Saturday, November 28, 2020
Home diwali, dipawali दिवाली पर सुझाव, diwali par sujhav,

दिवाली पर सुझाव, diwali par sujhav,

दिवाली पर सुझाव, diwali par sujhav,

दीपावली हिदुओं का सबसे प्रमुख पर्व, 5 पर्वो का महापर्व है। इन दिनों में कुछ बातो को ध्यान में रखकर, दिवाली पर सुझाव, diwali par sujhav, का पालन करके शक्ति, समृद्धि के इन दिनों का श्रेष्ठ लाभ प्राप्त कर सकते है।
जानिए दीवाली पर महत्वपूर्ण सुझाव, Diwali ke mahatwapurn sujhaw, दीपावली पर धन पाने के सरल उपाय, Diwali par dhan pane ke saral upay ।

दिवाली के सुझाव, diwali ke sujhav,

दीपावली के इन पांचो पर्वो में कुछ खास बातों का अवश्य ही ध्यान रखें: —

इन दिनों घर में किसी भी प्रकार की कलह न हो , सभी लोग एक दुसरे को सम्मान देते हुए मिल जुल कर प्रसन्नता से रहे।

प्रत्येक दिन घर की स्त्रियाँ घर में कुछ न कुछ नया पकवान जरुर बनाये और उसे सर्वप्रथम घर के पूजा स्थल में भगवान को भोग लगाकर ही घर के बाकि सदस्य उसको ग्रहण करें ।

इन 5 दिनों में यह कोशिश करें की घर का कोई भी सदस्य किसी भी दशा में मांस , मदिरा , या अन्य किसी भी किस्म के नशे का सेवन न करें ।

गृह स्वामी घर के सभी सदस्यों को अपनी सामर्थानुसार कोई न कोई उपहार अवश्य ही दें ।

घर के सभी बड़े बुजुर्गों को पूर्ण आदर देते हुए उनका आशीर्वाद जरुर लें ।

संध्या के समय घर का कोई भी सदस्य किसी भी दशा में ( गंभीर रोगियों को छोड़कर ) बिस्तर पर न रहे ।

जिन लोगो को धन की बहुत आवश्यकता हो, जिन पर पूरे घर की जिम्मेदारी हो उन्हें रात में जागकर लक्ष्मी की साधना अवश्य ही करनी चाहिए।

धनतेरस Dhanteras के दिन किसी को कुछ भी उधार नहीं दें और ना ही किसी से उधार मांगे ।
उधार देने से धन की हानि होती है और वर्ष भर धन की दिक्कत होगी , और उधार लेने से हमेशा ही मांगते रहेंगे खुद की आय पर्याप्त नहीं होगी तो दोनों ही स्थितियों से अवश्य ही बचना चाहिए ।

पूजन के समय गृह स्वामी हलके पीले , स्त्री लाल या पीली साड़ी और घर के बाकि सदस्य भी हलके कपडे पहन कर ही पूजा में बैठे ।

लक्ष्मी पूजन Laxmi Pujan में शुद्ध चाँदी की बनी कोई भी वस्तु रखकर ही पूजन करें नहीं तो लक्ष्मी गणेश के अंकित चाँदी के सिक्के ही पूजा में रखे ।

लक्ष्मी पूजन में चावल का बिलकुल भी प्रयोग नहीं होता है इस दिन लक्ष्मी जी पर खील चड़ानी चाहिए । चावल को श्री यंत्र / दक्षिणवर्ती अदि यंत्रों के नीचे में प्रयोग कर सकते है

दीपावली पूजन Dipavali Pujan में जहाँ तक संभव हो श्री लक्ष्मी गणेश यंत्र ,श्री यंत्र , दक्षिणवर्ती शंख ,श्री कुबेर यंत्र , बीसायंत्र , व्यापार वृधि यंत्र , नवग्रह यंत्र आदि यंत्रों की पूजा करके उन्हें अपने घर के मंदिर में अवश्य ही स्थापित करना चाहिए ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

गठिया की दवा | गठिया रोग का इलाज

गठिया की दवाGathiya ki davaगठिया अत्यंत कष्टकारी बीमारी है। इसे आमवात भी कहा जाता है। गठिया में...

Success Remedies For Early Marriage

Successful Remedies For Early Marriage11. Those aspiring for an early marriage should offer two puddings made of...

दुर्गावीसा यंत्र | Durga Visha Yantra

हे माँ शेरोवाली आप अपने भक्तो की सभी दिशाओं से रक्षा करते हुए उन्हें निरोगिता और दीर्घ आयु प्रदान करें ।

पीलिया | पीलिया के घरेलु उपाय एवं उपचार

पीलिया ( piliya ) अर्थात जॉन्डिस ( jaundice ) एक खतरनाक रोग है इसमें लापरवाही नहीं करनी चाहिए । सामन्यता: पीलिया (...
Translate »