Home Amavasya amavasya ke mahatvapurn upay, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय,

amavasya ke mahatvapurn upay, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय,

588
amavasya-ke-mahatvapurn-upay

amavasya ke mahatvapurn upay, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय,

हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष के अंतिम दिवस को अमावस्या amavasya तिथि कहते है। amavasya ke mahatvapurn upay, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय बहुत ही श्रेष्ठ माने गए है । सामन्यता: एक वर्ष में 12 अमावस्या आती है।
अमावस्या के उपाय ( amavasya ke upay ) इतने महत्वपूर्ण , इतने दिव्य कहे गए है कि इनको करने से दुर्भाग्य भी सौभाग्य में बदल जाता है | इस दिन पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास से किसी भी उपाय को करने से अवश्य ही कार्य सिद्ध होते है ।

जानिए अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय, Amavasya Ke Mahatvapurn Upay, अमावस्या के भाग्य बदलने के उपाय, Amavasya Ke bhagya badalne ke Upay, अमावस्या के अदभुत उपाय, Amavasya Ke Adbudh Upay,

* अमावस्या /(Amavasya) की रात्रि में 12 बजे अपने दाहिने हाथ में काली राई लेकर अपने घर की छत पर तीन चक्कर उलटे काटे, फिर दसो दिशाओं में हाथ की राई के दाने “ऊँ हीं ऋणमोचने स्वाहा”॥ मन्त्र का जप करते हुए फेंकते जाय, इस उपाय से धन हानि बंद होती है ,ऋण के उतरने के योग प्रबल होते है। यह बहुत ही अमोघ प्रयोग है इसे किसी भी अमावस्या को किया जा सकता है।

इस अचूक उपाय से शराब पीने वाले की आदत निश्चित रूप से जाएगी छूट, जानिए शराब छुड़ाने के अचूक उपाय

* अमावस्या ( amavasya ) के दिन चींटियों की बाम्बी के पास पंजीरी अथवा आटे में महीन चीनी मिलाकर जरूर डालनी चाहिए , इससे कार्यो में अड़चने दूर होती है, पापो का नाश होता है ।

* अमावस्या ( Amavasya ) की रात्रि में 8 बादाम और 8 काजल की डिबिया काले कपडे में बांध कर संदूक में रखे, इससे शीघ्र ही आर्थिक समस्याओं का समाधान होता है ।

* प्रत्येक अमावस्या ( Amavasya ) को गाय को पांच फल भी नियमपूर्वक खिलाने चाहिए, इससे भी घर में शुभता एवं हर्ष का वातावरण बना रहता है ।

अमावस्या, amavasya, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय, amavasya ke mahatvapurn upay,( अमावस, amavas, अमावस्या के उपाय, amavasya ke upay, अमावस्या के टोटके, amavasya ke totke, )

अमावस्या, amavasya, अमावस्या के अचूक उपाय, amavasya ke achuk upay, ( अमावस, amavas, अमावस्या के उपाय, amavasya ke upay, अमावस्या के टोटके, amavasya ke totke, )

अमावस्या, amavasya, अमावस्या के चमत्कारी उपाय, amavasya ke chamatkari upay,( अमावस, amavas, अमावस्या के उपाय, amavasya ke upay, अमावस्या के टोटके, amavasya ke totke, )

अमावस्या, amavasya, अमावस्या पर पाएं पितरों की पूर्ण कृपा, amawasya par paye pitro ki purn kripa, ( अमावस, amavas, अमावस्या के उपाय, amavasya ke upay, अमावस्या के टोटके, amavasya ke totke, )

अमावस्या, amavasya, अमावस्या पर दैवीय कृपा, amavasya par deviy kripa, ( अमावस, amavas, अमावस्या के उपाय, amavasya ke upay, अमावस्या के टोटके, amavasya ke totke, )

* अमावस्या ( Amavasya ) के दिन किसी सरोवर पर गेहूं के आटे की गोलियां ले जाकर मछलियों को डालें। इस उपाय से पितरों के साथ ही देवी-देवताओं की कृपा भी प्राप्त होती है, धन सम्बन्धी सभी समस्याओं का निराकरण होता है।

अगर शरीर में होती हो खुजली तो अवश्य करें ये उपाय, जानिए खुजली को दूर करने के अचूक उपाय


* अमावस्या ( Amavasya ) के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नित्यकर्मों से निवृत्त होकर पवित्र होकर जो व्यक्ति रोगी है उसके कपड़े से धागा निकालकर रूई के साथ मिलाकर उसकी बत्ती बनाएं। फिर एक मिट्टी का दीपक लेंकर उसमें घी भरकर, रूई और धागे की बत्ती लगाकर यह दीपक हनुमानजी के मंदिर में जलाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें।

इस उपाय से रोगी की तबियत जल्दी ही सुधरने लगती । यह उपाय उसके बाद कम से कम 7 मंगलवार और शनिवार को भी नियमित रूप से करना चाहिए।



* अमावस्या ( Amavasya ) के दिन एक कागजी नींबू लेंकर शाम के समय उसके चार टुकड़े करके किसी भी चौराहे पर चुपचाप चारों दिशाओं में फेंक दें। इस उपाय से जल्दी ही बेरोजगारी की समस्या दूर हो जाती है।

* भगवान शनि देव को शमी का वृक्ष बहुत प्रिय है, अमावस्या के दिन शमी के पेड़ की पूजा करने से भगवान शनि देव की कृपा मिलती है। अमावस्या के दिन सांयकाल शमी के पेड़ के पास सरसों के तेल का दीपक जलाएं। इससे शनि दोष दूर होते है।

amavas, amavasya, amavasya ke upay, amavasya ke achuk upay, amavasya ke totke, अमावस, अमावस्या, अमावस्या के महत्वपूर्ण उपाय, amavasya ke mahatvapurn upay, अमावस्या के उपाय, अमावस्या के टोटके, अमावस्या के अचूक उपाय, अमावस्या पर दैवीय कृपा, amavasya par devi kripa,अमावस्या पर दैवीय कृपा प्राप्त करें, amavasya par devi kripa prapt kare,

Published By : Memory Museum
Updated On : 2021-07-8 08:39:55 AM

आचार्य मुक्ति नारायण पाण्डेय
( हस्त रेखा,
कुंडली, ज्योतिष विशेषज्ञ )

Published By : Memory Museum
Updated On : 2020-12-12 06:25:55 PM

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »