Home Hindi गंभीर रोग कैंसर में क्या खायें क्या नहीं | कैंसर के उपचार | Cancer

कैंसर में क्या खायें क्या नहीं | कैंसर के उपचार | Cancer

368
cancer-me-kya-khana-chahiye-kya-nahi

कैंसर में क्या खाना चाहिए
Cancer Me kya Khana Chahiye

hand-logoलाल, नीले, पीले और जामुनी रंग की फल-सब्जियां जैसे टमाटर, जामुन, काले अंगूर, अमरूद, पपीता, तरबूज आदि खाने से कैंसर का खतरा cancer ka khatra कम हो जाता है। इनको ज्यादा से ज्यादा अपने भोजन में शामिल करें ।

hand-logoहल्दी का अपने खाने में प्रतिदिन सेवन करें । हल्दी ठीक सेल्स को छेड़े बिना ट्यूमर के बीमार सेल्स की बढ़ोतरी को धीमा करती है।

hand-logoहरी चाय स्किन, आंत ब्रेस्ट, पेट , लिवर और फेफड़ों के कैंसर को रोकने में मदद करती है। लेकिन यदि चाय की पत्ती अगर प्रोसेस की गई हो तो उसके ज्यादातर गुण गायब हो जाते हैं।

hand-logoसोयाबीन या उसके बने उत्पादों का प्रयोग करें । सोया प्रॉडक्ट्स खाने से ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर की आशंका कम होती है। यह कैंसर का सर्वश्रेष्ठ आहार cancer ka aahar है ।

hand-logoबादाम, किशमिश आदि ड्राई फ्रूट्स खाने से कैंसर का फैलाव रुकता है। यह कैंसर के आहार, cancer ke aahar में बहुत उपयोगी सिद्ध होता है ।

hand-logoपत्तागोभी, फूलगोभी, ब्रोकली आदि में कैंसर को ख़त्म करने का गुण होता है।

hand-logoकैंसर के इलाज / बचाव में लहसुन बहुत ही प्रभावी है । इसलिए रोज लहसुन अवश्य खाएं। इससे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है।

hand-logoरोज नींबू, संतरा या मौसमी में से कम-से-कम एक फल अवश्य ही खाएं। इससे मुंह, गले और पेट के कैंसर की आशंका बहुत ही कम हो जाती है।

hand-logoऑर्गेनिक फूड का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें ,ऑर्गेनिक यानी वे दालें, सब्जियां, फल जिनके उत्पादन में पेस्टीसाइड और केमिकल खादें इस्तेमाल नहीं हुई हों।

hand-logoपानी पर्याप्त मात्रा में पीएं, रोज सुबह उठकर रात को ताम्बे के बर्तन रखा 3-4 गिलास पानी अवश्य ही पियें ।

hand-logoरोज 15 मिनट तक सूर्य की हल्की रोशनी में बैठें।

hand-logoनियमित रूप से व्यायाम करें।

hand-logoकैंसर का पता लगने पर दूध या दूध के बने पदार्थों का उपयोग बंद कर दें । इनसे व्यक्ति को नहीं वरन कैंसर के बैक्टीरिया को ताकत मिलती है ।

hand-logoनियमित रूप से गेंहू के पौधे के रस का सेवन करें । यह कैंसर का सर्वश्रेष्ठ आहार cancer ka aahar है ।

hand-logoतुलसी और हल्दी से मुंह में होने वाले इस जटिल रोग का इलाज संभव है।वैसे तो तुलसी और हल्दी में कुदरती आयुर्वेदिक गुण होते ही हैं मगर इसमें कैंसर रोकने वाले महत्वपूर्ण एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व भी होते हैं। तुलसी इस रोग में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा देती है। घाव भरने में भी तुलसी मददगार होती है।

hand-logoएक से अधिक साथी से यौन सम्बन्ध न रखने से भी मासाने व गर्भास्य के कैंसर से बचा जा सकता है।

hand-logoअनार का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें अनार कैंसर के इलाज खासकर स्तन कैंसर में बहुत ही प्रभावी माना गया है ।

hand-logoकैंसर होने पर आधी बड़ी चम्मच कलौंजी के तेल को एक गिलास अंगूर के रस में मिलाकर दिन में तीन बार लें । कैंसर के मरीज को लहसुन भी खुब खाना चाहिए ।

hand-logoकैंसर के मरीज को 2 किलो गेहूँ और 1 किलो जौ के मिश्रित आटे की रोटी लगातार कम से कम 40 दिन तक खिलाएं। इसके साथ आलू, अरबी और बैंगन से परहेज़ करें।

hand-logoहल्दी कैंसर में बहुत ही लाभदायक है । हल्दी में कर्कुमिन नाम का एक प्राकर्तिक रूप से पाया जाने वाला कैमिकल पाया जाता है जो कैंसर कोशिकायों को मार सकता है।

इस साइट के सभी आलेख शोधो, आयुर्वेद के उपायों, परीक्षित प्रयोगो, लोगो के अनुभवों के आधार पर तैयार किये गए है। किसी भी बीमारी में आप अपने चिकित्सक की सलाह अवश्य ही लें। पहले से ली जा रही कोई भी दवा बंद न करें। इन उपायों का प्रयोग अपने विवेक के आधार पर करें,असुविधा होने पर इस साइट की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »