Home Hindi पर्व त्योहार अक्षय तृतीया पर क्या खरीदें

अक्षय तृतीया पर क्या खरीदें

813
Akshya-Trtiya-Par-khariden

अक्षय तृतीया पर क्या खरीदें

kalash

अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya, वो शुभ तिथि है जब कोई भी काम बिना मुहूर्त को देखे भी किया जा सकता है, मान्यता है कि इस शुभ तिथि पर किए गए कार्यो में सफलता की सम्भावनाएं बहुत बढ़ जाती है | वैसे तो हम लोग पूरे वर्ष ही कुछ ना कुछ खरीददारी करते है लेकिन माना जाता हैं इस दिन जो भी खरीदा जाता है उसमें दिनदूनी रात चौगुनी वृद्धि होती है | इस दिन शुभ वस्तुओं की खरीददारी से माँ लक्ष्मी अति प्रसन्न होती है घर में अन्न धन का भंडार भरा रहता है |

जानिए अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya के दिन क्या ख़रीदे, Janiye akshaya tritiya ke din kya khariden, अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya के दिन क्या खरीदना शुभ रहेगा, अक्षय तृतीया के दिन क्या करे खरीददारी

kalash

मान्यता है कि अक्षय तृतीय के दिन सोने चाँदी के गहने / बर्तन , संपत्ति में खरीदारी अथवा और भी कई जगह निवेश से लाभ मिलता है । इस दिन हर व्यक्ति समार्थ्य के अनुसार कुछ ना कुछ शुभ वस्तुएँ अवश्य ही खरीदनी चाहिए |
लेकिन इस बार इस दिन एक अलग खरीददारी करें इससे निश्चय ही आपके घर परिवार में सुख समृद्धि की कोई भी कमी नहीं रहेगी , आपका भाग्य चमकने लगेगा ।

kalash

इस अक्षय तृतीय पर स्फुटिक श्रीयंत्र, दक्षिणवर्ती शंख, व्यापार वृद्धि यंत्र, वीसा यन्त्र, आदि की अति शुभ खरीददारी करें यदि संभव हो तो इनमें कुछ यंत्रो को चाँदी में बना हुआ खरीदें ।
इन्हे कच्चे दूध तथा गंगा जल से धोकर उसे अपने घर के मंदिर या धन रखने के स्थान में चाँदी की प्लेट या लाल कपड़ा बिछाकर उसके ऊपर अखण्डित अक्षत ( साबुत चावल जो टूटे हुए ना हो ) रखकर उसके ऊपर स्थापित करें , फिर इन पर चन्दन से तिलक करके इन्हे नित्य धूप , अगरबत्ती दिखाते रहे ।

kalash

इससे उस घर में भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी कृपा रहती है, घर धन धान्य से भरा रहता है | उस घर के सदस्यों को ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है ।

kalash

अगर यह यंत्र आपके पास पहले से ही है तो आप उन्हें गंगाजल से धोकर उनको चावल के ऊपर स्थापित करें । इस उपाय को करने से आपको दिनों दिन अपने जीवन में उल्लेखनीय परिवर्तन नज़र आएगा ।

kalash

इस द‌िन सोने या चांदी की माँ लक्ष्मी की चरण पादुका को खरीदें और इसको घर / कारोबार की तिजोरी में स्थापित करके इसकी न‌ियम‌ित पूजा करें। मान्यता है कि जहां माँ लक्ष्मी के चरण पड़ते हैं वहां किसी भी वस्तु का अभाव नहीं रहता है।

kalash

अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya के द‌िन माँ लक्ष्मी की पारद की मूर्ति अथवा भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी की पारद की मूर्ति को अपनी तिजोरी में स्थापित करके इनकी न‌ियम‌ित पूजा करें। शास्‍त्रों के अनुसार जहाँ पर देवी लक्ष्मी की पारद की प्रत‌िमा जहां होती है वहाँ पर धन का कभी भी अभाव नहीं रहता है।

kalash

माना जाता है की कौड़ियों में देवी लक्ष्मी को आकर्ष‌ित करने की क्षमता होती है क्योंकि कौड़‌ियां भी माँ लक्ष्मी के समान ही समुद्र से उत्पन्न हुई हैं।
अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya के दिन कौड़ियों को खरीद कर अपने धन स्थान पर रखे, कौड़ियों की न‌ियम‌ित रूप से केसर / हल्‍दी से पूजा करने से आर्थ‌िक परेशान‌ियों नहीं सताती है |

kalash

अक्षय तृतीया के दिन एक मोती शंख खरीदें | फिर इस कोे तिलक करके लाल वस्त्र में बांधकर तिजोरी में रख दें। इससे घर में धन की बरकत बनी रहेगी।

kalash

अक्षय तृतीया के दिन 5 /10 रुपये का साबुत धनिया ख़रीदे फिर इसे चांदी की कटोरी /डिबिया /बर्तन /लाल कपडे में रखकर तिजोरी में स्थापित कर दे | इस शुभ दिन तिजोरी में साबुत धनिया रखने से माँ लक्ष्मी की पूर्ण कृपा बनी रहती है |

kalash

अक्षय तृतीया पर चाँदी की कोई भी वस्तु खरीदना अत्यंत शुभ माना जाता है | इसलिए यदि संभव हो तो इस दिन चाँदी अवश्य ही खरीदें |

kalash

वैसे तो आमतौर पर तीन आंखों वाले नार‌ियल म‌िलते हैं। लेक‌िन ऐसा नारियल जिसकी एक आंख होती है, इसे एकाक्षी नारियल कहते है और ऐसे नार‌ियल को लक्ष्मी का स्वरूप माना जाता है। अक्षय तृतीय के द‌िन एकाक्षी नारियल को खरीद कर इसे घर में पूजा स्‍थान में स्‍थाप‌ित करने से देवी लक्ष्मी की कृपा प्राप्‍त होती है।

kalash

अक्षय तृतीय के दिन क्रिस्टल / स्फुटिक का कछुवा खरीदने से आरोग्य की प्राप्ति होती है, घर के सदस्यों को रोग नहीं सताते है |

kalash

इस दिन भूमि, भवन, वाहन ,सोने चांदी , बर्तन और कपड़े की खरीदारी भी शुभ फलदायी साबित साबित होती है । लेकिन यह ध्यान रहे की अक्षय तृतीया के दिन धन का अपव्यय ना हो, इस दिन विलासता का गैर जरुरी सामान ना खरीदें | एक बात का विशेष ध्यान रखे कि इस दिन किसी से भी उधार ले कर खरीददारी ना करें और ना ही किसी को उधार ही दें |

kalash

इस दिन अपने सामर्थ के अनुसार अपने माता पिता ,बड़े बुजुर्ग और अपने गुरु को उपहार देकर उनका आशीर्वाद अवश्य ही लेना चाहिए , उनके साथ कुछ समय भी बिताना चाहिए । इस दिन मिला हुआ आशीर्वाद वरदान साबित होता है , और जीवन में सच्चे ह्रदय से मिले आशीर्वाद का कोई भी मोल नहीं है ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »