Home Hindi गंभीर रोग कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar,

कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar,

528
cholesterol-kaise-kam-kare1

कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar,

हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल cholesterol का उत्पादन लिवर करता है यह एक वसायुक्त तत्व है । कोलेस्ट्रॉल cholesterol शरीर के नर्वस सिस्टम के सुरक्षा कवच, हॉर्मोंस के निर्माण और कोशिकाओं की दीवारों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर में प्रोटीन के साथ मिलकर लिपोप्रोटीन बनाता है, जो हमारे खून में फैट को घुलने से रोकता है।

हमारे शरीर में दो तरह के कोलेस्ट्रॉल cholesterol होते हैं- एचडीएल (हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन, गुड कोलेस्ट्रॉल, good cholesterol) और एलडीएल (लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन, बैड कोलेस्ट्रॉल, bad cholesterol)। गुड कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल काफी हल्का होता है जो ब्लड वेसेल्स में जमे फैट को अपने साथ बहा ले जाता है।

बैड कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल काफी गाड़ा और चिपचिपा सरीखा होता है। अगर शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो तो यह ब्लड वेसेल्स और आर्टरी के दीवारों पर जम जाता है, इसके कारण शरीर में खून के बहाव में अवरोध होने लगता है।

अवश्य पढ़ें :- जानिए कैसा हो खिड़कियों का वास्तु , जिससे जिससे वहाँ के निवासियों को मिले श्रेष्ठ लाभ

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना सेहत के लिए हानिकारक होता है और इसके बढ़ने से कई गंभीर समस्याएं जैसे हार्ट अटैक, हाई ब्लडप्रेशर आदि हो सकती हैं।

एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में कोलेस्ट्रॉल की कुल मात्रा 200 मि.ग्रा/डीएल से कम, इसमें एचडीएल 60 मि.ग्रा. से अधिक और एलडीएल 100 मि.ग्रा से कम होना चाहिए। कोलेस्ट्रॉल की जाँच के लिए लिपिड प्रोफाइल नाम का ब्लड टेस्ट कराया जाता है।

यहाँ पर हम आपको कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) को कम करने / नियंत्रित करने के कुछ घरेलू नुस्खो के बारे में बता रहे है जिनसे आपको अवश्य ही लाभ प्राप्त होगा ।
जानिए, कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar, कोलेस्ट्रॉल का इलाज, cholestero ka ilaj, कोलेस्ट्रॉल के उपाय, cholesterol ke upay,

कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar,

* कोलेस्ट्राल ( cholesterol ) को कम करने / नियंत्रित रखने के लिए लहसुन का नित्य सुबह खाली पेट सेवन अवश्य ही करना चाहिए । लहसुन एक सल्फर युक्त एंटी-ऑक्सीडेंट है जो कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) लेवल को नियंत्रित करने में बहुत ही अहम भूमिका का निर्वाह है।
लहसुन ना केवल बुरे कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) एलडीएल को कम करता है इससे अच्छा कोलेस्ट्रोल एचडीएल भी बड जाता है ।

* एक चम्मच अर्जुन की छाल का चूर्ण और एक चौथाई दाल चीनी पाउडर २ गिलास पानी में या एक गिलास गाय का दूध और एक गिलास पानी दोनों को मिक्स कर के इस में आधा रहने तक पकाये, और फिर छान कर सोने से पहले पी ले।

अवश्य पढ़ें :-  मनचाही नौकरी चाहते हो, नौकरी मिलने में आती हो परेशानियाँ  तो अवश्य करें ये उपाय 

* एक पानी से भरा गिलास में दो चम्‍मच मेथी दाना डाल कर उसे रात में भिगो दें। सुबह इस पानी को छानकर खाली पेट पी जाएं और उन मेथी के दानो को चबा चबा कर खा लें | रात भर पानी में मेथी भिगोने से पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण बढ जाते हैं।
इसका नित्य सेवन करने से शरीर से खराब कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल कम होकर अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल बढ़ता है।

* कोलेस्ट्रोल ( cholesterol ) को रोकने में ओट्स सबसे बड़ा सहायक होता है । ओट्स में फाइबर प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होते हैं जिसमें बीटा ग्लुकन होता है; यह फाइबर घुलनशील होता है और रक्त में कोलेस्ट्रोल के संचार को रोकता है।

* सुबह खली पेट लौकी का जूस बनाये ५ पत्ते तुलसी और ५ पत्ते पोदीना के मिला कर, अब इसमें स्वादानुसार सेंधा नमक मिला कर पी ले।

* खाने में सोयाबीन, मक्के के तेल का अवश्य प्रयोग करें इससे भी कोलेस्ट्राल ( cholesterol ) नियंत्रित रहता है । सोया तेल और मक्के के तेलों में स्टेराल होता है जो ना केवल एलडीएल को कम करता है वरन कोलेस्ट्रोल की कुल मात्रा को भी कम करता है ।

* हाल में हुए अध्ययनों में पता लगा है कि ग्रीन टी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में कारगर है। जो लोग ज्यादा चाय ग्रीन टी पीते हैं उनमें कोलेस्ट्रॉल कम होने के साथ साथ स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याएँ भी कम हो जाती हैं।

अवश्य पढ़ें :-  चाहते है बेदाग, गोरी त्वचा तो तुरंत करें ये उपाय, आप खुद भी आश्चर्य चकित हो जायेंगे

* अपने भोजन में ब्राउन राइस को लेना शुरू करें । ब्राउन राइस को पूरी तरह से प्रोसेस नहीं किया जाता बल्कि इसके सिर्फ बाहरी छिलके उतारे जाते हैं। इस कारण से चावल न सिर्फ प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है बल्कि इसमें विटामिन और मिनरल भी बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होते हैं। इसलिए अपने डाइट में सामान्य चावल की जगह ब्राउन राइस को शामिल करें ।

* मछली का तेल से भी अधिक कोलेस्ट्रॉल/ बुरे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायता मिलती है ।

* हल्दी हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक है । यह ह्रदय के लिए कवच का काम करती है। हल्दी शरीर में एलडीएल के लेवल को भी कम करती है । इसलिए हमें इसका नित्य सेवन अनिवार्य रूप से करना चाहिए ।

* रोज 50 ग्राम कच्चा ग्वारपाठा खाली पेट खाने से खून में कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है।

* अंकुरित दालों को अपने भोजन में अवश्य ही शामिल करें ।

* लहसुन, प्याज, इसके रस उपयोगी हैं। — नींबू, आंवला जैसे भी ठीक लगे, प्रति दिन लें।

* इसबगोल के बीजों का तेल आधा चम्मच दिन में दो बार।

* अगर आप दूध पीते हैं तो उसमे थोडा सा दालचीनी पाउडर डाल दें इससे आपका कोलेस्ट्रोल कण्ट्रोल में रहेगा ।

अवश्य पढ़ें :- इन उपायों से पीलिया / जॉन्डिस से होगा बचाव,  जानिए पीलिया के अचूक उपाय

* रात के समय धनियाँ के दो चम्मच एक गलास पानी में भिगो दें। प्रात: हिलाकर पानी पी लें। धनियाँ को चबाकर निगल जाएं |

* अपने भोजन में अदरक, लहसुन, धनियाँ, पुदीना,आंवला, हींग, अजवाईन आदि की चटनी नियमित रूप से अवश्य ही ले ।

कोलेस्ट्रॉल, cholestero, कोलेस्ट्रॉल के उपचार, cholesterol ke upchar, कोलेस्ट्रॉल का इलाज, cholestero ka ilaj, कोलेस्ट्रॉल के उपाय, cholesterol ke upay, गुड कोलेस्ट्रॉल, good cholesterol, बैड कोलेस्ट्रॉल, bad cholesterol,

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »