Home Hindi राशिनुसार उपाय राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay,

राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay,

738
rog-nivaran-ke-upay-1

राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay,

दोस्तों स्रष्टि के प्रारम्भ से ही मनुष्य किसी ना रोगो बिमारियों से ग्रसित रहा है, और जब तक मनुष्य का शरीर है तब तो यह चलता ही रहेगा । वस्तुत: इस पृथ्वी पर कोई बिरला ही होगा जिसे कभी भी कोई रोग ना हुआ हो, कभी बीमारी के लक्षण समय से पकड़ में आ जाते है और कई बार ऐसा भी होता है की हमें रोगों को पहचानने में देर हो जाती है जिससे गंभीर संकट का सामना भी करना पड़ता है ।

यह बिलकुल सत्य है की रोग आने पर अच्छे चिकित्सक के पास ही जाना चाहिए लेकिन यह भी सत्य है की ज्योतिष शास्त्र में अपनी राशि के अनुसार कुछ खास नियमो , उपायों, को अपनाकर न केवल रोगों से बचा ही जा सकता है वरन रोग हो जाने पर भी बीमार व्यक्ति शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकता है ।
यहाँ पर हम कई ऐसे राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay, बता रहे है जिनको करने से निश्चित ही लाभ की प्राप्ति होगी।

जानिए रोग निवारण के उपाय, rog nivaran ke upay, राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay, रोग दूर कैसे करें, rog dur kaise karen,

राशिनुसार रोग निवारण के उपाय, rashi anusar rog nivaran ke upay,

1. मेष राशि : मेष राशी के जातक रोजाना त्रिफला चूर्ण रात में भिगो दें और सुबह उसे छान कर खाली पेट सेवन करें । आपको सलाह है कि आप लाल रंग कि बोतल में पानी को धूप में कम से कम 6-7 घंटे रखे और प्रतिदिन शाम को वह पानी अवश्य पीये।

2. वृष राशि : वृषभ राशी के जातक काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी का चूर्ण बना लें और प्रतिदिन रात के भोजन के बाद उसका अवश्य ही सेवन करें ।
इस राशी के जातक सफ़ेद रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उस पानी का रोज़ाना नियम से सेवन करें।

3. मिथुन राशि : मिथुन राशी के जातक भी रोजाना त्रिफला चूर्ण का सेवन करें, इसके साथ ही इस राशी के जातक हरे रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उसी पानी का शाम से सेवन करें।

4. कर्क राशि :कर्क राशी के जातक भी वृषभ राशी वालों की तरह ही काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी का चूर्ण बना लें और प्रतिदिन रात के भोजन के बाद उसका अवश्य ही सेवन करें ।
कर्क राशी के जातक सफ़ेद रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उस पानी का रोज़ाना नियम से सेवन करें।

अवश्य जाने :- इन उपायों से मिलेगा सच्चा प्यार, सच्चा प्यार पाने के उपाय

5. सिंह राशि : सिंह राशि के जातक भी मेष राशी वालों की तरह ही त्रिफला चूर्ण रात में भिगो दें और सुबह उसे छान कर खाली पेट सेवन करें । इनको भी सलाह है कि आप लाल रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और प्रतिदिन शाम को वह पानी अवश्य पीये।

6. कन्या राशी :कन्या राशी के जातक रात को खाना खाने के कम से कम एक घंटे के बाद सोने से पूर्व थोड़ा सा आंवले का चूर्ण खाकर सोवें। इस राशी के जातक हरे रंग कि बोतल में पानी को धूप में कम से कम 6-7 घंटे रखे और फिर उसी पानी का सेवन करें।

7. तुला राशि : तुला राशि के जातक भी वृषभ और कर्क राशी वालों की तरह ही काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी का चूर्ण बना लें और प्रतिदिन रात के भोजन के बाद उसका अवश्य ही सेवन करें ।
तुला राशी के जातक भी सफ़ेद रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उस पानी का रोज़ाना नियम से सेवन करें।

8. वृश्चिक राशि :वृश्चिक राशि के जातक भी मेष और सिंह राशी वालों की तरह ही त्रिफला चूर्ण रात में भिगो दें और सुबह उसे छान कर खाली पेट सेवन करें । इनको भी सलाह है कि आप लाल रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और प्रतिदिन वही पानी अवश्य पीये।

9.धनु राशि : धनु राशि के जातक भी काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी का चूर्ण बना लें और प्रतिदिन रात के भोजन के बाद उसका अवश्य ही सेवन करें । इस राशी के जातक पीले रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उसी पानी का रोज़ाना नियम से सेवन करें।

अवश्य पढ़ें :- क्या सपने सच होते है ? अपने सभी सपनो के अर्थ जानिए,

10. मकर राशि : मकर राशि के जातक भी त्रिफला चूर्ण रात में भिगो दें और सुबह उसे छान कर खाली पेट सेवन करें । इनको सलाह है कि आप नीले रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और प्रतिदिन शाम से वह पानी अवश्य पीये।

11. कुम्भ राशि : कुम्भ राशि के जातक प्रतिदिन सुबह शाम एक एक लौंग का सेवन नियम से करें । इनको सलाह है कि आप भी नीले रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और प्रतिदिन शाम से उसी पानी को अवश्य ही पीये।

12.मीन राशि :मीन राशि के जातक भी काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी का चूर्ण बना लें और प्रतिदिन रात के भोजन के बाद उसका अवश्य ही सेवन करें । इस राशी के जातक पीले रंग कि बोतल में पानी को धूप में रखे और फिर उसी पानी का रोज़ाना नियम से सेवन करें।

मित्रों यह कुछ ऐसे आसान और बिना किसी खर्चे के उपाय बताये गए है जिसे यदि हम अपने जीवन में अनिवार्य दिनचर्या बना लें तो निश्चित ही ना केवल हमारी प्रतिरोधक क्षमता ही बढेगी वरन हम किसी भी रोग का बड़ी ही आसानी से सामना कर पाएंगे।

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »