Wednesday, August 12, 2020
Home Hindi ग्रहो के उपाय शनि की साढेसाती के प्रभाव

शनि की साढेसाती के प्रभाव

शनि की साढेसाती के प्रभाव
Shani ki sade Sati ke Prabhav

शनि देव अपनी तरफ से कुछ भी फल प्रदान नहीं करते है वरन वह हमारे ही इस जन्म और पिछले जन्मों के आधार पर फल देते है । समान्यता साढ़े साती के समय व्यक्ति को बहुत संघर्ष, उतार चढ़ाव एवं परेशानियों का सामना करना होता है परंतु इसमें बहुत घबराने वाली बात नहीं हैं।

Kalash One Image

 जिस व्यक्ति की जन्मकुंडली में शनि देव अच्छे स्थान पर, अपनी उच्च राशि में अथवा अपने मित्र ग्रह के साथ जो शुभ फल देने वाले हो उनके साथ स्थित हो तथा उसकी दशा-अन्तर्दशा अच्छी चल रही हो, तो उन्हें शनि देव से डरने की कोई भी जरुरत नहीं है ।

Kalash One Image

 लेकिन जिस व्यक्ति की जन्मकुंडली में चन्द्र-शनि अशुभ ग्रह से युक्त, या अशुभ स्थानों में हो तो, उसके लिए शनि की साढ़े-साती और उसकी ढैय्या मानसिक तनाव, चिंता, धन हानि, परिवार में कलह-विघटन, कार्य में विघ्न बाधाएं , अपयश और कोर्ट कचहरी आदि की मुसीबतें लेकर आती है ।

Kalash One Image

 शनि की दशा व्यक्ति को कर्मशील और ईमानदार बनाती है इस दौरान उसकी बुराइयाँ उसके व्यसन छूट जाते है।

Kalash One Image

 शनि देव हठी, अहंकारी और दुर्जन लोगो से बहुत मेहनत करवाते है। इसी लिए बहुत से व्यक्ति शनि की साढ़े साती के प्रभाव में अपनी लगन और परिश्रम से सफलता की नयी उंचाईयों पर पहुंच जाते हैं।

Pandit Jihttps://www.memorymuseum.net
MemoryMuseum is one of the oldest and trusted sources to get devotional information in India. You can also find various tools to stay connected with Indian culture and traditions like Ram Shalaka, Panchang, Swapnphal, and Ayurveda.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मनोकामनाओं हेतु वृक्ष

जानिए मनोकामनाओं हेतु वृक्ष हिन्दु धर्म में अनेको वृक्षों को पूज्य मानकर उनकी पूजा की जाती है ।...

पितरों को प्रसन्न कैसे करें | Pitro ko pasan kaise kare

पितरों को प्रसन्न कैसे करें पितृ दोष निवारण Pitradosh Nivaran के लिये यदि...

लकवे के अचूक उपाय

पक्षाघात के उपायPakshaghat ke upay जब हमारी मांसपेशियाँ कार्य करने में पूर्णतः असमर्थ हों जाती है उस स्थिति को...

Worshipping During The Navratri As Per Ones’s Zodiac Sign

According to the Hindu scriptures Navratri are celebrated from the 1st day of the brighter fortnight of the CHAITRA month up to...
Translate »