Home Hindi महत्वपूर्ण उपाय Shukr Grah Ke Upay |शुक्र ग्रह के उपाय |शुक्र को अनुकूल कैसे...

Shukr Grah Ke Upay |शुक्र ग्रह के उपाय |शुक्र को अनुकूल कैसे करें

2445
shukr-grah-ke-upay

शुक्र ग्रह के उपाय

  • शुक्र ग्रह Shukr Grah का शुभाशुभ प्रभाव एवं शुक्र ग्रह के उपाय Shukr Grah Ke Upay ——-
  • शुक्र ग्रह Shukr grah :- हमारे जीवन में स्त्री, वाहन और धन सुख को प्रभावित करता है। एस्ट्रोलॉजी की राय में यह एक स्त्री ग्रह है, किंतु यह ग्रह पुरुष के लिए स्त्री है और स्त्री के लिए पुरुष ग्रह माना गया है।

1. शुक्र के अशुभ फल

  • यदि किसी जातक के जन्म के समय शुक्र ग्रह Shukr grah की यदि कमजोर स्तिथि होती है तो अशुभ हैं तो शुक्र के अशुभ फल, Shukr ke ashubh phal, के कारण आर्थिक कष्ट, स्त्री सुख में कमी बनी रहती है।
  • शुक्र के अशुभ फल, ( Shukr ke ashubh phal ) के कारण प्रमेह, कुष्ठ, मधुमेह, मूत्राशय संबंधी रोग, गर्भाशय संबंधी रोग और गुप्त रोगों की संभावना बढ जाती है।
  • शुक्र के अशुभ फल,( Shukr ke ashubh phal ) सांसारिक सुखों में कमी आती प्रतीत होती है।
  • शुक्र ग्रह Shukr grah के साथ यदि कोई पाप स्वभाव का ग्रह हो तो व्यक्ति काम वासना के बारे में सोचता है।
    लगातार अंगूठे में दर्द का रहना या बिना रोग के ही अंगूठे का बेकार हो जाना अशुभ शुक्र, ( ashubh Shukr ) की निशानी है।
  • अशुभ शुक्र, ( ashubh Shukr ) के खराब होने से शरीर में त्वचा संबंधी रोग उत्पन्न होने लगते हैं।
  • अंतड़ियों के रोग, गुर्दे का दर्द एवं पांव में तकलीफ आदि की शिकायत का कारण भी अशुभ शुक्र, ashubh Shukr हो सकता है।*
  • शुक्र ग्रह के प्रसन्नार्थ अवश्य बताये गए उपाय करें ।
  • उच्च का शुक्र

शुक्र ग्रह के उपाय

guru-grah-ke-upay
  • शुक्र यंत्र (Shukra Yantra) :- शुक्र ग्रह के शुभ फलो हेतु शुक्र यंत्र को धारण करना चाहिए। इस यंत्र को धारण करने से शुक्र ग्रह के अशुभ प्रभाव दूर होते है। जातक को सुख-समृद्धि, यश और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है, दाम्पत्य जीवन लम्बा और सुखमय होता है। इस यंत्र को चाँदी के ताबीज में भरकर शुक्रवार के दिन शुभ चौघड़ियों में सफ़ेद सूती या सफ़ेद रेशमी धागे में बांध कर गले या बाँह में धारण करना चाहिए। एवं शुक्र यंत्र को नित्य या शुक्रवार के दिन देखकर पढ़ना चाहिए।
  • शुक्र ग्रह Shukr grah जब उच्च स्थि‍ति में होता है, तो जातक सुंदर होता है और जोश से भरा होता है। जातक को शयन सुख में लाभ मिलता है और वह उमंग से भरा हुआ होता है। शुक्र की स्थि‍ति शुभ होने पर जात घूमने-फिरने का शौकीन होता है और सुंदर, साफ-सुथरे घर का स्वामी होता है। ऐसी स्थि‍ति में वैवाहिक जीवन मधुर होता है,तथा परिवार में सुख शान्ति बनी रहती है आपस में प्रेम भी बना रहता है।
  • यदि आपकी कुंडली में भी शुक्र ग्रह पीड़ित /कमजोर का होकर स्थित है तो यहाँ पर बताए गए शुक्र को प्रसन्न करने के उपाय, ( Shukr ko prasann karne ke upay ) अवश्य ही करें —-
  • शुक्र ग्रह के औषधि स्नान :- शुक्र ग्रह को अपने अनुकूल करने के लिए शुक्रवार के दिन प्रात: जल में कच्चा दूध, जायफल, पीपरामूल, केसर, इलायची, मूली के बीज, डालकर स्नान करने से शुक्र ग्रह के अनुकूल फल मिलते है।

( Shukr Grah ka mantr ) शुक्र ग्रह का तांत्रिक मन्त्र :- “ॐ द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:”।।

* ( Shukr Grah ka mantr ) शुक्र पौराणिक मन्त्र :- “ॐ शुं शुक्राय नमः ” ।।

  • उपरोक्त दोनों मंत्रो में से किसी भी एक मन्त्र का विधिवत जाप कराने से शुक्र देव के अशुभ फल निश्चय ही दूर होते है। शुक्र मन्त्र का कम से कम 16000 जप पूर्णतया फलदाई होता है।
  • शुक्र ग्रह के दान :- ( shukr grah ke dan ) यदि कुंडली में सूर्य ग्रह अशुभ फल दे रहे हो तो शुक्रवार के दिन प्रात: चाँदी, चावल, दूध, दही, घी, खीर, सफ़ेद वस्त्र, चीनी, मिश्री आदि किसी सात्विक ब्राह्मण को पूर्ण श्रद्धा से दक्षिणा सहित दान चाहिए, इससे शुक्र ग्रह के अशुभ फल दूर होते है, शुभ फल मिलने लगते है।
  • उच्च का शुक्र ( ucch ka Shukr ) के लिए नित्य सुबह सही समय पर उठना और साफ सुथरा रहना आवश्यक है।
  • उच्च का शुक्र ( ucch ka Shukr ) के लिए पत्नी का सम्मान करें और उसे सौंदर्य प्रसाधन उपहार दें।
  • उच्च का शुक्र ( ucch ka Shukr ) के लिए मां लक्ष्मी का पूजन करना चाहिए और गाय की सेवा करना चाहिए।
  • शुक्र ग्रह के उपाय ( Shukr grah ke upay ) में काले और नीले रंग के वस्त्रों का त्याग कर स्वयं को चरित्रवान बनाए रखना चाहिए।
  • शुक्र ग्रह के उपाय ( Shukr grah ke upay ) में दुर्गाशप्तशती का पाठ करना चाहिए।
  • कन्याओ का पूजन एवं शुक्रवार का व्रत रखना बहुत ही अचूक शुक्र को प्रसन्न करने के उपाय, ( Shukr ko prasann karne ke upay ) है ।
  • यदि किसी के घर की दक्षिण-पूर्व दिशा दूषित हो या यह दिशा वास्तु शास्त्र की दृष्टि से गलत बनी हो, तो शुक्र ग्रह खराब फल देने लगता है अतः इस दिशा को साफ़ सुथरा रखे।
  • शारीरिक रूप से गंदे बने रहना, गंदे-फटे कपड़े पहनने से भी शुक्र के अशुभ फल, Shukr ke ashubh phal मिलते है अतः साफ सफाई का ध्यान रखें।
  • घर की साफ-सफाई को महत्व न देने से भी शुक्र के अशुभ फल, ( Shukr ke ashubh phal ) प्राप्त होते है अतः ऐसा न करें ।
  • घर का बेडरूम और किचन खराब होने से भी शुक्र खराब हो जाता है।
  • ध्यान रखे गृह कलह से भी शुक्र अपना फल मंदा देने लगता और धन-दौलत नष्ट हो जाती है।
  • शुक्र मजबूत करने के लिए इलायची के पानी से स्नान करें। बड़ी इलायची को थोड़े से पानी में उबाल लें। इसे ठंडा करके अपने नहाने के पानी में मिलाएं और आखिरी बार इससे स्नान करें। इस दौरान शुक्रदेव का ध्यान करते हुए इस मंत्र का जाप करें – “ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः।।“
  • खाने पीने में सफेद चीजें को शामिल करना चाहिए इससे शुक्र मजबूत होता हैं। खासकर शुक्रवार के दिन अगर नमक का त्याग कर सकें तो यह सोने पर सुहागा के समान होगा ।
  • शुक्र ग्रह संगीत से खास जुड़ाव रखता है, इसलिए शुक्र मजबूत करने के लिए सॉफ्ट म्यूजिक के गाने सुनने चाहिए लेकिन एक बात का विशेष ध्यान रहे कि जहाँ सॉफ्ट और मधुर संगीत जहां आपका शुक्र मजबूत करता है, वहीं लाउड म्यूजिक या तेज संगीत वाले गाने सुनने से आपका शुक्र कमजोर होता है। इसलिए शुक्र मजबूत करने के लिए हमेसा सॉफ्ट म्यूजिक के गाने ही सुनने चाहिए ।
  • शुक्र के दिन सफेद कपड़ों का अधिक से अधिक इस्तेमाल करें । इससे आपका शुक्र मजबूत होगा और खूबसूरती में भी इजाफा होगा ।

Published By : Memory Museum

pandit-ji
ज्योतिषाचार्य डॉ० अमित कुमार द्धिवेदी
कुण्डली, हस्त रेखा, वास्तु
एवं प्रश्न कुण्डली विशेषज्ञ

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »