Saturday, April 17, 2021
Home Hindi तिल विचार तिल विचार | Til Vichar | Til Hona

तिल विचार | Til Vichar | Til Hona

शरीर पर तिल होने का फल

मित्रों हमारे शरीर पर कई प्रकार के जन्म से अथवा जीवन काल के दौरान निकले हुए निशान पाए जाते हैं। जिन्हे हम तिल या मस्सा के नाम से जानते हैं। शास्त्रों के अनुसार शरीर पर पाए गए यह निशान हमारे भविष्य और चरित्र के बारे में बहुत कुछ दर्शाते हैं। तिल तथा मस्से का होना दोनों का एक ही प्रभाव होता है। तिल से हमारे शारीरिक, आर्थिक एवं चरित्र के बारे में भी काफी कुछ मालूम पड़ता है । आइये हम यहाँ पर आपको शरीर के विभिन्न हिस्सों पर तिल के प्रभाव के बारे में बताते है …..


शरीर पर तिल होने का फल

माथे पर –  बलवान हो ।

माथे के दाहिनी ओर –  धन हमेशा बढ़ता रहेगा।

माथे के बायीं ओर  जीवन में संकटों की अधिकता रह सकती है ।

ठुड्डी पर –  स्त्री से प्रेम न रहे, स्त्री से मनमुटाव रहे ।

दोनों भौहों पर –  अधिकांश समय यात्रा में बितेगा ।

दाहिनी आंख –  पराई स्त्री से प्रेम होना ,अच्छे प्रेम संबंध होना ।

बायीं आंख पर –  स्त्री से कलह होना ,घोर चिंता और दुख मिल सकता है ।

दाहिनी गाल पर –  धनवान, किन्तु घमंडी होए ।

बायीं गाल पर –  खर्च बढता रहे।

होंठ पर –  विषय-वासना में रमा रहे, कामुक हो।

होंठ के नीचे –  निर्धनता हो सकती है।

बाएँ कान के सामने की –  व्यक्ति रहस्यमयी होता है, ऐसे व्यक्ति का विवाह अधिक उम्र होने के पश्चात् होए।

बाएँ कान के पीछे –  व्यक्ति के ग़लत कार्यो के प्रति झुकाव हो।

दाँए कान के सामने –  व्यक्ति बहुत कम आयु में ही धनवान हो व्यक्ति का जीवन साथी सुंदर होए ।

दाँए कान के पीछे –  कान में किसी भी प्रकार के रोग होने की सम्भावना होए ।

गर्दन पर –  ऐशों आराम मिले ।

Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-12-11 04:12:55 PM

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

shraddha ka adhikar, श्राद्ध का अधिकार,

shraddha ka adhikar, श्राद्ध का अधिकार,श्राद्ध का अधिकार किसे है, किसे करना चाहिए श्राद्ध,

ड्राइंग रूम का वास्तु, drawingroom ka vastu,

ड्राइंग रूम का वास्तु, drawingroom ka vastu,आपके घर का ड्रॉइंग रूम Drawing Room / स्वागत कक्ष Swagat...

Gurudwara Nankana Sahib

Nankana Sahib Temple Nankana Sahib is located in Pakistan about 50 miles west of Lahore. Originally known as Raipur,...

Solution of Pitradosh

Solution of PitradoshIn the modern era, many people ignore their Parents, Elders and Forefathers because of their busy life...
Translate »