Tuesday, June 28, 2022
Home Hindi युवाओं के उपाय वजन कम, करने के उपाय, vajan kam karne ke upay,

वजन कम, करने के उपाय, vajan kam karne ke upay,

वजन कम करने के उपाय, vajan kam karne ke upay,

इस विश्व में सभी मनुष्य चाहते है कि वह स्लिम, स्मार्ट और खूबसूरत नज़र आएं । अगर किसी का वजन ज्यादा है, उसका पेट बाहर निकला है तो वह उसके लिए क्या क्या उपाय और जतन नहीं करता है । प्रकृति ने हमारी आपकी रसोई घर में ही कई ऐसे मसाले, खाद्य पदार्थ दिए है जिनका उपयोग करके हम अपने वजन को पूरी तरह से नियंत्रित कर सकते है,

जीरा स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक माना जाता है । इसमें मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिंक, फास्फोरस, मैगनीज़ और लौह तत्व प्रचुर मात्रा में होता है ।

इसके सेवन से शरीर मे वसा का अवशोषण कम होता है जिससे स्वाभाविक रूप से वजन तेजी से कम होता है , कैलोस्ट्राल नियंत्रित रहता है , हार्ट अटैक से बचाव होता है , खून की कमी दूर होती है, पाचन तंत्र ठीक कर गैस और ऐंठन ठीक करता है और पेट की समस्याएँ भी नहीं होती है ।

जीरे में विटामिन ‘ई’ भी पाया जाता है, जो हमारी त्वचा के लिए अत्यन्त लाभदायक होता है। जीरे में कुछ ऐसे तत्व भी मौजूद होते हैं जो हमारी त्वचा को किसी भी तरह के संक्रमण से दूर रखते हैं। जीरा चेहरे की त्वचा में निखार लाकर उसमें कसाव लाता है, आप लम्बे समय तक जवान दिखते है।

कच्ची हल्दी में एंटीबैक्टीरियल और एंटी सेप्टिक गुण होते हैं। कच्ची हल्दी में हल्दी पाउडर की तुलना में ज्यादा गुण होते हैं। इसमें इंफेक्शन से लडने के गुण भी पाए जाते हैं। हल्दी के लगातार इस्तेमाल से कोलेस्ट्रोल सेरम का स्तर शरीर में कम बना रहता है।

हल्दी में वजन कम करने का गुण पाया जाता है। इसका नियमित उपयोग से वजन कम होने की गति बढ़ जाती है। कच्ची हल्दी में इंसुलिन के स्तर को संतुलित करने का गुण होता है। इस प्रकार यह मधुमेह रोगियों के लिए बहुत लाभदायक होती है।

हल्दी में सूजन को रोकने का खास गुण होता है। इसका उपयोग गठिया रोगियों को अत्यधिक लाभ पहुंचाता है। कच्ची हल्दी में कैंसर से लड़ने के गुण होते हैं।

“वजन Vajan को कम करने के लिए रात में 2 चम्मच जीरे को आधा लीटर पानी में भिगो कर रख दें । फिर सुबह इसे उबाल कर छान लें, अब थोड़ा ठंडा होने पर ( गुनगुने से ज्यादा गर्म रहने पर ) इसके पानी में एक चम्मच शहद और चौथाई चम्मच काला अथवा सेंधा नमक डालकर एक बड़ा नीम्बू निचोड़ कर , चौथाई चम्मच हल्दी को मिलाकर ( या चौथाई चम्मच हल्दी को फाँक कर) इस पानी को घूँट घूँट कर पी लें और जीरे को चबा चबा कर खाएं । इसके एक घंटे तक कुछ भी ना लें ।”

इसके नित्य सेवन करने से शरीर के कोने कोने से चर्बी निकलने लगती है , बाहर निकला पेट अंदर होने लगता है और वजन एक ही महीने में प्राकृतिक तरीके से 4 किलो तक कम हो जाता है ।

अच्छे और तेज परिणाम पाने के लिए उपरोक्त के साथ साथ रात में एक यह भी उपाय अवश्य ही करें । अदरक और नींबू दोनों ही वजन कम करने में सहायक होते है और जीरे की वजन कम करने की क्षमता को और भी बढ़ाते हैं।

रात में गाजर , टमाटर और थोड़ी हरी सब्ज़ियों को हल्दी , नमक , जीरा और काली मिर्च डाल कर उबाल लें । फिर छान कर इसके सूप का गर्मागर्म सेवन करें और उन उबली हुई सब्जियों के ऊपर अदरक को कद्दूकस अर्थात बिल्कुल बारीक करके, भुना हुआ जीरा और नींबू का रस निचोड़ कर उसका सेवन करें । इससे शरीर को ताकत मिलेगी कमजोरी नहीं आएगी और एक माह में ही शरीर से चर्बी गलने लगेगी ।

लेकिन जिन्हें एलर्जी है, पथरी की शिकायत है, माइग्रेन की समस्या है, खून की कमी है, जिनकी जल्दी में सर्जरी हुई है उन्हें कच्ची हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए । जो मधुमेह के रोगी मधुमेह की दवाएं ले रहे है उन्हें भी इसका कम उपयोग करना चाहिए क्योंकि हल्दी के लगातार सेवन से ब्लड शुगर कम हो सकता है।

इन उपायों को करते समय यह भी ध्यान रखें कि नित्य कम से कम एक मील पैदल चलने की आदत अवश्य ही डालें, खाना बिस्तर पर ना खाएं , खाने के साथ पानी का सेवन ना करें । पानी खाना खाने के एक घंटे बाद पिएं । दिन में कभी भी दो बार एक एक गिलास गर्म पानी पीने की आदत डालें ।

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

‘ब्रह्ममुहूर्त’ में जागने से फायदे | Brahm Muhurt Me jagne se fayde

'ब्रह्ममुहूर्त' में जागने से फायदे | Brahm Muhurt Me jagne se faydeहिन्दु धर्मानुसार जीवन में सुखद और...

रविवार का पंचांग, Raviwar Ka Panchag, 26 जून 2022 का पंचांग,

सोमवार का पंचांगशनिवार का पंचांगPreview(opens in a new tab)

Rashi Anusar Raksha Bandhan, राशिनुसार रक्षाबंधन,

राशिनुसार मनाएं रक्षा बंधन, Rashi Anusar Manayen Raksha Bandhan,राखी भाई बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार...

मौनी अमावस्या का महत्त्व, mauni amavasya ka mahtv, mauni amavasya 2022,

मौनी अमावस्या का महत्त्व, mauni amavasya ka mahtv,मौनी अमावस्या 2022
Translate »