Wednesday, August 12, 2020
Home Hindi राशिनुसार उपाय कालसर्प योग शांति के उपाय

कालसर्प योग शांति के उपाय

कालसर्प दोष शांति के उपाय ( Kaal Sarp Dosh Shanti ke upay )

जिन व्यक्तियों की जन्म पत्रिका में कालसर्प दोष (kaal sarp dosh )होता है उसके जीवन में बहुत अधिक उतार-चढ़ाव आते हैं। समान्यता काल सर्पदोष से पीड़ित जातक जीवन भर संघर्ष ही करता रहता है, लाख प्रयास के बाद भी जीवन में अपेक्षित सफलता नही मिलती है, इसलिए उन्हें काल सर्पदोष के उपाय अनिवार्य रूप से कराने ही चाहिए। काल सर्पदोष की पूजा उपाय के लिए सावन माह विशेषकर सावन माह की पंचमी ” नाग पंचमी ” का दिन बहुत ही प्रभावशाली माना जाता है । मान्यता है कि इस दिन काल सर्पदोष निवारण ( kaal sarp dosh nivaran )के किये गए उपाय शीघ्र ही फल देते है ।

कालसर्प योग के आसान उपाय ( kaal sarp yog ke upay )

  • नाग पंचमी के दिन भगवान शिव का अभिषेक करते हुए चाँदी के नाग नागिन का जोड़ा शिवलिंग पर चढ़ा दें फिर अभिषेक की समाप्ति पर उसे ताम्बे के पात्र में विसर्जित करके , उस पात्र को अभिषेक कराने वाले पंडित को दान में दे दें , इससे काल सर्पदोष में बहुत ज्यादा राहत मिलती है ।
  • नाग पंचमी के दिन 11 नारियल बहते हुए पानी में प्रवाहित करें, इससे काल सर्प दोष से अवश्य ही मुक्ति मिलती है, कार्यों में सफलता मिलने के योग बनने लगते है, जीवन में चली आ रही अस्थिरतायें दूर होती है।

  • नाग पंचमी एवं प्रत्येक माह के दोनों पक्षो की पंचमी के दिन “ॐ कुरुकुल्ये हुं फट् स्वाहा” मन्त्र का जाप अवश्य ही करें। इससे काल सर्प योग ( kaal Sarp Yog ) के दुष्प्रभाव में कमी होती है ।
  • नाग पंचमी के दिन नागदेव की सुगंधित पुष्प व चंदन से ही पूजा करनी चाहिए क्योंकि नागदेव को सुगंध बहुत प्रिय है, इससे नाग देवता प्रसन्न होते है और काल सर्प दोष में कमी आती है।
  • जिस भी जातक पर काल सर्प दोष हो उसे कभी भी नाग की आकृति वाली अंगूठी को नहीं पहनना चाहिए ।

  • नाग पंचमी (Nag Panchmi)के दिन महामृत्युंज्य मंत्र का जाप करें या उसकी कैसेट सुनें।
  • श्रावण मास में 30 दिनों तक महादेव का अभिषेक करें।
  • श्रावण के प्रत्येक सोमवार को शिव मंदिर में दही से भगवान शंकर पर – हर हर महादेव’ कहते हुए अभिषेक करें।
  • श्रावण मास में रूद्र-अभिषेक कराए एवं महामृत्युंजय मंत्र की एक माला का जाप रोज करें।

  • सावन में शिवलिंग पर प्रतिदिन मीठे दूध में भाँग डाल कर चढ़ाएँ इससे गुस्सा शांत होता है, साथ ही सफलता तेजी से मिलने लगती है।
  • किसी शुभ मुहूर्त में ओउम् नम: शिवाय’ की 21 माला जाप करने के उपरांत शिवलिंग का गाय के दूध से अभिषेक करें और शिव को प्रिय बेलपत्रा आदि श्रध्दापूर्वक अर्पित करें। साथ ही तांबे का बना सर्प शिवलिंग पर समर्पित करें।
  • श्रावण महीने के हर सोमवार का व्रत रखते हुए शिव का रुद्राभिषेक करें। शिवलिंग पर तांबे का सर्प विधिपूर्वक चढ़ायें।
  • पंचमी के दिन 11 नारियल बहते हुए पानी में प्रवाहित करने से काल सर्पदोष दूर होता है , यह उपाय श्रवण माह की पंचमी अर्थात नाग पंचमी (Nag Panchmi) को करना बहुत फलदायी होता है ।
  • घर की चौखट पर मांगलिक चिन्ह बनवाने विशेषकर चाँदी का स्वास्तिक जड़वाने से शुभता आती है, काल सर्पदोष (Kaal Sarp Dosh) में कमी आती है ।
  • शिव के ही अंश बटुक भैरव की आराधना से भी इस दोष से बचाव हो सकता है।

  • 108 राहु यंत्रों को जल में प्रवाहित करें।
  • चौबीस मोर पंख लेकर उसकी झाडू बनवाकर इसे सदैव शयनकक्ष में रखे तथा प्रतिदिन राहुकाल के समय इससे जातक के शरीर पर झाड़ा लगाये।
pandit-ji
पं मुक्ति नारायण पाण्डेय
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

हनुमान जी के बारह चमत्कारी नाम | Hanuman ji ke chamatkari naam

हनुमानजी के चमत्कारी नामHanuman ji ke chamatkari naam हनुमानजी बहुत शीघ्र ही प्रसन्न होने वाले देवता माने गए...

मस्सो को हटाने के उपाय

मस्सों से जड़ से कैसे छुटकारा पाएंMasso se jad se chutkara payen कई बार लोगो के चेहरे, काँख...

What is Rahu Kaal

What Is Rahu Kaal In Indian Astrology, much importance is given to the time and its auspiciouscity in...

गुरुवार का पंचांग | Guruwar Ka Panchag

गुरुवार का पंचाग, Guruwar Ka Panchag बृहस्पतिवार का पंचांग, Brahasptivar ka panchang, 06 अगस्त 2020...
Translate »