Home Hindi पूर्णिमा के उपाय सूर्य ग्रहण कब होता है, sury grahan kab hota hai, सूर्य ग्रहण...

सूर्य ग्रहण कब होता है, sury grahan kab hota hai, सूर्य ग्रहण कब है, sury grahan kab hai,

564
sury-grahan-kab-hota-hai

सूर्य ग्रहण कब है
Surya Grahan Kab hai

सूर्य ग्रहण ( Surya grahan ) के अदभुत खगोलीय घटना है जो प्राय: प्रति वर्ष पूरी दुनिया में होती ही है, हमारे ज्योतिषियों को यह पता होता है कि सूर्य ग्रहण कब होता है, sury grahan kab hota hai । कई बार कोई सूर्यग्रहण ( Suryagrahan ) विश्व के किसी हिस्से में दिखाई देता है कई बार किसी और जगह।
हमारे ऋषि मुनियों , ज्योतिषियों ने अति प्राचीन काल से ही ग्रहण की बिलकुल सटीक गणना करना प्रारम्भ कर दी थी।
जानिए सूर्य ग्रहण कब होता है, sury grahan kab hota hai, सूर्य ग्रहण कब है , ( Surya grahan kab hai ) सूर्य ग्रहण कब होगा,( Surya grahan kab hoga ) सूर्य ग्रहण कैसे लगता है, sury grahan kaise lagta hai

इस बार रविवार 21 जून का सूर्य ग्रहण बहुत खास है। चूड़ामणि योग में रविवार, अमावस्‍या के साथ लगने वाला सूर्य ग्रहण मृगशिरा और आर्द्रा नक्षत्र पर, मिथुन राशि में लगेगा। मिथुन राशि में सूर्य, चंद्रमा, राहु और बुध एक साथ हो रहे हैं।  सूर्य ग्रहण के समय एक साथ 6 ग्रह शनि, गुरु, शुक्र, बुध और राहु-केतु वक्री होंगे। ऐसा संयोग 500 साल के बाद आया है ।
केवल मंगल ग्रह ही ऐसे हैं जो संक्रमित नहीं है। लेकिन वे भी अपने से द्वादश भाव में हैं। ग्रहों की यह स्तिथि बहुत ही खराब है। इसलिए जनमानस को बहुत सावधानीपूर्वक रहना होगा। इस ग्रहण के प्रभाव के कारण भूकंप, महामारी, युद्ध की सम्भावना हो सकती है। जनमानस को मानसिक चिंताएं हो सकती है, क्रोध और उन्माद में वृद्धि होगी ।

यह सूर्य ग्रहण 21 जून को सुबह 9:15 बजे से शुरू हो जाएगा और 12:10 बजे दोपहर में पूर्ण ग्रहण होगा तथा इस दौरान कुछ समय के लिए हल्का अंधेरा भी छा जाएगा
करीब 6 घंटे लंबा यह ग्रहण दोपहर 03:04 बजे पूरी तरह से समाप्त हो जायेगा।
लेकिन भारत में यह ग्रहण 09.55 से शुरू होकर 2.35 तक के बीच तक दिखाई पड़ेगा ।

यह सूर्य ग्रहण 6 घंटा लम्बा होने की वजह से पूरी दुनिया में कौतुहल और चर्चा का विषय है ।
जबकि सूतक 12 घंटे पहले यानी 20 तारीख की रात  10 बजे से शुरू हो जाएगा,
इसमें मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते है।

यह सूर्य ग्रहण सम्पूर्ण भारत, एशिया और अफ्रीका में बिलकुल साफ तौर पर नज़र आएगा। इसके साथ ही यह सूर्य ग्रहण दक्षिण-पूर्व यूरोप, उत्तरी ऑस्ट्रेलिया, मध्य पूर्व के देशों में आंशिक ग्रहण के रूप में दिखाई देगा।

वर्ष 2020 में पड़ने वाले ग्रहण, varsh 2020 men padne wale grahan,

पहला चंद्रग्रहण ( Chandra Grahan ) :- वर्ष 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को लगा था, यह पूरे भारत में दिखाई दिया था ।

दूसरा चंद्रग्रहण ( Chandra Grahan ) :- वर्ष 2020 का दूसरा चंद्र ग्रहण 5 जून को लगा था, यह चंद्रग्रहण भी पूरे भारत में देखा गया था।

तीसरा चंद्रग्रहण ( Chandra Grahan ) :- वर्ष 2020 का तीसरा चंद्र ग्रहण 5 जुलाई को लगेगा । इस ग्रहण को भारत में देखा नहीं जा सकेगा क्योंकि जब यह चंद्रग्रहण होगा उस समय भारत में सूर्य देव उदय हो चुके होंगे।

चौथा चंद्रग्रहण ( Chandra Grahan ) :- वर्ष 2020 का चौथा चंद्र ग्रहण 30 नवम्बर को लगेगा, इस ग्रहण को पूरे भारत में देखा जा सकेगा।

पहला सूर्यग्रहण ( surya grahan ) :- वर्ष 2020 का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून को लगेगा, यह सूर्य ग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा।

दूसरा सूर्यग्रहण ( surya grahan ) :- वर्ष 2020 का दूसरा सूर्य ग्रहण है 14 दिसंबर को लगेगा, लेकिन यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा ।

इस तरह वर्ष 2020 में जो 6 ग्रहण लगेंगे इसमें 4 ग्रहण भारत में नज़र आएंगे और दो ग्रहण भारत में नज़र नहीं आएंगे ।

पं मुक्ति नारायण पाण्डेय
( कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो, आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »