Home Hindi यंत्र मुकदमा विजय यंत्र | Mukadma Vijay Mantra

मुकदमा विजय यंत्र | Mukadma Vijay Mantra

703
mukadma-vijay-yantra

मुकदमा विजयी यन्त्र Mukadma Vijay Yantra के सम्पूर्ण पुण्य, व्यक्तिगत अशीर्वाद की प्राप्ति और मुकदमा में विजय प्राप्त Mukdma Me Vijay Prapt करने हेतु कुछ खास अचूक उपायों को जानने के लिए इस साईट पर लॉग इन करके अपने मुकदमा विजयी यन्त्र Mukadma Vijay Yantra के पेज पर जायें ।

1.    राणे जित्वा वैत्यायपहत शिरस्त्रेः कवधिभि,
      विर्वन्तेश्चंदाश त्रिपुरहर निर्मल्य विभुरेवैः,
      विशाखो न्द्रोयेन्द्रैः शशि विशद कपूर शकला
      विलीयन्ते भवास्त्व वदन ताम्बल कावलाः ।।

2.    हे चक्रधर !, हे चक्रपाणि !!, हे चक्रायुधधारी !!!

  • दोस्तों जब कोई व्यक्ति जीवन में कानून के चक्र में फँस जाता है..तो ना केवल वह वरन उसके पूरे परिवार को भी भय,और अनिश्चय की स्थिति का सामना करना पड़ता है…उन सभी को शारीरिक, आर्थिक, परिवारिक और सामाजिक सभी स्तरों पर यंत्रणा झेलनी पड़ती है ।
  • सामान्यता या तो व्यक्ति का दोष होता है या वह निर्दोष होते हुए भी इन कोर्ट कचहरी Court Kacheri के चक्करों मे फँसा रहता है ..यह सब उसके इस जन्म या किसी पूर्व जन्म के पापों / उसके परिवार के अन्य सदस्यों / पूर्वजों के पाप कर्मों का फल भी हो सकता है….इन कानूनी संकटों से बचने के लिए व्यक्ति को चाहिए की वह माँ काली से अपने / अपने परिजनो / पूर्वजो की जाने अनजाने की गयी गलतियों के लिए क्षमा प्रार्थना करें …..अगर जानकार गलती की है तो उसका पश्चाताप करें, और शपथ ले की वह भविष्य में कभी भी कोई गलत काम नही करेगा…बुराइयों से दूर रहे धर्म की राह में चलते हुए सभी लोगो से प्रेम दया और सदभाव का भाव रखे तो काली माँ उस पर अपनी कृपा अवश्य ही बनाती है ।
  • इस सिद्ध किए हुए मुकदमा विजयी यंत्र Mukadma Vijay Yantra के नित्य दर्शन / अर्चना करने से कोर्ट कचहरी Court Kacheri, जज, वकील एवं संबंधित लोगो पर इसका अत्यंत शीघ्र प्रभाव पड़ता है…और नयायालय संबंधी कार्यों में विजय की प्राप्ति होती है ।

दोस्तों अगर कोई भी व्यक्ति कोर्ट कचहरी Court Kacheri, मुक़दमे Mukdme में फँसा हो, संदेह और अस्थिरता बनी रहती है,तो यहाँ पर प्रतिष्ठित सिद्ध “मुक़दमा विजयी यंत्र” Mukadma Vijay Yantra और कुछ खास उपाय से निश्चित ही लाभ प्राप्त करें,बिलकुल भी देर न करें…

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »