करने से वह व्यक्ति निश्चित ही आपकी तरफ आकर्षित हो जाता है। लेकिन यह प्रयोग किसी बुरी भावना से बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।

आकर्षित कैसे करें, aakarshit kaise karen, आकर्षण शक्ति कैसे बढ़ाएं, aakarshan shakti kaise badayen, लोगो को अपनी तरफ आकर्षित कैसे करें, logo ko apni taraf aakarshit kaise karen,

<< पिछले पेज पर जाएँ अगले पेज पर जाएँ >>

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Lal Kitab Remedies For Success in Business

Remedies For Improve in Business11.Take a piece of raw cotton thread and color / dye it with saffron....

पथरी की दवा | पथरी के देशी नुश्खे

पथरी के देसी नुस्खेPathri ka desi nuskheवर्तमान समय में पथरी की समस्या ( pathri Ki Samasya )...

कार्तिक पूर्णिमा का महत्त्व, kartik purnima ka mahatwa,

कार्तिक पूर्णिमा का महत्त्व, kartik purnima ka mahatwa,सृष्टि के प्रारम्भ से ही कार्तिक...

खुजली के उपाय, khujli ke upay,

खुजली के उपाय, khujli ke upay,त्वचा पर खुजली दाद हो जाने, फोड़े-फुंसी हो जाना बरसात आदि के मौसम...
Translate »