Wednesday, August 12, 2020
Home Hindi ग्रहो के उपाय राहु ग्रह के उपाय | Rahu Grah Ke Upay

राहु ग्रह के उपाय | Rahu Grah Ke Upay

Kalash One Image राहु ग्रह के उपाय Kalash One Image
Kalash One Image Rahu Grah Ke Upay Kalash One Image

Kalash One Image राहु को अनुकूल कैसे करें Kalash One Image
Kalash One Image Rahu Ko anukul kaise karen Kalash One Image

राहु ग्रह Rahu Grah का शुभाशुभ प्रभाव एवं राहु ग्रह के उपाय Rahu Grah Ke Upay ——-

Kalash One Image राहु के अशुभ प्रभाव के चलते आपको —

पेट के रोग, दिमागी रोग, पागलपन, खाजखुजली ,भूत -चुडैल का शरीर में प्रवेश, बिना बात के ही झूमना, नशे की आदत लगना,
गलत स्त्रियों या पुरुषों के साथ सम्बन्ध बनाकर विभिन्न प्रकार के रोग लगा लेना,
शराब और शबाब के चक्कर में अपने को बरबाद कर लेना, लगातार टीवी और मनोरंजन के साधनों में अपना मन लगाकर बैठना,घर में कपड़े आदि इधर उधर फैलाना,
कोई भी समान यथा स्थान न रखना , शरीर में आलस्यता का होना नींद का अधिक आना एवं कृत्रिम साधनो से अपने शरीर के राहु यानी वीर्य को झाडते रहना,
शरीर के अन्दर अति कामुकता का होना आदि पाया जाता है।

Kalash One Image कुंडली में राहु की अच्छी स्थि‍ति होने पर जातक हाजिर जवाब और अच्छा सलाहकार होता है। उसे भरपूर मान-सम्मान और पद प्राप्त होता है और वह हर मुसीबत से आसानी से निकल भी जाता है। ऐसे व्यक्ति के जीवन में कोई बड़ी अड़चन नहीं आती और वह हर प्रकार के सुख भोगने वाला होता है।

Kalash One Image यदि आपकी कुंडली में भी राहु ग्रह पीड़ित /कमजोर का होकर स्थित है तो करे निम्नलिखित उपाय और बनाये मजबूत—-

Kalash One Image राहु गृह को अनुकूल बनाने के उपाय Kalash One Image
Kalash One Image Rahu Grah ko anukul banna ke upay Kalash One Image

surya-grah-ke-upay

राहु यंत्र :- ( Rahu Yantr ) राहु के शुभ फलो हेतु राहु के यंत्र को धारण करना चाहिए। इस यंत्र को धारण करने से गुरु ग्रह के अशुभ प्रभाव दूर होते है। जातक को धन, आकस्मिक लाभ, सुख-समृद्धि, पराक्रम और यश की प्राप्ति होती है। राहु यंत्र को बुधवार के दिन शुभ चौघड़ियों में नीले / भूरे सूती या रेशमी धागे में बांध कर गले या बाँह में धारण करना चाहिए। एवं राहु यंत्र को नित्य या बुधवार के दिन अवश्य ही देखकर पढ़ना चाहिए।

( Rahu ka mantr ) राहु का तांत्रिक मन्त्र :- “ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः”।।

( Rahu ka mantr ) राहु पौराणिक मन्त्र :- ” ॐ रां राहवे नम:”।।

उपरोक्त दोनों मंत्रो में से किसी भी एक मन्त्र का विधिवत जाप कराने से राहु के अशुभ फल निश्चय ही दूर होते है। राहु मन्त्र का कम से कम 18000 या अधिकतम 72000 जप पूर्णतया फलदाई होता है।

राहु के दान :- ( Rahu ke dan ) यदि कुंडली में राहु अशुभ फल दे रहे हो तो बुधवार के दिन संध्या या रात्रि के समय गेंहू, नीला या भूरा वस्त्र, गोमेद, शीशा, काले तिल, जौ, सरसों का तेल, तिल का तेल, आदि किसी सात्विक ब्राह्मण को पूर्ण श्रद्धा से दक्षिणा सहित दान चाहिए, इससे राहु के अशुभ फल दूर होते है, शुभ फल मिलने लगते है।

राहू ग्रह के औषधि स्नान :- राहू ग्रह को अपने अनुकूल करने के लिए बुधवार के दिन प्रात: जल में कस्तूरी, लोबान आदि डालकर स्नान करने से राहू ग्रह के अनुकूल फल मिलते है।

Kalash One Image घर में किसी भी प्रकार का कबाड़ न रखें।

Kalash One Image छत को साफ रखें और सीढि‍यों पर भी सफाई रखें।

Kalash One Image बहनों का भूलकर भी अपमान न करें। तथा अपने ससुराल वालों का सम्मान करें।

Kalash One Image अपने वजन के बराबर कच्चा कोयला किसी राहु मंदिर में दिसंबर या जनवरी के महीने में दान करने से राहु पुष्ट होता है।

Kalash One Image इसके अलावा आपको जंग गले लोहे, तेजाब व नीली चीजों से सावधान रहना चाहिए।

Kalash One Image जमादार को शनिवार के दिन तंबाखू का दान करे ,तथा स्वयं इसका सेवन कदापि न करें।

Kalash One Image घर में नित्य शंख बजाएं।

Kalash One Image कुष्ट (कोढ़ी) व्यक्ति की मदद करे उसे दवा आदि का दान करे तथा उसे लगाने के लिए सुगंधित तेल का का दान भी करें।

Kalash One Image पांच मुखी रूद्राक्ष धारण करें। तथा नित्य द्वादश ज्योतिर्लिंगो के नामों का स्मरण करें।

Kalash One Image राहु के बीज मंत्र ॐ ऐं ह्रीं राहवे नमः इस मंत्र का 108. बार नित्य जप करे।

Kalash One Image शनिवार के दिन गाय को हरी दूब खिलावे, व मछलियों को दाना चुगाये(मॉस मछली आदि का सेवन न करें)।

Kalash One Image आफिस के तिजोड़ी में चांदी की मछली रखे एवं उसको नित्य टिका करे व धूप दीप दिखाये इससे आपके व्यापार में उन्नति होगी।

Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-11-24 06:17:00 PM

pandit-ji
ज्योतिषाचार्य डॉ० अमित कुमार द्धिवेदी
कुण्डली, हस्त रेखा, वास्तु
एवं प्रश्न कुण्डली विशेषज्ञ

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

तुलसी विवाह | तुलसी विवाह का महत्त्व

हिन्दू धर्म शास्त्रो में तुलसी का बहुत महत्व Tulsi Ka Mahtva है। शास्त्रो में तुलसी जी को "विष्णु प्रिया" कहा गया है।...

शनि की साढेसाती के चरण

शनि की साढेसाती के चरणShani ki Sade Sati ke Charan  साढ़ेसाती का पहले चरण...

देव दीपावली | देव दीपावली का महत्व

शास्त्रो में देव दीपावली Dev dipavali का अत्यंत महत्व है । मनुष्यो की दीपावली मनाने के एक पक्ष अर्थात 15 दिनों के...

Mahamratunjay Yantra

For attaining, Quick Relief from Ailments and a Disease–Free Home Maha Mrityunjay Mantra महामृत्युंजय...
Translate »