Tuesday, April 20, 2021
Home Hindi राम श्लाका पवित्र द्वादश ज्योर्तिलिंग

पवित्र द्वादश ज्योर्तिलिंग

भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग

श्री सोमनाथ श्री मल्लिकार्जुनश्री महाकाल
श्री ओंकारेश्वरश्री बैद्यनाथ श्री भीमशंकर
श्री रामेश्वरम्‌श्री नागेश्वरश्री काशी विश्वनाथ
श्री त्र्यंम्बकेश्वर श्री केदारनाथश्री घृष्णेश्वर

भगवान शिव के बारह अति पवित्र ज्योतिर्लिंग भारत वर्ष के अलग-अलग भागों में शोभामायन हैं।

 शिवपुराण में इन ज्योतिर्लिंगों का विस्तार से उल्लेख है। बहुत ही महान पुण्यात्मा होंगे वह जातक जिन्होंने अपने जीवन में इन सभी बारहों ज्योतिर्लिंगों का दर्शन किया है । 

मान्यता है कि इनके दर्शन मात्र से सभी तीर्थों का फल प्राप्त होता है। भगवान भोलेनाथ निरोगता और दीर्घ आयु प्रदान करने वाले है। इनके भक्तों की आकाल मृत्यु से रक्षा होती है ।

कहते है कि जो भी मनुष्य नित्य इनके दर्शन करके इन ज्योतिर्लिंगों के नामो का उच्चारण करता है उसके सभी पाप नष्ट हो जाते है, धीरे धीरे उसका यश सभी दिशाओं में फैलने लगता है, उसको जीवन में कोई भी आभाव कोई भी संकट नहीं रहता है, उसे धन की कोई भी कमी नहीं रहती है, वह अपने परिवार के साथ प्रेमपूर्वक जीवन व्यतीत करते हुए अंत में स्वर्ग को प्राप्त होता है।  इसलिए नित्य सभी मनुष्यों को इन सभी ज्योतिर्लिंगों के दर्शन और इनका उच्चारण अवश्य ही करना चाहिए। 

सोमनाथ (Somnath)(प्रभास, सौराष्ट्र, गुजरात, )

मल्लिकार्जुन (Mallikarjun)  (कुर्नूल, आंध्र प्रदेश, )

महाकालेश्वर (Mahakaleshwar)( उज्जैन, मध्य प्रदेश )

ओंकारेश्वर (Omkareshwar) ( नर्मदा नदी में एक दीप पर, मध्य प्रदेश ) 

वैद्यनाथ (vaidyanath) (देवघर, झारखंड )

भीमाशंकर (Bhimashankar) (पुणे , महाराष्ट्र )

रामेश्वरम् (Rameshwaram)( रामनाड, रामेश्वरम, तमिलनाडु )

नागेश्वर (Nageshwar)( द्वारका, गुजरात )

काशी विश्वनाथ (Kashi Vishwanath) ( वाराणसी, उत्तर प्रदेश )

त्रयम्बकेश्वर (Trimbakeshwar) (त्रयम्बकेश्वर नासिक, महाराष्ट्र )

केदारनाथ (Kedarnath) ( केदारनाथ, उत्तराखंड,)

घृष्णेश्वर (Grishneshwar) ( औरंगाबाद, महाराष्ट्र,)

दोस्तों यह साईट बिलकुल निशुल्क है। यदि आपको इस साईट से कुछ भी लाभ प्राप्त हुआ हो , आपको इस साईट के कंटेंट पसंद आते हो तो मदद स्वरुप आप इस साईट को प्रति दिन ना केवल खुद ज्यादा से ज्यादा विजिट करे वरन अपने सम्पर्कियों को भी इस साईट के बारे में अवश्य बताएं …..धन्यवाद ।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

रविवार का पंचांग, Raviwar Ka Panchag,

सोमवार का पंचांगशनिवार का पंचांगPreview(opens in a new tab)

कैंसर होने के मुख्य कारण

कैंसर (cancer )एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण इस समय विश्वभर में सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है। लोगो को इसके...

Success Remedies For Early Marriage

Successful Remedies For Early Marriage11. Those aspiring for an early marriage should offer two puddings made of...

थाइराइड के कारण

थाइराइड के कारणThyroid ke karanजरुरत से ज्यादा सोया उत्पादों के प्रयोग से थाइराइड की शिकायत होने...
Translate »