Monday, June 27, 2022
Home Hindi पंचांग शुक्रवार का पंचांग, Shukrwar ka panchag, 24 जून 2022 का पंचांग,

शुक्रवार का पंचांग, Shukrwar ka panchag, 24 जून 2022 का पंचांग,

आप सभी को योगिनी एकादशी की हार्दिक शुभकामनायें

गुरुवार का पंचांग शनिवार का पंचांग

शुक्रवार का पंचांग, Shukrwar ka panchag,

24 जून 2022 का पंचांग, 24 June 2022 ka Panchang,

शुक्रवार का पंचांग, shukrwar ka panchang,

  • Panchang, पंचाग, Panchang 2021, हिन्दू पंचाग, Hindu Panchang, पाँच अंगो के मिलने से बनता है, ये पाँच अंग इस प्रकार हैं :-

    1:- तिथि (Tithi)
    2:- वार (Day)
    3:- नक्षत्र (Nakshatra)
    4:- योग (Yog)
    5:- करण (Karan)


    पंचाग (panchang) का पठन एवं श्रवण अति शुभ माना जाता है इसीलिए भगवान श्रीराम भी नित्य पंचाग (panchang) का श्रवण करते थे ।
    जानिए, शुक्रवार का पंचांग, Shukravar Ka Panchang, आज का पंचांग, aaj ka panchang,
  • महालक्ष्मी मन्त्र : ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:॥
  •  
  • ॐ श्री महालक्ष्म्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात् ॐ॥


आज का पंचांग, aaj ka panchang,

  • दिन (वार) – शुक्रवार के दिन दक्षिणावर्ती शंख से भगवान विष्णु पर जल चढ़ाकर उन्हें पीले चन्दन अथवा केसर का तिलक करें। इस उपाय में मां लक्ष्मी जल्दी प्रसन्न हो जाती हैं।

    शुक्रवार के दिन नियम पूर्वक धन लाभ के लिए लक्ष्मी माँ को अत्यंत प्रिय “श्री सूक्त”, “महालक्ष्मी अष्टकम” एवं समस्त संकटो को दूर करने के लिए “माँ दुर्गा के 32 चमत्कारी नमो का पाठ” अवश्य ही करें ।
    शुक्रवार के दिन माँ लक्ष्मी को हलवे या खीर का भोग लगाना चाहिए ।

    शुक्रवार के दिन शुक्र ग्रह की आराधना करने से जीवन में समस्त सुख, ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है, दाम्पत्य जीवन सुखमय होता है बड़ा भवन, विदेश यात्रा के योग बनते है।
  • *विक्रम संवत् 2079 ,
  • * शक संवत – 1944,
    *कलि संवत – 5124
    * अयन – उत्तरायण,
    * ऋतु – ग्रीष्म ऋतु,
    * मास – आषाढ़ माह
    * पक्ष – कृष्ण पक्ष
    *चंद्र बल – मेष, कर्क, कन्या, वृश्चिक, धनु, मीन,
Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

राशिनुसार जन्माष्टमी, Rashianusar Janmashtami,

राशिनुसार जन्माष्टमी, Rashianusar Janmashtami,भगवान श्रीकृष्ण द्वारका के राजा थे उन्होंने द्वारका नगरी बसाई थी इसलिए उन्हें द्वारकाधीश...

navratri ke totke, नवरात्री के टोटके, नवरात्री 2022,

navratri ke totke, नवरात्री के टोटके,हर व्यक्ति चाहता है कि उसे इस संसार में सभी सुखो की प्राप्ति...

माता के भोग, mata ke bhog, नवरात्रि 2022,

नवरात्रि में माता के भोग, navratri men mata ke bhog,नवरात्र का हिन्दु धर्म में अति विशेष महत्व है...

तुलसी के अचूक उपाय, tulsi ke achuk upay,

तुलसी के अचूक उपाय, tulsi ke achuk upay,जो जातक रविवार, संक्रांति, ग्रहण को छोड़कर नित्य...
Translate »