Home Grahan, ग्रहण राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay, सूर्य ग्रहण...

राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay, सूर्य ग्रहण 2021,

1293

राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay,

सूर्य ग्रहण एक बहुत ही महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है, हिन्दू धर्म शास्त्रों में इसको बहुत ही प्रमुख स्थान दिया गया है । सभी 12 राशियों पर सूर्य ग्रहण का कुछ न कुछ अच्छा, बुरा अवश्य ही पड़ता है, लेकिन राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay, करके प्रत्येक मनुष्य ग्रहण के बुरे प्रभाव को दूर कर सकता है, ग्रहण के समय सही उपाय को करके निश्चित ही श्रेष्ठ लाभ प्राप्त कर सकता है ।

( हस्त रेखा, कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ ) ज्योतिषचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय जी का कहना है कि हम यहाँ पर राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय बता रहे है जिनको करके प्रत्येक राशि के जातक चाहे जैसी भी प्रतिकूल स्तिथि भी क्यों ना हो उससे सफलता पूर्वक निकलकर निश्चित ही पुण्य प्राप्त कर सकते है ।

जानिए, राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay, सूर्य ग्रहण का राशिनुसार प्रभाव, Surya grahan ka rashianusar prabhav, सूर्य ग्रहण के उपाय, sury grahan ke upay, सूर्य ग्रहण 2021, sury grahan 2021, सूर्य ग्रहण, sury grahan,

घर पर कैसा भी हो वास्तु दोष अवश्य करें ये उपाय, जानिए वास्तु दोष निवारण के अचूक उपाय

राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय, rashinusar sury grahan ke upay, 

 मेष राशि – मेष राशि के जातक ग्रहण के शुभ प्रभाव के लिए तिल, गु़ड़ का दान करें । “ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीनारायण नम:” व “ॐ घृणि सूर्याय नमः” का जाप करें।

 वृष राशि – वृष राशि के जातक कंबल व गर्म ऊनी वस्त्र का दान करें । भगवान विष्णु के “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का एवं भगवान सूर्यदेव के “ॐ भुवन भास्कराय नमः” मन्त्र का अधिक से अधिक जाप करें।

 मिथुन राशि – मिथुन राशि के जातक ग्रहण से लाभ लेने के लिए ग्रहण ( grahan ) के पश्चात चींटियों को पंजीरी और गाय को हरा चारा अवश्य ही खिलाएं, फल और हरी सब्जी का दान करें । भगवान श्री कृष्ण के मन्त्र “ॐ क्लीं कृष्णायै नम:”॥ एवं भगवान सूर्यदेव के “ॐ सूर्याय नमः” मन्त्र का जाप अवश्य ही करें।

 कर्क राशि – कर्क राशि के जातक ग्रहण ( grahan ) के शुभ फलो हेतु घी और गुड़ का दान करें , हनुमान चालीसा का पाठ करे , “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय”॥ मन्त्र का जाप करें ।

सिंह राशि – सिंह राशि के जातक ग्रहण ( grahan ) से शुभ फलो को प्राप्त करने के लिए गुड और शहद का दान करें , ॐ क्लीं ब्रह्मणे जगदाधारायै नम: ॥मन्त्र का अधिक से अधिक जाप करें ।

 कन्या राशि :- कन्या राशि के जातक गुड, तिल और अनाज का दान करें । भगवान श्री हरि के मन्त्र “ॐ विष्णवे नमः” और “ॐ घृणि सूर्याय नमः” का जाप करें।

 तुला राशि – तुला राशि के जातक ग्रहण ( grahan ) से शुभ फलो को प्राप्त करने के लिए गर्म वस्त्र, कम्बल, पुस्तको का दान करे , हनुमान चालीसा और ‘ॐ हं हनुमतये नमः’ मन्त्र का जाप करें।

 वृश्चिक राशि – वृश्चिक राशि के जातको को सफ़ेद तिल, गुड, दूध और गेंहू का दान करना चाहिए । इस राशि के जातक “ॐ नमो नारायण” और “ॐ सूर्याय नमः” मन्त्र का जाप करें।

धनु राशि – धनु राशि के जातक घी, शहद , तिल, गु़ड़, का दान करें। धनु राशि के जातक “ॐ क्लीं कृष्णायै नम:” ॥ और “ॐ घृणि सूर्याय नमः” मन्त्र का जाप करें।

 मकर राशि – मकर राशि के जातक ऊनी वस्त्र, कंबल, गेहूं, का दान करें। “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” और “ॐ आदित्याय नमः” का जाप करें।

 कुंभ राशि – कुम्भ राशि के जातक शहद, गु़ड़, तिल का दान करें । ‘ॐ नीलकंठाय नमः’ और ‘ॐ घृणि सूर्याय नमः’का जाप अवश्य ही करें। हनुमान चालीसा को नित्य अवश्य ही पढ़ें ।

 मीन राशि – मीन राशि के जातक ग्रहण ( grahan ) के शुभ फलो को प्राप्त करने के लिए गु़ड़, घी और चने की दाल का दान करें । “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” और “ॐ आदित्याय नमः” मन्त्र का जाप करें।

ग्रहण ( grahan ) के समय से पूर्व सभी बड़ो विशेषकर घर के मुखिया को बिस्तर से अवश्य ही उठ जाना चाहिए ।
सूर्य ग्रहण ( surya grahan ) का प्रभाव लम्बे समय तक रहता है अत: किये गए उपायों पर अवश्य ही ध्यान दें, बताये गए मंत्रो को कुछ समय तक नित्य करें ।

ज्योतिषाचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय जी का कहना है कि राशिनुसार सूर्य ग्रहण के उपाय करके निश्चित ही प्रतिकूल समय को भी अपने अनुकूल किया जा सकता है अत: प्रत्येक बालिग मनुष्य को यथा संभव इन उपायों को अवश्य ही करना चाहिए ।

ज्योतिषाचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय
( हस्त रेखा, कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »