Home Durga Pooja कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त, kalash sthapna ka shubh muhurat,

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त, kalash sthapna ka shubh muhurat,

9

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त, kalash sthapna ka shubh muhurat,

नवरात्रि हिन्दुओं का एक प्रमुख पर्व है जो वर्ष 2020 में 17 अक्तूबर, शनिवार से आरंभ होने जा रहा है जो पूरे 9 दिन 25 अक्टूबर तक चलेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष आश्विनमास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से नौ दिनों तक शरद नवरात्री में माँ दुर्गा की आराधना की जाती है। इस बार मलमास का महीना होने के कारण नवरात्रि एक महीने देर शुरू हो रहा हैं।

नवरात्रि के नौ दिनों में प्रत्येक दिन देवी दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। मान्यता है कि नवरात्रि पर देवी दुर्गा नौ दिनों तक पृथ्वी पर वास करती हैं, और अपने भक्तों से प्रसन्न होकर उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं। नवरात्री के यह 9 दिन जिसे दुर्गा पूजा (Durga Puja) के नाम से भी जाना जाता है अति सिद्ध, शक्तिशाली, पुण्यदायक माने जाते है ।

शास्त्रों के अनुसार भगवान श्री राम ने भी लंका पति रावण से युद्ध में विजय प्राप्ति के लिए लंका पर चढ़ाई करने से पहले इन्ही दिनों में देवी दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए माँ की आराधना की थी।

नवरात्रि के पहले दिन माता के भक्त अपने अपने घरो, अपने कारोबार में कलश की स्थापना करते है ।  शास्त्रों के अनुसार कलश को सदैव शुभ मुहूर्त में ही स्थापित करना चाहिए । प्रतिपदा तिथि पर कलश स्थापना के साथ ही नौ दिनों तक चलने वाला नवरात्रि का पर्व आरंभ हो जाता है।
जानिए इस वर्ष कलश की स्थापना किस मुहूर्त में करनी चाहिए ।

नवरात्री में कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त, Navratri me kalash sthapna ka shubh muhurat,

प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – अक्तूबर 17, 2020 को 01:00 A.M

प्रतिपदा तिथि समाप्त- अक्तूबर 17, 2020 को 09:08 P.M

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त का समय प्रात: 06:27 बजे से 08:58 बजे तक 

अभिजित मुहूर्त  11:44 बजे से 12:29 बजे तक रहेगा

दोपहर का मुहूर्त 01.30 से 03.00 तक,

दोपहर का मुहूर्त  03.00 से 04.30 तक और

शाम का मुहूर्त को 18.00 से 19.30 तक

शनिवार को राहू काल प्रात: 9 बजे से 10.30 बजे तक रहेगा।

pandit-ji

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »